चुदने को जश्नेबहारा है -1

Chudane ko jashnebahara hai-1:

हैल्लो दोस्तों कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करती हूँ की आप सभी अच्छे होंगे और अपनी अपनी चुदाई में मस्त होंगे | मेरा नाम अनुष्का पाण्डेय है और मैं राजस्थान की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 36 साल है, और मैं गोरी हूँ | मेरा फिगर ऐसा है कि अच्छे अच्छे लोगो का लंड खडा हो जाता है मुझे देख कर | वैसे तो मैं शादीशुदा हूँ पर मुझे हमेशा नए लौंडो के लंड लेने में मजा आता है | तो चलिए मैं आप लोगो को हसीन चुदाई कि दुनिया में सैर करा लाती हूँ |

मैं अपने सास ससुर के साथ रहती हूँ | मेरा एक बेटा है जो कि 12वी पास कर चुका है और कॉलेज की पढाई के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी में पढ़ रहा है | मेरे पति दिल्ली में ही जॉब करते है तो मेरा बेटा राकेश उन्ही के साथ रहता है | मैं कई दिनों से बहुत चुदासी फील कर रही थी और मैं चुदवाना चाहती थी | मेरे घर के सामने एक परिवार रहता था जिसमे पति पत्नी और उनका एक बेटा रमेश और बेटी रेशमा | रेशमा कक्षा 11वी में थी और रमेश 10वी में था | पहले मैं कोचिंग क्लास पढाया करती थी लेकिंग फिर मैंने बच्चो को पढाना बंद कर दी थी | एक दिन उसकी मम्मी और मैं ऐसे ही बात कर रहे थे तो उन्होंने मुझसे पूछा कि यहाँ कोई अच्छी सी कोचिंग है क्या मेरी बेटी को 11वी क्लास की कोचिंग पढ़ानी है ? तो मैंने उन्हें हाँ है तो बहुत सारी पर क्या विषय है उसका ? तो उन्होंने बताया कि वो कॉमर्स की छात्रा है | तो मैंने कहा कि आप मेरे पास ही भेज दिजीये मैं ही पढ़ा दिया करुँगी आंखिर मै भी एक पहले कोचिंग पढ़ाती थी | उन्होंने हामी भर दी और मैंने उन्हें कहा कि आप शाम को भेज देना | उसके बाद वो मान गयी, मैंने उन्हें फ्री ऑफ़ कॉस्ट पढ़ाने के लिए कहा था |

शाम को 6 बजे रेशमा आई तो मैंने उससे पहले इधर उधर की बात की फिर हम दोनों मेरे कमरे में पढने बैठ गये | मैंने उसकी बिज़नस स्टडीज की बुक ली और थोडा पढने लगी | मैंने पाया कि कोर्स वही है और चेंज बिलकुल भी नहीं हुआ है | उसके बाद मैंने उसे पढ़ाना चालू कर दिया | फिर वो हर शाम 6 बजे आ जाया करती और सीधा मेरे कमरे में आ जाती | मेरे सास ससुर को चलने में थोड़ी प्रॉब्लम होती थी तो वो ऊपर नहीं आते नीचे ही रहते थे |

एक दिन की बात है मैं नहा कर आई थी और अपने कमरे में नंगी हो कर अपने आप को टॉवल से साफ़ कर रही थी | तभी अचानक से रेशमा आ गयी और मुझे देख के सॉरी बोलने लगी | तो मैंने कहा अरे इसमें सॉरी की क्या बात है ? जो तुम्हारे पास है वो ही तो मेरे पास भी है | आ जाओ अन्दर आ कर बैठ जाओ | फिर वो अन्दर आ गयी और बैठ गयी | मैं उसके सामने नंगी ही थी और फिर उसके सामने हो कर पहले ब्रा पहनी, फिर पेंटी, फिर गाउन | मैंने घर में हमेशा गाउन ही पहनती हूँ | जब मैं कपडे पहन रही थी तो रेशमा मुझे घूर घूर के देख रही थी | वो बड़े प्यार से मेरे दूध, चूत, गांड को देखे जा रही थी | रेशमा ने मुझसे कहा कि भाभी एक बात पूछूँ (वो मुझे भाभी कह कर ही बोलती थी ) मैंने भी कहा हाँ पूछो न | तो उसने कहा कि भाभी आपका फिगर बह्युत सॉलिड है | मैंने कहा सच में तो उसने कहा कि हाँ | उसकी ये बात सुन कर मैं गरम हो गयी तो मैंने उससे कहा कि मुझे भी तुम फिगर दिखाओ तो वो शमराने लगी | फिर मैंने कहा अरे शरमाओ मत यहाँ हमारे अलावा कोई नहीं है | तो वो शरमाते हुए सबसे पहले अपना टॉप निकाला उसके बाद जीन्स और मैं उसे देख रही थी | फिर उसने मुझसे कहा कि भाभी कैसा है मेरा फिगर तो मैंने कहा अरे पूरी नंगी हो तभी तो ठीक से बता पाऊँगी | पर वो नहीं हो रही थी | तो मैंने उसके पास गयी और उसकी ब्रा निकाल ली उसके गोर गोर दूध देख के मैं और गरम हो गयी थी | मैं उसके दूध पर हाँथ रख कर दबाने लगी तो वो ऊउम्म्म ऊउन्न्ह की फिर मैंने उससे पूछा कि कैसा लगा | तो उनसे कहा कि भाभी अच्छा लगा और करो न | मैं समझ गयी थी कि वो भी गरम हो गयी है | फिर मैं उसके दूध को जोर जोर से दबाने लगी और उसके निप्पल्स को ऊँगली से मसलने लगी | वो मजे ले कर आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | वो मुझसे कह रही थी कि भाभी मसलते जाओ जोर जोर से दबाओ न |

अब मैं उसके दूध जो जोर से दबाते हुए पीते जा रही थी और निप्पल्स को चाटने लगी और वो मदहोश हो कर आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | उसे बहुत मजा आ रहा था फिर मैंने उससे कहा कि चलो बेड पर चलते हैं | उसके बाद हम बेड पर आ गये और मैं भी अपने कपडे उतार कर नंगी हो गयी | मैं उसके दूध को फिर से दबाते हुए पीने लगी और वो मेरे बड़े बड़े दूध को दबा रभी थी अब हम दोनों साथ में मस्ती करते हुए आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगे थे |

फिर मैंने उसकी पेंटी उतार दी और उसकी चूत के मुंह में पानी आ गया | क्यूंकि उसकी चूत एक दम चिकनी और गुलाबी थी और वो चुदी भी नहीं थी | मैं उसकी चूत में हाँथ फेरने लगी और हाँथ फेरते फेरते उसके दूध पर हाँथ रखते हुए उसकी चूत चाटने लगी और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | मैं उसकी चूत को अच्छे से अपनी जीभ डाल डाल के कहते जा रही थी और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ कर रही थी | मैंने उसकी चूत को को आधे घंटे तक चाटा था और उसने तीन बार मेरे मुंह में ही पानी छोड़ दिया था | उसकी चूत का पानी एक दम गाढ़ा था और बहुत टेस्टी भी | फिर मैं लेट गयी और उसे कहा कि अब तुम मेरे साथ करो | फिर वो मेरे दूध पर हाँथ रख कर जोर जोर से दबाने लगी और मेरे निप्पल्स को मुंह में ले कर चूसने लगी और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया भरने लगी |

कुछ देर मेरे दूध को चूसने के बाद वो मेरे पेट में हाँथ फेरते हुए मेरी चूत पर आ गयी और अपना मुंह मेरी चूत में लगा दी | फिर वो मेरी चूत को चाटने लगी और साथ में ऊँगली डाल कर उसे चोदने लगी और मैं मदहोशी के आलम में आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | मुझे बहुत अच्छा लग रहा था उसका ऐसा करना | मेरी एक फ्रेंड थी श्वेता जब मैं कॉलेज की पढाई करती थी और हॉस्टल में रहती थी तब वो मेरी रूममेट थी | हम दोनों रोज ही एक दूसरे की ऐसे ही चुदाई किया करते थे क्यूंकि वहां बॉयज नहीं थे | वही दिन आज रेशमा ने मुझे याद दिला दिया | मैं अपने दूध दबाते हुए आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ कर रही थी और वो मेरी चूत की चुदाई के साथ मेरी चूत को बड़े ही प्यार से चाट रही थी |

उसने भी मेरी चूत को आधे घंटे तक खूब चाटी और चूसी थी |

उसके बाद हम दोनों 69 पोजीशन में आ गये थे और अब वो मेरी चूत चाट रही थी और मैं उसकी चूत चाट रही थी | हम दोनों एक दूसरे को चाटते हुए आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ कर रहे थे |

तो दोस्तों ये थी मेरी सच्ची कहानी इसके बाद मैं आप लोगो को अगले भाग में बताउंगी कि कैसे मैंने उसके भाई से चुदवाई और उसके भाई के दोस्त से भी | कैसी लगी आप लोगों को मेरी कहानी कमेंट बॉक्स में टाइप कर के ज़रूर मुझे बताना |


Comments are closed.