तुम साथ हो तो सब साथ है

Antarvasna, sex stories in hindi:

Tum sath ho to sab sath hai घर में सब लोग बहुत ज्यादा खुश थे और खुशी के माहौल का कारण मेरी बहन की शादी थी मैंने भी अपने दफ्तर से कुछ दिनों के लिए छुट्टी ले ली थी। मैं कुछ दिनों के लिए घर पर ही था क्योंकि घर में सबसे ज्यादा जरूरत मेरी ही थी शादी की पूरी तैयारियां मेरे कंधों पर ही थी और मैंने वह जिम्मेदारी बखूबी निभाई। पापा की तबीयत कुछ ठीक नहीं रहती है इस वजह से सारा कुछ इंतजाम मुझे ही करना पड़ा हलवाई से लेकर शादी की सारी तैयारियां मुझे ही करवानी पड़ी हमारे सब रिश्तेदारो को मैंने बहुत ही अच्छे से देखा और सब कुछ बड़े ही अच्छे से हो चुका था। मेरी बहन कमला की शादी हो चुकी थी और अब वह अपने ससुराल चली गई थी, पापा ने मुझे कहा  प्रदीप बेटा तुमने कमला की शादी बड़ी धूमधाम से करवाई मैं इस बात से बहुत खुश हूं परन्तु मैं तुम्हारी मदद ना कर सका क्योंकि मेरी तबीयत ने मेरा साथ नहीं दिया। मैंने अपने पापा से कहा आप उसकी चिंता ना करें अब तो सब कुछ हो चुका है और आप आगे से कभी भी इस तरीके की बात मुझसे ना कीजिएगा।

पापा को लगता था कि शायद वह शादी में मेरी कुछ भी मदद नहीं कर पाए मैंने उन्हें कहा अब आप इस बारे में भूल जाइए और अब आप अपनी तबीयत पर ध्यान दीजिए। कमला की शादी भी अब हो चुकी थी और कमला की शादी के 6 महीने के बाद मेरा भी प्रमोशन हो चुका था और मैं भी इस बात से बहुत खुश था। मैं पिछले 7 वर्षों से नौकरी कर रहा हूं और अब मेरा प्रमोशन हो चुका था इस बात से मैं बड़ा खुश था। जब एक दिन मैं अपने ऑफिस से घर लौटा तो उस दिन मैंने मां से कहा मां आज खाने की बड़ी अच्छी खुशबू आ रही है तो मां मुझे कहने लगी कि बेटा तुम्हारी बहन कमला आ रही है। मैंने मां से कहा लेकिन वह कब आ रही हैं तो वह मुझे कहने लगी कि बस थोड़ी देर बाद वह लोग भी पहुंचते ही होंगे उसके साथ दामाद जी भी आ रहे हैं। मैंने मां से कहा चलो तो मैं भी जल्दी से तैयार हो जाता हूं। मैं भी फ्रेश हो चुका था और मैं अपने रूम में बैठा हुआ था कि तभी थोड़ी देर बाद कमला और उसके पति भी आ चुके थे। जब मैंने कमला को देखा तो मुझे बहुत ही खुशी हुई कमला के चेहरे पर हम लोगों से मिलने की खुशी साफ झलक रही थी मैं और कमला काफी देर तक साथ में बैठे रहे।

मां ने कहा कि बेटा चलो खाना खा लेते हैं क्योंकि काफी समय भी हो चुका था इसलिए सब लोगों ने साथ में खाना खाया। उस दिन तो ज्यादा देर तक हम लोग बात कर ना सके लेकिन अगले दिन कमला ने मुझे कहा भैया आज आप अपने ऑफिस से छुट्टी ले लेते तो अच्छा रहता। मैंने कमला को कहा ठीक है आज मैं अपने ऑफिस से छुट्टी ले लेता हूं, मैंने अपने ऑफिस से उस दिन छुट्टी ले ली। मैंने कमला से कहा कि मैंने छुट्टी ले ली है लेकिन अब आगे क्या तुमने कुछ सोचा है तो वह मुझे कहने लगी कि भैया मैं सोच रही हूं कि हम लोगों को कहीं घूमने के लिए जाना चाहिए। मैंने कमला से कहा ठीक है तो फिर हम लोग कहीं घूमने के लिए चलते हैं कमला भी इस बात से बहुत खुश थी कि मैंने अपने ऑफिस से छुट्टी ले ली है और उस दिन हम लोग साथ में समय बिताने के बारे में सोचने लगे। काफी समय बाद हम सब लोग साथ में कहीं घूमने के लिए गए थे पापा की भी तबीयत पहले से काफी बेहतर हो चुकी थी और वह भी हमारे साथ आए थे। काफी लंबे अरसे बाद इतना अच्छा समय साथ में बिताया था और पूरा परिवार एक साथ घूमने के लिए गया था। जब हम लोग घर लौटे तो हमारे पास काफी सारा सामान था सब लोगों ने अपने लिए कुछ ना कुछ चीजें तो खरीद ही ली थी मैंने भी थोड़ी बहुत शॉपिंग अपने लिए कर ली थी। मैं ज्यादातर कपड़े अपने दोस्त की दुकान से ही खरीद लेता हूं क्योंकि उसकी गारमेंट की शॉप है इसलिए मैं वहीं से अक्सर कपड़े खरीद लिया करता हूं लेकिन जब हम लोग घूमने के लिए गए तो उस दिन मुझे कुछ कपड़े पसंद आये और मैंने अपने लिए वह कपड़े खरीद लिए। हम लोग वापस घर लौट आए थे और कमला कुछ दिनों के लिए घर पर ही रुकने वाली थी जब हम लोग मेरे रूम में साथ में बैठे हुए थे तो मैंने कमला से कहा कि तुम्हारे आ जाने से पापा और मम्मी बहुत ज्यादा खुश हैं क्योंकि मैं तो अपने दस्तर चले जाया करता हूं और शाम को ही घर लौटता हूं इसलिए मै उन्हें ज्यादा समय नहीं दे पाता।

कमला मुझसे कहने लगी कि भैया अब आपको भी शादी कर लेनी चाहिए मैंने कमला को कहा हां मुझे भी कुछ ऐसा ही लगने लगा है कि अब मुझे शादी कर लेनी चाहिए क्योंकि मेरी भी अब उमर हो चली है। कमला ने मुझे कहा भैया यदि आप कहें तो मैं आपके लिए लड़की देखूं मैंने कमला से कहा नहीं तुम रहने दो। उस दिन शायद कमला ने मुझे एहसास दिला दिया था कि मुझे अब शादी कर लेनी चाहिए और मुझे भी यही लगा कि मेरी उम्र हो चुकी है और मुझे शादी कर लेनी चाहिए। हालांकि कमला मुझसे उम्र में छोटी है लेकिन कमला की शादी हो जाने के बाद से घर में काफी सन्नाटा रहता है पहले तो कमला के होने पर कमला घर को अपने सर पर उठा लिया करती थी। वह मां के साथ इतनी मस्ती करती थी कि मां का भी मन कमला के साथ लगा रहता था लेकिन कमला की शादी हो जाने के बाद अब शायद मां भी अकेली ही थी क्योंकि पापा की तबीय ज्यादा कुछ ठीक नहीं रहती वह अपने रूम में ही रहते हैं और वह बाहर बहुत कम ही जाया करते हैं इसलिए मां भी काफी अकेली हो गई थी। कमला कुछ दिनों तक घर पर रही और उसके बाद वह अपने ससुराल चली गई जब कमला अपने ससुराल चली गई तो मुझे इस बात को सोचने पर मजबूर होना पड़ा कि क्या मुझे भी अब शादी कर लेनी चाहिए?

मैं इसी दुविधा में था परंतु मुझे भी नहीं लगने लगा था कि मुझे अब जल्दी शादी कर लेनी चाहिए और मैंने शादी करने का फैसला कर लिया। मेरे लिए ना जाने कितनी लड़कियों के रिश्ता आने लगे लेकिन अभी तक मुझे कोई भी लड़की पसंद नहीं आई थी। मेरी तलाश अब भी जारी थी लेकिन मुझे अभी तक कोई भी लड़की नहीं मिल पाई थी। मैं जब इसी दौरान काजल से मिला तो काजल से मिलकर मुझे बहुत अच्छा लगा काजल से मेरी मुलाकात मेरी बहन कमला ने करवाई थी और काजल को वह पहले से ही जानती थी। मुझे काजल इतनी पसंद आई कि मैंने उससे उसका नंबर भी ले लिया काजल से मैं फोन पर बातें करने लगा। काजल से जब फोन पर बातें करता तो वह बहुत ही ज्यादा खुश हो जाती हम दोनों एक दूसरे से बात कर के बहुत खुश थे और हम लोग एक दूसरे के साथ समय बिताया करते। मैंने जब काजल को मिलने के लिए बुलाया तो उस दिन हम दोनों के बीच किस हो गया। मैने जब पहली बार उसे किस किया तो मुझे बहुत अच्छा लगा शायद यह हम दोनों के लिए बहुत अच्छा मौका था। मैंने काजल से शादी की बात की तो काजल भी मेरे साथ शादी के लिए तैयार हो चुकी थी और हम लोगों ने जब पहली बार सेक्स किया तो मुझे बहुत अच्छा लगा पहली बार ही जब काजल मेरी बाहों में थी तो मैं उसके स्तनों को दबा रहा था और उसके स्तनों को दबाकर मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। मै उसके स्तनों को बहुत देर तक दबाता रहा वह मुझे कहने लगी मुझे तो बहुत ही अच्छा लग रहा है। मैंने उसके स्तनों को अपने हाथों में लिया और उनका रसपान करना शुरू किया। मैंने जब काजल के स्तनों को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू किया तो मैंने काजल के स्तनों से खून निकाल कर रख दिया काजल भी पूरी तरीके से उत्तेजित हो चुकी थी और वह मुझे कहने लगी मैं इतनी ज्यादा उत्तेजित हो चुकी हूं कि मैं अपने आपको बिल्कुल भी रोक नहीं पा रही हूं।

मैंने काजल से कहा काजल मुझे बहुत ही मजा आ रहा है मैं चाहता हूं कि तुम्हारी चूत के आज मैं मजे लू। काजल शर्मा रही थी जब उसने मेरे लंड को देखा तो वह भी अपने अंदर की गर्मी को रोक ना सकी उसने मेरे लंड को मुंह के अंदर ले लिया जब उसने अपने मुंह के अंदर लेकर चूसना शुरू किया तो मुझे बहुत ही मजा आने लगा वह मेरे लंड को बड़े ही अच्छे से चूस रही थी। उसने मेरे लंड को अपने गले के अंदर तक उतार लिया था फिर उसने जब अपनी चूत को मेरे सामने किया तो मैंने भी उसकी चूत पर अपनी जीभ को रगडना शुरू किया और उसकी चूत पर जब मैं अपने लंड को रगड़ रहा था तो मुझे बहुत ही अच्छा लगता। मैं जब उसकी चूत के अंदर अपने लंड को डालता तो मुझे और भी मजा आता मैं जिस प्रकार से अपने लंड को उसकी चूत के अंदर बाहर कर रहा था तो उससे मुझे और भी ज्यादा मजा आने लगा। मैं उसे बहुत तेज गति से चोदने लगा था लेकिन काजल की चूत से निकलता हुआ पानी इस कदर बढ़ने लगा वह कहने लगी मैं ज्यादा देर तक आपका साथ नहीं दे पाऊंगी।

मैंने काजल को अपनी बाहों में जकडना शुरू किया और उसे और भी तेज गति से चोदना शुरू किया मेरा लंड जब उसकी चूत के अंदर बाहर हो रहा था तो मेरे अंदर एक अलग ही गर्मी पैदा हो गई थी। उसकी गर्मी इतनी ज्यादा बढ़ने लगे कि हम दोनों ही पसीना पसीना होने लगे। मैंने काजल से कहा तुम्हारे सील पैक चूत का मजा लेकर आज तो मुझे मजा ही आ रहा है काजल भी बहुत ज्यादा उत्तेजित हो चुकी थी और उसने मेरा साथ बड़े अच्छे से दिया। वह जिस प्रकार से अपने मुंह से सिसकियां ले रही थी उससे उसके अंदर की गर्मी लगातार बढ़ती जा रही थी और उसकी गर्मी अब इतनी अधिक हो गई कि वह मुझे कहने लगी शायद मैं अपने आपको रोक ना सकूंगी वह झड चुकी थी और मेरा वीर्य बाहर की तरफ आने वाला था और जैसे ही मेरा वीर्य गिरा तो मैं बहुत ज्यादा खुश हो गया और काजल भी बहुत खुश थी।


Comments are closed.