सुन भाभी तेरे लिए लंड लाया हूँ

Sun bhabhi tere liye lund laya hoon:

desi bhabhi sex stories

हैल्लो फ्रेंड्स, कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करता हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और ठन्डे मौसम में चुदाई के लिए समय निकाल रहे होंगे | मेरा नाम प्रणव है और मैं बिलासपुर की रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 23 साला है और मैं दिखने में सांवला हूँ और मेरी कद काठी पहलवान जैसा है | मैं सिंगल हूँ और मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है | वजह ये है कि मैं सांवला हूँ इसीलिए | अब मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है तो मैं इस साईट में चुदाई की कहानियां पढ़ कर मुट्ठ मार कर काम चला लेता हूँ | मैं इस साईट में चुदाई की कहानियाँ रोज पढता हूँ | आज जो मैं आप लोगो के लिए अपनी कहानी ले कर पेश हुआ हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी पसंद आयगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय ना लेते हुए अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

दोस्तों मैं अभी कोई जॉब नहीं करता और घर में ही ज्यादातर रह कर गेम खेलता हूँ | मेरे पापा दिल्ली में जॉब करते है और मम्मी कॉलेज में पढ़ाती हैं | मैं अकेला लड़का हूँ और लाडला हूँ इस वजह से मुझे घर में कोई कुछ नहीं कहता | मैं घर में सारा सारा दिन गेम खेलता रहता हूँ | मेरा रूम ऊपर है | मैं कभी गेम खेल कर टाइमपास कर लेता हूँ तो कभी चुदाई की कहानियां पढ़ कर तो कभी ब्लू फिल्म देख कर | एक दिन की बात है मैं अपने कमरे में बैठा गेम खेल रहा था तभी मेरी नजर एक भाभी पर पड़ी जो ठीक मेरे रूम के सामने वाले घर में किराए से रहती हैं | मैंने देखा कि वो नहा कर निकली और अपना बदन पोछने के लिए जो टॉवल पहना था वो उतार कर अपने नंगे जिस्म को पोछने लगी | ये देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया तो मैं गेम खेलना बंद कर के नंगा हो गया और उसे देख कर मुट्ठ मारने लगा | उसका बदन बहुत ही सेक्सी है और उसके बड़े चुच्चिया और बड़ी गोल गांड उसके शरीर का आकर्षण केंद्र है | मेरा वीर्य निकलने ही वाला था कि उसने पर्दा लगा लिया | मेरा वीर्य झड़ गया था और मुझे उसकी चूत का दर्शन नहीं हो पाए | फिर मैं वहीँ बैठ गया अपने बिस्तर पर और उसके कमरे की तरफ देखने लगा | जब आधे घंटे तक वो नहीं आई तो मैं समझ गया कि शायद वो नहीं आयगी | मैं फिर से गेम खेलने में लगा गया |

उस समय सुबह के 11 बज रहे थे और ठीक एक घंटे बाद 12 बजे उसके रूम की तरफ देखा तो पर्दा सरका हुआ था | तो मैंने फिर से गेम खेलना बंद कर के उसके रूम की तरफ ताड़ने लगा | कुछ देर देखने के बाद वो मुझे दिखी और उसने एक बहुत सुन्दर सा गाउन पहना हुआ था जिसमे फूल की डिजाईन थी | वो गाउन उसके बदन से एक दम चिपका हुआ था और घुटनों तक ही था | फिर मैंने सोचा कि यार अभी तो मुट्ठ मारा है मैंने तो गेम पर ही ध्यान दूं | कल सही टाइम पर देखूंगा | मैं मन ही मन सोच रहा था कि क्या इसके घर में ये अकेली रहती है या और कोई भी क्यूंकि उसके रूम में हलचल बस उसकी हो रही थी और किसी की भी नहीं | अगले दिन जब मम्मी कॉलेज चली गई तो मैंने मेन डोर बंद किया और नंगा हो कर अपने बिस्तर पर बैठ कर उसके दिखने का इन्तजार करने लगा | 10 बजे के आस पास वो नहा कर आई और आईने के सामने खड़े हो कर अपने बदन को निहारने लगी और साथ में दूध को हाँथ में ले कर हिलाने लगी | मेरा लंड एक दम तन के खड़ा हो गया और मैं मुट्ठ मारने लगा | फिर अपने बेड पर लेट गई और उसका सिर मेरी तरफ था | वो अपनी चूत को ऊँगली से जोर जोर से रगड़ रही थी | मुझे भले ही उसकी चूत के दर्शन नहीं हो पा रहे थे लेकिन मजा जरुर आ रहा था | मैं भी उसे देख कर जोर जोर से मुट्ठ मार रहा था | 15 मिनट बाद मेरा वीर्य निकल गया लेकीन वो तब भी अपनी चूत पर जोर जोर से ऊँगली कर रही थी | दस मिनट के बाद वो उठी और फिर से बाथरूम चले गई और मैं वहीँ निढाल हो कर लेट गया | जब मैं उठा तो फिर से पर्दा लगा हुआ था | अब मेरा रोज का यही काम हो गया था बस जब मम्मी की छुट्टी रहती थी तब नहीं कर पाता था | फिर एक दिन बुधवार का दिन था और मम्मी के कॉलेज में कुछ प्रोग्राम था तो उस दिन वो कॉलेज से लेट आने वाली थी | मैं अपने रूम में फिर से उसे देखने लगा और उस दिन वो फिर से अपनी चूत रगड़ रही थी | फिर पता नहीं अचानक वो उठी और पर्दा लगाने के लिए उसने हाँथ बढाया और रुक गई | वो मुझे ही देख रही थी | मैं अपना लंड हिला रहा था और वो मुझे देख कर मुस्कुराने लगी | उसने मेरी तरफ हाँथ हिलाया और उसके घर आने के लिए कहा | मैं तुरंत कपडे पहन कर उसके घर को चला गया | जब मैं वहां पंहुचा तब भी वो नंगी ही थी | मैं समझ गया कि आज मैं चूत का रस चखने वाला हूँ | उसने मुझे अन्दर बुलाया और मेरा नाम पूछा तो मैंने उसे अपना नाम बताया और उसका पूछा तो उसने अपना नाम तारा बताया | मैंने उससे कहा कि तुम्हारा फिगर बहुत ही सेक्सी है |

तो उसने कहा कि मुझे तुम्हारा लंड पसंद आया इसलिए मैंने तुम्हे बुलाया | मैंने उससे पूछा कि तुम यहाँ अकेले रहती हो ? तो उसने कहा हाँ यहाँ मैं अकेले रहती हूँ और मेरे पति कुछ समय के लिए दुबई गए हुए हैं | कुछ देर ऐसे ही हम बात कर रहे थे तो उसने कहा यहाँ मैंने तुम्हे चुदाई के लिए बुलाया है बकरचोदी करने के लिए नहीं | मैंने इतना सुना और तुरन्त ही उसे अपनी बांहों में ले कर उसके होंठ में अपने होंठ रख कर किस करने लगा | वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगी | हम दोनों ने 10 मिनट तक किस किया और फिर मैं उसके दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो उसके मुंह से आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा उयूनंह ऊउम्म्ह ऊनंह उयूम्म्ह आहाआ करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | मैं उसके दूध को जोर जोर से मसलते हुए चूस रहा था और वो आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा उयूनंह ऊउम्म्ह ऊनंह उयूम्म्ह आहाआ  करते हुए सिस्कारिया लेने लगी | कुछ देर बाद उसने मेरे कपडे उतार कर मुझे नंगा कर दिया और मेरी छाती को चूमते हुए मेरे लंड को हाँथ से हिलाने लगी और जीभ से चाटने लगी तो मेरे मुंह से भी आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा उयूनंह ऊउम्म्ह ऊनंह उयूम्म्ह आहाआ की सिस्करिया निकलने लगी | वो मेरे लंड को जीभ से अच्छे से चाट रही थी और फिर अपने मुंह में डाल कर चूसने लगी तो मैं आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा उयूनंह ऊउम्म्ह ऊनंह उयूम्म्ह आहाआ करते हुए उसके मुंह को चोदने लगा | फिर मैंने उसको बिस्तर पर लेटाया और उसकी टाँगे चौड़ी कर दी | मैं उसकी चूत को अपनी जीभ से रगड़ते हुए चाटने लगा तो वो आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा उयूनंह ऊउम्म्ह ऊनंह उयूम्म्ह आहाआ करते हुए मचलने लगी | मैं उसकी चूत को चाटते हुए ऊँगली से भी चोदने लगा तो वो आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा उयूनंह ऊउम्म्ह ऊनंह उयूम्म्ह आहाआ करते हुए मेरे मुंह को अपनी चूत में दुखाने लगी |

कुछ देर चूत चाटने के बाद मैंने उसकी चूत में अपना लौड़ा टिकाया और अन्दर डाल कर चोदने लगा तो वो आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा उयूनंह ऊउम्म्ह ऊनंह उयूम्म्ह आहाआ करते हए मजे लेने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से झटके मारते हुए चोदने लगा तो वो भी आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा उयूनंह ऊउम्म्ह ऊनंह उयूम्म्ह आहाआ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदाई में साथ देने लगी | उसके बाद मैंने उसे घोड़ी बना दिया और पीछे से लंड डाल कर चोदने लगा तो वो भी आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा उयूनंह ऊउम्म्ह ऊनंह उयूम्म्ह आहाआ करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवाने लगी | मैं जोर जोर से शॉट मारते हुए चोद रहा था और वो आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा उयूनंह ऊउम्म्ह ऊनंह उयूम्म्ह आहाआ करते हए मजे ले रही थी | आदधे घंटे उसे चोदने के बाद मैंने अपना वीर्य उसकी गांड के उपर ही निकाल दिया | उसके बाद मैंने उसके कई दिनों तक और कई बार चोदा लेकिन अब उसका पति आ गया है जिस वजह से बहुत ही कम बार मुझे चुदाई का मजा मिल पाता है |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी ये कहानी पसंद आई होगी |


Comments are closed.