वीर्य मुंह मे डाल दो

Virya muh me daal do:

Antarvasna, kamukta मैं अपने ऑफिस अपनी कार से जा रहा था लेकिन तभी रास्ते में मेरी कार का टायर पंचर हो गया मुझे ऑफिस जल्दी जाना था लेकिन मेरे कार का टायर पंचर होने की वजह से मुझे ऑफिस के लिए लेट हो रही थी। तभी मैंने पीछे से आती हुई कार को हाथ दिया तो कार रुक गयी मैं जैसे ही कार के पास गया तो उसमें एक लड़की बैठी हुई थी उसके बाल खुले हुए थे और वह देखने से लग रही थी कि किसी कंपनी में अच्छे पद पर है। मैंने उसे कहा क्या आप मुझे लिफ्ट दे देंगे तो वह कहने लगी आपको कहां छोड़ना है मैंने उसे अपने ऑफिस का पता बताया वह कहने लगी मेरा ऑफिस भी वहीं पास में है आइए मैं आपको छोड़ देती हूँ। मैंने उसे कहा मैं बस अपनी कार से अपना बैग ले आता हूं मैं दौड़ता हुआ अपनी कर के पास गया मैंने वहां से अपना बैक लिया और उसके बाद मैं उस लड़की के साथ कार में बैठ गया।

वह मुझे कहने लगी आपकी कार में क्या खराबी आ गई मैंने उसे बताया कि कार के टायर में एक बड़ा पंचर हो गया है जिसकी वजह से मुझे लगा कि अब मैं नया पंचर लगवा दूंगा लेकिन अभी मुझे ऑफिस के लिए लेट हो रही है। उसने मुझसे हाथ मिलाया और कहने लगी मेरा नाम कावेरी है मैं एक सॉफ्टवेयर कंपनी में मैंनेजर हूं मैंने उसे कहा मुझे लगा था कि आप किसी कंपनी में मैनेजर होंगी। वह मुझे कहने लगी आपकी कंपनी तो फाइनेंस की है ना तो मैंने उसे कहा हां हमारी कंपनी फाइनेंस की है। कावेरी ने उस दिन मुझे मेरे ऑफिस तक छोड़ दिया मैं जैसे ही कार से उतरा तो कावेरी वहां से चली गई फिर मुझे ध्यान आया कि मुझे उसे थैंक्यू कहना चाहिए था लेकिन वह तब तक जा चुकी थी। उसके बाद मेंरी उससे मुलाकात नहीं हुई करीब एक महीने से ऊपर हो चुका था उसी दौरान मुझे कावेरी मिली मैंने कावेरी से कहा अरे उस दिन आप चली गई थी। कावेरी कहने लगी हां दरअसल मुझे ऑफिस निकलना था तो मैं वहां से चली गई मैंने कावेरी से कहा उस दिन के लिए मैं आपको धन्यवाद कहना चाहता हूं क्योंकि आप की वजह से ही मैं अपने ऑफिस समय पर पहुंच पाया।

कावेरी कहने लगी कोई बात नहीं और उसके बाद तो उससे मेरी मुलाकात होती ही रही कावेरी से मैं जब भी मिलता तो मुझे बहुत अच्छा लगता है और उसे भी बड़ा अच्छा लगता है। कावेरी का नेचर और व्यवहार बड़ा ही अच्छा है उससे मेरी दोस्ती हो चुकी थी और एक दिन कावेरी ने मुझे अपनी बहन से मिलवाया उसकी बहन का नाम मेघा है। जब मैं मेघा से मिला तो मुझे उसमें ना जाने ऐसी क्या बात लगी की वह मुझे अपनी तरफ खींच रही थी मैंने मेघा से काफी देर तक बात की। एक दिन कावेरी मुझे कहने लगी कि आज हम लोग मूवी देखने का प्लान बना रहे हैं क्या तुम भी हमारे साथ चलोगे तो मैंने कावेरी से कहा हां क्यों नहीं मैं भी तुम्हारे साथ चलूंगा और हम लोग मूवी देखने के लिए चले गए। मेघा मेरे बगल में ही बैठी हुई थी मैं मेघा की तरफ देखता तो मुझे अच्छा लगता उसके खुले बाल और उसकी बड़ी बड़ी आंखें मुझे अपनी ओर खींचती, मुझे लगने लगा था कि मैं शायद मेघा से प्यार करने लगा हूं लेकिन मैं मेघा से अपने दिल की बात ना कह सका। हम लोगों ने मूवी का एंजॉय किया हम लोग जैसे ही मूवी देखकर आये तो मेघा कहने लगी कि डोमिनोस में चलते हैं मुझे पिज्जा खाने का बड़ा मन है तो कावेरी और मैं मेघा के साथ चले गए। हम लोग वहीं बैठे हुए थे मेघा बिल्कुल मेरे सामने बैठी हुई थी और मैं उसकी आंखों में बड़े ध्यान से देख रहा था तभी कावेरी ने मुझे कहा सार्थक तुम्हारा ध्यान कहां है। मैंने कावेरी से कहा कहीं भी तो नहीं लेकिन कावेरी को यह बात पता चल चुकी थी कि मैं मेघा को पसंद करने लगा हूं। उसने मुझसे तो यह बात नहीं कही लेकिन काफी समय बाद जब इस बात को लेकर हम दोनों के बीच में चर्चा हुई तो मैंने उस दिन कावेरी से कहा कि मैं मेघा को पसंद करने लगा हूँ और वह मुझे अच्छी लगती है। कावेरी मुझे कहने लगी मुझे मालूम है कि तुम्हें मेघा पसंद है लेकिन तुम्हें उससे अपने दिल की बात खुद कहनी होगी मैंने कावेरी से कहा क्या तुम्हें मुझ पर इतना भरोसा है कि मैं उसे अपने दिल की बात कह पाऊंगा। कावेरी मुझे कहने लगी कि मुझे मालूम है कि तुम एक अच्छा लड़के हो और मेघा मेरी बहन है मैं उसे जानती हूं कि उसे क्या चीज अच्छी लगती है और क्या नहीं लेकिन इसमें मैं तुम्हारी मदद नहीं कर सकती क्योंकि यह मेघा का खुद का फैसला होगा।

मुझे इस बात का तो पता चल चुका था कि तुम मेघा से बहुत प्यार करते हो मैंने कावेरी से कहा हां मैं मेघा से बहुत प्यार करता हूं और उसके साथ मैं अपना जीवन बिताना चाहता हूं। इसी के चलते मैंने एक दिन मेंघा से अपने दिल की बात कह दी मैंने जब मेघा से अपने दिल की बात कही तो मेघा भी मेरे प्यार को ठुकरा न सकी और उसने मेरे रिलेशन को स्वीकार कर लिया। हम दोनों ही एक दूसरे के साथ रिलेशन में थे और मुझे बहुत अच्छा लगता था, कावेरी भी खुश थी इसी दौरान हम लोगों ने एक दिन घूमने का प्लान बनाया। मैंने कावेरी और मेघा से कहा कि हम लोग घूमने के लिए कहीं चलते हैं तो कावेरी कहने लगी यार आजकल मेरे ऑफिस में काफी काम है हम लोग सिर्फ दो दिनों के लिए ही कहीं घूमने जा सकते हैं तो बताओ दो दिनों में हम लोग कहां जा सकते हैं। मैंने उसे कहा हम लोग शुक्रवार को रात को यहां से निकल जाएंगे और शनिवार का पूरा दिन हमारे पास होगा और संडे के दिन हम लोग वापस लौट आएंगे। कावेरी मुझे कहने लगी कि हम लोगों को कहां जाना चाहिए मैंने उसे कहा हम लोग दमन हो आते हैं, हम लोग अपने घर से ही शुक्रवार के दिन निकल पड़े।

जब हम लोग घर से निकले तो हम लोगो ने वहां पर पहुंच कर एक होटल किया उस दिन हम लोग काफी थक चुके थे तो हम लोगों ने आराम किया और अगले दिन सुबह हम लोग तैयार हो चुके थे। मैंने मेघा से कहा क्या कावेरी तैयार हो चुकी है वह कहने लगी हां बस दीदी तैयार हो रही है कुछ देर बाद हम लोग यहां से निकल पाएंगे। जब कावेरी तैयार हो गयी तो हम लोग वहां से बीच के किनारे चले गए और जैसे ही हम लोग बीच के पास पहुंचे तो वहां पर काफी भीड़ थी वहां काफी लोग बैठे हुए थे। हम लोग भी वही जाकर बैठ गए और आपस में एक दूसरे से बात करने लगे तभी मेघा ने मेरे ऊपर रेत फेंकी मैंने भी उसके ऊपर रेत डाली तो हम दोनों एक दूसरे के पीछे भागने लगे कावेरी हम दोनों को देख रही थी और कहने लगी तुम दोनों क्या बचकानी हरकत कर रहे हो क्या कुछ देर बैठ नहीं सकते। मुझे लगा कि हमें कावेरी के साथ बैठना चाहिए और फिर हम लोग कावेरी के साथ में बैठ गए हम लोग आपस में बात करने लगे और उस दिन हम लोग बीच के किनारे ही रहे। हमे काफी अच्छा लग रहा था क्योंकि मुंबई की भागदौड़ भरी जिंदगी से कुछ समय के लिए तो सुकून मिल चुका था और हम लोगों ने उस दिन एक साथ काफी अच्छा समय बिताया, हम लोग रात के वक्त होटल में चले गए। हम लोग जब रात को होटल में वापस आए तो मैंने मेघा से कहा मुझे तुम्हारे साथ अकेले में कुछ बात करनी है कावेरी मेघा से कहने लगी जाओ तुम्हें सार्थक बुला रहा है। मेघा मेरे साथ आ गई हम दोनों बैठ कर बात करने लगे तभी मैंने मेघा के हाथों को अपने हाथों में ले लिया और उसे कहा मुझे तुम्हें किस करना है।

मेघा कहने लगी इसमें पूछने की क्या बात है तुम किस कर लो मैंने मेघा के होठों को किस किया उसे बड़ा अच्छा लगने लगा और वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। मेघा और मैंने एक दूसरे को काफी देर तक किस किया हम दोनों के अंदर जब गर्मी बढ़ने लगी  तो मैंने मेघा के होठों को काफी देर तक किस किया। जब हम दोनों के अंदर गर्मी कुछ ज्यादा ही बढ़ने लगी तो मेघा ने मेरी छाती को अपने हाथों से सहलाना शुरु किया और उसने अपने रसीले होठों से मेरी छाती को बहुत देर तक चूमा मेरे अंदर पूरी तरीके से गर्मी बढ़ चुकी थी। मेघा ने मेरे लंड को अपने हाथों में लेकर हिलाना शुरू किया तो मुझे और भी मजा आने लगा और काफी देर तक हम दोनों एक दूसरे के साथ ऐसा ही करते रहे। जैसे ही मैंने अपनी जीभ को मेघा की योनि पर लगाया तो उसकी योनि से गर्म पानी निकल रहा था और उसे बड़ा मजा आता काफी देर तक मैंने मेघा की योनि का रसपान किया। जब मैंने उसकी योनि के अंदर अपने लंड को प्रवेश करवा दिया तो मुझे बड़ा अच्छा लगा उसकी योनि से खून निकलने लगा मैं उसे तेज गति से धक्के दिए जाता। उसकी योनि के मजे मैंने काफी देर तक लिए सब कुछ बड़े अच्छे से चल रहा था तभी कावेरी ने दरवाजे को खटखटाना शुरू किया।

मैंने बड़ी तेजी से धक्के दिए और जैसे ही मेरा वीर्य गिरने वाला था तो मैंने उसे मेघा के मुंह के अंदर गिरा दिया उसने वह सब एक ही झटके में निगल लिया। हम दोनों ने जल्दी से अपने कपड़े पहने कावेरी दरवाजे पर ही खड़ी थी जैसे ही मैंने दरवाजा खोला तो वह मेघा को कहने लगी क्या सोना नहीं है जल्दी से आ जाओ। मेघा ने कावेरी से कहा बस आती हूं मेघा ने मुझे एक प्यारा सा किस किया और उसके बाद वह चली गई। हम दोनों उस दिन ज्यादा देर तक सेक्स नहीं कर पाए लेकिन मुझे बड़ा अच्छा लगा उसके बाद हम लोग मुंबई वापस लौट आए। मेघा और मेरी अब भी बात होती है, हम दोनों रिलेशन में है लेकिन मेघा को मेरे साथ सिर्फ सेक्स करने में ही मजा आता है। वह जब भी मुझे मिलती है तो हमेशा कहती है कि हम लोग कहीं अकेले में चले, मैं उसकी इच्छा हमेशा ही पूरी कर दिया करता हूं जिससे की वह बहुत खुश रहती है और मुझे बहुत अच्छा लगता है।


Comments are closed.