तूने क्या कर डाला चुद गयी मैं ओ जी

Tune kya kar dala chud gayi mai o ji:

प्रणाम मेरे प्यारे लंड वालो और चूत वालियों | कैसे हैं आप सभी हवस के पुजारी और पुजारन | आप सभी अपनी चुदाई भरी जिन्दगी में खुश हो या नहीं ? लंड को चूत और चूत को लंड मिल रहे हैं या नहीं ? अगर मिल रहे हैं तब तो  ठीक है नहीं मिल रहे तो मैं क्या करू ? मुठ मारो | मैं चुदवाने तो आ नहीं जाउंगी | मेरा नाम चुन्नी चुददो है और मैं बरगी की रहने वाली हूँ | शायद आप लोगो ने ये नाम नहीं सुना होगा इसलिए बता देती हूँ कि ये मध्यप्रदेश का एक गाँव है | मेरी उम्र 34 साल है और मैं दिखने में मोटी हूँ और गोरी भी | मेरे दूध बहुत बड़े हैं गांड भी मोटी और चौड़ी है | वैसे तो मैंने अपनी जिन्दगी में कई लंड लिए है पर मैं आप लोगो को अपनी पहली चुदाई के बारे में बताती हूँ | तो अब मैं ज्यादा समय ना लेते हुए सीधा कहानी पर आती हूँ |

शादी के बाद मैं जितनी मोटी पहले थी उसके बाद मैं ज्यादा मोटी हो चुकी हूँ | मेरे पति एक स्कूल में टीचर हैं जो  सरकारी नौकरी में है | एक बात और बता दू कि मेरा पति एक गांडू किस्म का आदमी है | साला मादरचोद गांड मरवाता है और लंड चूसता है | पता नहीं कैसे उसने मुझे एक बेटा और बेटी दे दिया | एक तो उसका छोटा लंड जो मेरी चूत की प्यास नहीं बुझा पाता और मैं प्यासी चूत ले कर सो जाती हूँ | एक दिन उसने तबियत ख़राब होने का बहाना बना कर स्कूल नहीं गया | मेरे बेटा और बेटी दोनों स्कूल गये हुए थे | वो घर में आराम कर रहा था | मेरे पति का नाम मैंने गांडू गोख्ला रखा है | मैंने उससे कहा कि मैं अपनी एक सहेली से मिल के आती हूँ | तो  उनसे कहा ठीक है | जब मैं अपनी सहेली से मिल कर घर वापस आई तो देखा कि साला गांडू अपनी गांड मरवा रहा था एक रिक्शे वाले से | ये देख कर मैं चौंक गयी कि ये रिक्शेवाला कोई और नहीं बल्कि वो ही है जो मेरे बच्चो को स्कूल छोड़ने जाता है | ये देख कर मेरा गुस्सा बहुत ज्यादा बढ़ गया | मैं घर के अद्नर गयी और तुरंत डंडा उठा कर अपने पति को और उस रिक्शे वाले को पीटने लगी | रिक्शे वाला तो भाग निकला पर मेरा पति फंस गया | मैंने उसकी खूब पिटाई की और कहा कि मादरचोद गांडू गांड मरवाता है तू |

जब तुझे गांड मरवाने का इतना ही शौक था तो मेरी जिन्दगी क्यों बरबाद की हिजड़े | तेरी गांड में डंडा डाल दूंगी मादरचोद हरामी के पिल्लै | गांडू खुद तो गांड मरा लेता है और मैं मेरी प्यासी चूत ले कर किस्से चुदु | बोल मादरचोद पीटते हुए बोली | वो चीखते हुए बोला कि अब मैं गांड मराता हूँ तो तू भी चुदवा ले किसी से भी | फिर मैंने कहा हाँ सही कहा तूने मादरचोद | मैं चुदुंगी ही कब तक मैं अपनी चूत प्यासी रखूंगी | तेरी माँ ने तो लगता है तुझे गुड खा के पैदा की होगी | तभी तुझ जैसा मादरचोद मीठा पैदा हुआ | मैंने फिर अपने नंबर से उसी रिक्शे वाले को फ़ोन लगाया और पूछा कि कहाँ है तू ? तो उसने कहा कि मैं अपने घर में हूँ | तो मैंने बोली मादरचोद तुरंत मेरे घर आ नहीं तो मैं तेरे घर आ कर आतंक मचा दूंगी | तो वो माफ़ी मांगते हुए कहा कि नहीं नही घर मत आना मैं आता हूँ | अभी मेरे बच्चो को स्कूल से आने में टाइम था | करीब एक घंटे के बाद वो घर आया | मैंने उसको बोली क्यों रे मादरचोद तुझे ज्यादा गर्मी चढ़ी है क्या ? वो चुपचाप अपनी नजरे नीचे कर के खड़ा था | मैं लगातार उससे बोल रही थी | तुझे चुदाई का बहुत शौक है न | बोल चोदेगा मुझे ? तो उसने कुछ नहीं कहा | तो मैंने फिर कहा बोल न मादरचोद क्या हुआ चुदाई नही करनी है क्या ? तेरा लंड सिर्फ गांडू लोगो को चोदने के लिए बना है | अब उसे भी गुस्सा आ गया | उसने भी गुस्से से बोला कि हाँ रंडी चोदुंगा तुझे और तेरी गांड भी मारूंगा |

ये सब मेरे पति के सामने ही हो रहा था | फिर मैंने बोली रंडी होगी तेरी माँ समझा | मादरचोद मुझसे मुंह लग कर बात मत कर | तो उसने मुझे कस कर पकड़ा और मेरे होंठ पर अपने होंठ रख दिया | अब वो मेरे होंठ को चूसने लगा जोर जोर से और मेरे बड़े बड़े दूध को भी दबाने लगा | ये सब मेरा पति देख रहा था पर मादरचोद के पास कुछ शब्द ही नहीं थे | उस वजह से मैं पूरा फायदा उठाना चाहती थी | किस करते करते वो मेरे दूध को दबा रहा था और मैं उसके लंड को लुंगी के ऊपर से ही सहला रही थी |

फिर उसने मेरी साड़ी का पल्लू खिसका दिया और मेरे ब्लाउज को खोल दिया | फिर उसने मेरे ब्रा के ऊपर से ही मेरे दूध को दबाने लगा तो मेरे मुंह से आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की सिस्कारिया निकलने लगी | फिर उसने मेरी ब्रा को भी उतार दिया और मेरे दोनों कबूतर आजाद हो गये | अब वो मेरे दूध को मुंह में ले कर चूसने लगा और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मजे ले रही  थी | वो मेरे दूध को जोर जोर से मसल मसल कर चूस रहा था और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्करिया ले रही थी | कुछ देर उसने मेरे दूध को पीने के बाद उसने मुझे पूरी नंगी कर दिया | उसके बाद उसने मुझे चटाई पर लेटा दिया और मेरी चूत को चाटने लगा तो मेरे मुंह से आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की आवाजे नीकलने लगी | मैं भी गरम हो चुकी थी और मेरी चूत गीली हो गयी थी | वो मेरी चूत को अपनी जीभ से रगड़ रगड़ के चाट रहा था और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया ले रही थी |

उसके बाद उसने मेरी चूत को चाटते हुए मेरी चूत की ऊँगली से चुदाई भी करना चालू कर दिया | मैं मदहोश हो कर बस आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करे जा रही थी | जब उसने मेरी चूत को चाट लिया तब मैं उसके लंड को पकड़ी और अपने मुंह में ले कर चूसने लगी तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे मुंह की चुदाई करने लगा | मुझे ये अच्छा लग रहा था | मैं उसके लंड को जोर जोर से हिला हिला कर चूसे जा रही थी और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे मुंह की चुदाई कर रहा था | उसके बाद उसने मेरी चूत में अपना लंड टिकाया और मेरी चूत में एक ही झटके में पूरा लंड घुसेड दिया | अब वो जोर जोर से मेरे चूत की चुदाई करने लगा और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्करिया ले रही थी | वो काफ़ी अच्छे से मेरी चूत की चुदाई कर रहा था और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवा रही थी | चुदाई के दौरान में एक बार झड चुकी थी | पर वो तब भी मेरे दूध को मसलते हुए मुझे जोर जोर से चुदाई कर रहा था और मैं बस आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए चुदाई का आनंद ले रही थी | ये सब मेरे पति के सामने हो रहा था और वो मादरचोद हिजड़ा अपना लंड हिला रहा था | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद उसने अपनी धात मेरी चूत में निकाल दिया |

तो दोस्तों, ये थी मेरी पहली कहानी | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोगो को ये कहानी जरुर पसंद आयगी | अगर नहीं भी आई तो कर क्या लोगे मैं तो नयी नयी कहानी लेके आता ही रहूँगा उखाड़ लो जो उखाड़ सकते हो मेरा | तो इन्ही प्यारे शब्दों के साथ मैं विदा लेटा हूँ मेरे दोस्तों |


Comments are closed.


error: