उषा भाभी की चुदाई

Usha bhabhi ki chudai:
हेल्लो दोस्तों, कैसे हैं आप लोग | आशा करता हूँ की अच्छे ही होंगे | मेरा नाम जय है और मैं बिहार का रहने वाला हूँ | मैं एक गाँव में रहता हूँ और अपने गाँव की काफी सारी लडकियों को चोद चूका हूँ | मेरे ही गाँव में एक किराने की दुकान है जिस पर ललित भैया और कई बार उनकी बीवी उषा भाभी बैठती हैं | ललित मेरे सगे भैया नही हैं लेकिन उम्र में बड़े हैं इसीलिए मैं उन्हें भैया बुलाता हूँ | चलिए दोस्तों अब कहानी पर आता हूँ |
एक दिन की बात है | मैं कुछ सामान लेने दुकान पर गया तो भैया नही थे | उषा भाभी ने पूछने पर बताया की वो सामान लेने शहर गये हुए हैं और रात तक आएँगे | भाभी ने बोला की क्या मैं उनका एक काम कर सकता हूँ | मैंने पूछा तो उन्होंने बोला की उन्हें नहाना है और दुकान पर कोई नही है इसीलिए मैं थोड़ी देर दुकान पर बैठ जाऊं | मैं मान गया | भाभी ने बोला की अगर किसी चीज का रेट न पता हो तो मैं उनसे बाथरूम के बाहर जाकर पूछ लूं | मैंने बोला की ठीक है | फिर वो नहाने चली गईं और मैं दुकान पर बैठ गया | थोड़ी देर बाद एक आदमी दाल लेने आया तो मैं अन्दर गया और भाभी से पूछने लगा की दाल का रेट क्या है | भाभी ने बताया की अरहर का अस्सी और उरद का सौ रुपये किलो | मुझे मालूम था की अरहर डाल कौन सी होती है और उरद की कौन सी इसीलिए मैं आया और उस आदमी को दाल दे दिया | जब वो चला गया तो मेरे मन में शैतानी करने की सूझी | मैंने दुकान का शटर अन्दर से बंद कर दिया और अन्दर से ही ताला लगा दिया | फिर मैंने हाथ में दाल ली और बाथरूम के पास पहुँच गया और पूछने लगा की भाभी अरहर की दाल कौन सी होती है और उरद की कौन सी | उन्होंने बोला की अभी तो मैं नहा रही हूँ, अभी कैसे बताऊं | मैंने बोला की फिर ग्राहक चला जाएगा | थोडा सोचने के बाद वो बोलीं की तू दाल लाया है ? मैंने बोला हाँ | वो बोलीं ठीक है | फिर उन्होंने तौलिया पेटीकोट से अपना तन ढका और दरवाजा खोल दिया | उन्होंने पेटीकोट का नाडा नही लगाया था और एक हाथ से पकड़ रखा था | मैंने उन्होंने दाल दिखाई तो उन्होंने बता दिया की कौन सी अरहर है और कौन सी उरद की | फिर मैंने झूठ बोल दिया की भाभी आपके हाथ के पास छिपकली है | वो उछल पड़ीं और उनके हाथ से पेटीकोट छुट गया | किस्मत से दूसरी दीवाल पर छिपकली सच में थी तो मैंने बहाना बना दिया की देखो अब वहां चली गयी | उनका पेटीकोट गिरने से अब वो मेरे सामने नंगी खड़ी थीं | क्या बदन था उनका | मस्त से दूध और सेक्सी फिगर.. पतली कमर सच में कहर ढा रही थी | मुझसे रहा नही गया और मैंने उनका हाथ पकड़ कर उन्हें अपनी बाँहों में ले लिया | वो खुद को मुझसे छुड़ाने लगीं तो मैंने सीधा अपने होठ उनके होठों पर रख दिए और किस करने लगा | थोड़ी देर की ना-नुकुर के बाद भी जब मैंने उन्हें नही छोड़ा तो वो भी एन्जॉय करने लगीं और मेरा साथ देने लगीं |
अब मैं उन्हें बेडरूम में ले आया | मैं अपने भी कपडे उतार के उनके ऊपर आ गया | अब मैंने फिर से उषा भाभी को किस करना शुरू कर दिया | उनके होठों से होते हुए अब मैं उन्हें गर्दन पर किस करने लगा | गर्दन पर किस करते करते मैं पाने हाथ उनके दूध पर ले गया और उनके दूध दबाने लगा | उनके दूध बहुत सॉफ्ट थे | मुझसे कंट्रोल नही हुआ और मैंने अब उनके दूध पर किस करना शुरू कर दिया | उनके निप्पल को चूसते हुए जो मजा आ रहा था वो मैं बता नही सकता | वो मेरा साथ दे रही थीं और अपने हाथों से मेरे बाल पकड़ के उ ऊऊ ऊ ऊ उ ऊ उ ऊ उ ऊऊउ ऊ ऊ आआ हह ह ह्ह्ह ह ह हह हह ह हह ह ह ह्ह्ह हह ह ह हह ह ह ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह्ह्ह हह ह ह ह ह कर रही थीं | अब मैंने उनके दुसरे दूध और चूस रहा था और अपना हाथ उनकी चूत पर फिर रहा था | उनकी चूत के दाने को जैसे ही मैंने मसला, वो उछल पड़ी | अब मैंने उनकी चूत में पानी एक ऊँगली घुसा दी | उनकी चूत को मैं अपनी ऊँगली से चोद रहा था और वो आआ आह हह ह ह ह हह ह ह्ह्ह्ह ह हु उ उ ऊऊ ऊऊ उ उ उईईइ ई इ ई ईई इ इ इ इ ई इ इ इ इ इ ई इ इ इ ई इ इ इ ई ई इ ई ईईइ ऊ ओ ऊऊओ ओह हह ह हह ह ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह हह उ उ ऊ उ ऊ उ ऊ इ ई इ इ हह ह ह ह्ह्ह हह ह हह आआआह्ह ह हह ह ह्ह्ह ह ह ह हह ह ह्ह्ह ह ह ह हह ह ह हह ह ह ह्ह्ह हह ह ह ह हह ह ह हह ह ह कर रही थीं | मैंने अब दो उँगलियाँ घुसा दी और चूत को चोदने लगा |
थोड़ी देर बाद भाभी ने बोला की रुका नही जा रहा मुझसे अब | चोद दो मुझे अब | मैंने कहा ठीक है | अब मैंने उनकी टांगें फैलायीं और अपना लंड एक ही झटके में घुसेड दिया | वो चिल्ला पड़ीं और उईइ ई ई इ इ ई इ ई ईई ई इ इ इ ई इ इ ई ईई इ ई इ इ ई इ ईई इ ईई ई ईई इ ई इ ई इ ई इ ई इ इ अह्ह्ह ह ह हह ह ह हह ह ह हह ह्ह्ह हह ह ह ह हह ह्ह्ह ह ह हह ह हह ह ह ह ह्ह्ह हह ह ह ह हह ह ह हह ह्भ्ह ह हह उ उ उ ऊ उ उ ऊ उ ऊऊ उ ऊऊ करने लगीं | मैं थोड़ी देर विअसे ही रुका रहा और उनको किस करने लगा | अब मैं उनके दूध चूसने लगा और धीरे धीरे अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा | वो मेरा साथ देने लगीं और आहाह्हहह्ह्व्ह हह हह ह ह हह ह ह ह हह ह ह्ह्ह ह्ह्ह्ह हह ह ह ह हह ह ह ऊऊ ऊ उ उ ऊ इ इ ई इ ईई इ इ इ ई इ इ इ इ ई इ इ इ ई इ इ ई इ इ इ इ इ इ इ ई इ इ इ इ ई इ ईई इ ईई इ ईई इ इ इ इ इ ई ईई इ ई इ इ इ ई इ इ इ ईई इ ई इ इ ई उ उ उ ऊ उ उ उ ऊऊऊ उ उ उ ऊऊ उ उ ऊऊऊ ऊ ऊऊउई इ ईईऊऊउ करने लगीं | मैंने चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और उनकी चूत को चोदने लगा | थोड़ी देर बाद मैंने उनसे घोड़ी बनने को कहा | वो बन गयीं और फिर मैंने उनकी चूत में अपना लंड घुसेड दिया | वो मुझसे चुदवा रही थीं और आःह्ह ह्ह्ह ह हह ह मार डाला… ऊउई ई इ ई इ इ ई ई ई इ इ ई इ इ ई इ ईई इ ई इ ई इ इ इ ई इ इ ई ईई इ ई इ ईईइ ई इ इ इ… फाड़ दी मेरी चूत.. ओह्ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह हह ह्ह्ह ह ह ह हह उईई… चोद दो मुझे… फाड़ दो.. उई इ ई इ ई इ ईई ई इ इ ई ईई इओह्ह्ह ह ह ह्ह्ह ह हह ह्ह्ह हह ह ह ह ह हह हह ह हह.. चोदो मुझे.. जोर से चोदो.. आह्ह ह ह ह्ह्ह्ह हह ह ह हह ह ह ह्ह्ह हह ह्ह्ह हह ह ह्ह्ह्हह ह करने लगीं | उनकी इस चीख से मुझे जोश आ गया और मिएँ चोदने की स्पीड बढ़ा दी | थोड़ी देर बाद वो थक गयीं और बोलीं की वो झड चुकी हैं | मैंने कहा ठीक है, बस थोड़ी देर रुक जाओ | अब मैंने चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से उनकी चूत चोदने लगा | वो मस्ती में आह ह्हह्हा उई इ ई ई इ इ ऊऊ ओ ऊऊ ऊ ओ करके मेरा साथ दे रही थीं | थोड़ी देर बाद मैं भी झड़ने वाला हुआ तो मैंने अपना लंड उनकी चूत से निकल लिया और अपना सारा माल उनके पेट पर निकाल दिया | वो मेरी चुदाई से खुश हो कर बोलीं की बहुत दिनों बाद आज उन्हें ढंग से चुदाई मिली है | मैंने कहा की की अगर वो चाहें तो ऐसी चुदाई उन्हें आगे भी मिलती रहेगी तो वो बोलीं जरुर |
दोस्तों, ये थी मेरी कहानी | आशा है आप लोगों को पसंद आई होगी |


Comments are closed.


error: