शादी में लिए मज़े सहेली के साथ

Shadi me liye maje saheli ke sath:

loading...

group sex kahani

हाय फेंड्स कैसे हो आप सभी लोग ? मैं आशा करता हूँ की आप सभी लोग ठीक ही होगे | दोस्तों तो मैं आज अपनी एक कहानी दुबारा लेकर आई हूँ | जैसा की मैंने आप सभी लोगो को पहली कहानी में बताया था की मैं पढाई कर रही थी और जब में कॉलेज मे थी तब मेरे साथ मेरे एक दोस्त ने मेरे बूब्स दबा दिए थे और मेरी चूत भी दबाते हुए सहला दिया था तो मैं गर्म हो गयी थी और फिर वो चला गया था | उसके बाद मेरे कॉलेज से कुछ लोग टूर पर जा रहे थे तो मैं भी उस टूर में गयी थी और मेरे साथ टूर पर अरुन और सुमित भी गए थे | ये अरुन और सुमित दोस्त हैं और जब पहुच गए थे तब अरुन ने मुझे किस करने के लिए कहा था तो मैंने माना किया और बोली थी की इतनी जल्दी क्यों है पर उस दिन मैं भी चुदना चाहती थी | फिर सब लोगो ने केम्प लगया था | उस रात मैं उन दोनों से चुदी थी और वो मेरी पहली चुदाई थी इसलिए मेरी चूत से खून भी निकला था | तब से वो दोनों ने मुझे अपनी बीबी मान लिया था और मुझे गाली देकर बुलाते थे | मैं आज की कहानी आप लोगो के सामने शुरू करने जा रही हूँ | इससे पहले थोडा अपने बारे में भी बता दूँ |

मेरा नाम नाम रजनी है और मैं रहने वाली कश्मीर की हूँ | मेरी उम्र अब 23 साल है | मैं दिखने में गोरी हूँ एकदम दूध की तरह | मेरा फिगर सेक्सी है मेरे बूब्स काफी बड़े है और गांड भी मस्त है | बाकी सब मैं बता ही चुकी हूँ तो अब मैं अपनी कहानी पर आती हूँ |

जब मैं टूर से घर आई थी तो मेरी सहेली ने मुझसे पूछा टूर कैसा रहा | मैं कुछ भी बताने से पहले अपनी सहेली के बारे में बता देती हूँ | इसका नाम रुपाली है और वो दिखने में गोरी है | उसका मस्त सेक्सी फिगर है मुझे उसके फिगर का साइज़ तो नही पता है पर जितना पता है उतना बता देती हूँ | उसके मस्त चिकने और बड़े बूब्स है उसके सिवा उनकी बड़ी चौड़ी गांड भी है जिसको देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाये क्यूंकि जब वो चलती है तो इसकी गांड हिलती है जिसको देख कर सब लडको के मन में लड्डू फूटने लगते हैं और सबसे बड़ी बात तो ये है की ये बहुत बड़ी रंडी है |फिर जब मैंने उसे बताया की यार टूर में बहुत मस्ती की और मुझे अरुन और सुमित ने केम्प में रंडी की तरह चोदा था | ये बात सुनकर वो मुझसे बहुत घुस्सा हुई और बोली मुझे क्यों नही ले गयी थी रंडी अकेले ही दो लंड का मज़ा लेके आ गयी | मुझे भी 2 लंड का सुख दिला देती तो तेरा क्या जाता | तब मैं बोली की तो परेशान क्यूँ हो रही है तुझे उन दोनों के लंड से ही चुदना है तू मैं तुझे उनके लंड से चुदाई करवा दूंगी |

अभी 3 दिन बाद उसकी बहन की शादी है और उनसे मुझे बुलाया है तो उसका दोस्त सुमित भी वहां होगा तक हम दोनों उनके लंड से खेलेंगी और ये बात सुनकर वो बहुत खुश हुई साथ में मेरी होठो पर एक किस की | फिर बोली की मुझे ये 3 दिन 3 महीने की तरह लगेंगे और फिर वो चली गयी | उसके दुसरे दिन मुझे अरुन का फ़ोन आया तो उसने कहा कब आ रही हो तब मैंने कहा की शादी के दिन और तुम्हारे लिए एक सरप्राइज है तो उसने मुझे  शादी वाले दिन आने को कहा तो मैंने रुपाली को फ़ोन किया |

मैं – हेल्लो रुपाली क्या कर रही है

रुपाली – कुछ नही |

मैं – चलो तैयार हो जाओ हमे आज ही निकलना है | तब वो बोली की यार तू क्या पहन कर जाएगी |

मैं – यार मैं तो साड़ी पहन कर जाउंगी और तू ?

रुपाली – यार मैं तो जींस और ताप पहन कर जाना चाहती हूँ |

मैं – ठीक है और जींस में तुझे देख कर तो वहां के लड़के पागल हो जायेंगे |

रुपाली – वो क्यूँ ?

मैं – तेरी गांड देखकर वो इतनी मस्त जो दिखती है |

रुपाली – हाँ लेकिन उस दिन तूने अपनी चूत की सेवा अकेली ही करा ली थी |

मैं – हाँ यार उस रात मुझे बहुत मज़ा आया था और तू रंडी आज अपनी चूत को तैयार कर ले ?

रुपाली – हाँ मैंने तैयार कर ली है उन दोनों के लंड अपनी चूत और गांड में लेने के लिए |

फिर मैं और रुपाली कुछ देर तक ऐसे ही बात करते रहें | फिर मैं और रुपाली तैयार हो गए और शादी के लिए जा रहे थे तो मैंने अपनी मम्मी से बोला की मैं शादी में जा रही हूँ और मैं कल सुबह ता आऊँगी | ये बोला कर हम चल पड़े उस दिन मैंने ब्लैक डार्क कॉलर की साड़ी पहनी थी और रुपाली ने जींस और टॉप पहना था |फिर मैं और रुपाली कुछ ही देर में वहां पहुच गए | तब मुझसे सबसे पहले तो अरुन मिला और मुझे देख कर बोला की मादरचोदो क्या मस्त लगा रही हो तो मेरी दोस्त बोली की तुम रजनी को ही गली दो मुझे नही मुझे ये नही पसंद है | फिर वो कुछ काम से चला गया तब मुझे सुमित मिला और हमे देखा तो बोला कैसी हो मेरी रंडी और मैं ये बात सुनकर हँस दिया और फिर वो चला गया और बोला की बारात आने वाली है | कुछ ही देर मैं बारात आ गयी | उसके 1 घंटे के बाद मैं और रुपाली ने जीजा के बारे में पूछा तो अरुन ने कहा उनसे भी मिल लेना पहले मेरे दोस्तों से मिलो | तब उसने हमे दो लडको से और मिलाया उसमें एक का नाम अनिल था और दुसरे का अनिकेत था |

अनिकेत – हाय जान मस्त लग रही हो |

मैं – हाँ तुम्हारे लिए ही अच्छी बन कर आई हूँ |

अरुन – मादरचोदो मेरी रंडियों तुम नही आच्छी लगोगी तो कौन अच्छा लगेगा |

रुपाली – अरुन तुम मुझे गाली मत दिया करो |

अनिल – हाँ तुम रुपाली को गाली मत दिया करो इसे तो मैं अपना लंड दूंगा |

सुमित – हाँ भाई तू सही कह रहा है रुपाली लगी नही खाती है उसे तो लंड खाना ही पसंद है |

हम सब ऐसे ही बात करते रहे फिर हम सब डी जे बज रहा था तो हम सब डंच करने चले गए वहां हूँ सबने खूब डंच और मस्ती की | फिर अरुन हम दोनों को बेडरूम में ले गया और बेडरूम देख कर रुपाली बोली की क्या बेडरूम है | तब मैं बोली बेडरूम नही है ये रंडी खाना है तो अरुन बोला हाँ रंडियों तुम्हारा आज इस रंडी खाने में स्वागत है |

फिर जब मैं बेडरूम में गयी तो उन चारो में से एक ने दरवाजा बंद कर दिया और मेरे अनिकेत और अरुन लिपट गए और मेरी साड़ी को हटा कर मेरी कमर में किस करने लगा साथ में अरुन मेरी होठो को पर अपने होठो को रख कर चूसने लगा | दूसरी तरफ रुपाली को अनिल और सुमित किस कर रहे थे और किस करते हुए ही उसकी टॉप निकाल कर उसके बूब्स को दबते हुए उसकी गांड को बड़ा रहा था क्यूंकि उसकी गांड ही के तो सब दीवाने रहते हैं और मुझे अनिकेत और अरुन किस कर रहे थे | वो दोनों ने मेरे ब्लाउज को भी खोल कर मेरे पेटीकोट भी खोल दिया अब मैं उनके सामने ब्रा और पेंटी में थी | वो दोनों मेरी ब्रा के ऊपर से एक एक दूध को पकड कर मुंह में रख कर चूस रहे थे और दूसरी तरफ रुपाली के बूब्स को अनिल चूस रहा था और सुमित उसकी जींस को निकाल कर उसकी गांड में अपने मुह को घुसा कर चाट रहा था | फिर अरुन और अनिकेत ने मुझे बिस्तर पर लेटा कर अरुन ने मेरी चूत में अपने मुंह को घुसा कर अपनी जीभ से चाटने लगा साथ में ही अनिकेत ने अपने कपडे निकाल कर अपने लंड को मेरे मुंह में घुसा दिया | मैं उसके लंड को मुंह में रख कर चूसती रही दूसरी तरफ बेड पर लेटा कर रुपाली की चूत को चाटने के साथ में उसके मुंह में लंड को डाल कर अन्दर बाहर करते हुए चूसा रहा था | वो चारो ही ऐसे ही मुझे और रुपाली एक 6 -8 मिनट तक ऐसे ही लंड को चूसते रहे और मैं दोनों की चूत को चाट कर गीली कर दी |

फिर मेरी चूत में अनिकेत ने अपने लंड को घुसा दिया और जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए मुझे चोदने लगा | दूसरी तरफ रुपाली की चूत में सुमित लंड को डाल कर जोर जोर से चोद रहा था और हम दोनों ही जोर जोर से ऊई उई हां हां… आ आ आ आ… उई मई उई मई…. उह उह उह… हाँ अहं हाँ… की सिसिकियाँ लेती हुई चुद रही थी | उसके बाद अनिकेत ने मेरी चूत से लंड को निकाल कर नीचे लेट गया और मेरी गांड में अपने लंड को घुसा कर मेरी कमर को पकड कर ऊपर नीचे करने लगा साथ में मेरी चूत में अरुन ने अपने मोटे और लम्बे लंड को घुसा दिया तो मैं चीख पड़ी उई उई मई माँ उई मई… मरी उई हा हा.. आ आ आ आ… उई उई हाँ हा.. की आवाजे करती हुई चुदने लगी | रुपाली मस्त मज़े लेती हुई चुद रही थी | वो चारो मिलकर मुझे और मेरी सहेली की इस कदर चुदाई की थी की कमरे में सिर्फ़ धक्को की और हम दोनों की ही सिसिकियाँ की आवाज आ रही थी | फिर चारो अपने अपने लंड को निकाल कर मेरे मुंह पर मुठ मारने लगे और सब ने अपना माल मेरे मुंह पर निकाल दिया | मैं ऊपर से नीचे तक वीर्य से नहा गयी और फिर मेरी सहेली ने वो वीर्य चाट चाट कर साफ कर दिया और हम दोनों नहा कर कपडे पहन कर बाहर गए ता मेरी चूत में तो बहुत दर्द हो रहा था तो मैं एक ही जगह पर बैठ गयी |

मुझे उम्मीद है की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी और सबके लंड का पानी तो निकल ही गया होगा |


Comments are closed.