सेक्स का पहला अनुभव सहेली के साथ 1

Sex ka pahla anubhan saheli ke sath 1:

pahli baar chudai हेल्लो दोस्तों मेरा नाम रोशनी है और मैं आज फ्री हिंदी सेक्स स्टोरीज के पाठको के लिए अपनी सेक्स अनुभव से अपनी पहली कहानी लेकर आई हूँ | ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना | दोस्तों जब मेरे साथ ये घटना हुई थी मैं उसके ठीक 2 दिन बाद सेक्सी कहानी के बारे में जान गयी थी | दोस्तों मुझे सेक्सी कहानी के बारे में मेरी सहेली ने ही बताया था | वो मेरी बहुत पुरनी सहेली है और मेरे साथ ही पढ़ती है | मैं जो आज कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और इस कहानी में मैंने पहली बार सेक्स अपनी सहेली के साथ किया था | दोस्तों मैं कहानी को शुरू करने से पहले अपने बारे में बता देती हूँ | मैं रहने वाली अमृतसर की हूँ और मेरी उम्र 18 साल है | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरा फिगर बहुत सेक्सी हैं | मैं आप लोगो को अपने फिगर के बारे में बता देती हूँ | मेरे बूब्स ज्यादा बड़े तो नही है पर मेरे बूब्स एकदम गोल और चिकने है | मेरी गांड भी ज्यादा बड़ी नही है पर इतनी सेक्सी है की किसी की भी नियत ख़राब हो जाये | मैं बहुत ही शर्मीली हूँ | दोस्तों मैं जो आज कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहनी है तो मैं आप लोगो से आशा करती हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी और कहानी को पढने में मज़ा तो जरुर आयेगा | अगर आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आती है तो मैं अपनी अगली कहानी आप लोगो के लिए जरुर लिखूंगी |

दोस्तों ये कहानी अभी कुछ महीने पहले की है | जब मैं अपनी सहेली के साथ पढ़ती थी तो मैं अपनी पढाई करने के लिए अपनी सहेली के घर जाया करती थी | उसके घर पर उसकी मम्मी और पापा रहते हैं | मैं अपनी कहानी को आगे बढ़ाने से पहले आप लोगो को अपनी सहेली के बारे में बता देती हूँ | उसका नाम अनीता है और वो दिखने में दूध से भी ज्यादा गोरी हैं | उसका फिगर बहुत सेक्सी है | दोस्तों उसके बड़े बड़े बूब्स और उसकी बड़ी चौड़ी गांड जिसको देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाये | उसका वो जिस्म ऊपर से नीचे तक आकर्षण का केंद्र है और फिर चढ़ती जवानी जिसकी वजह से उसका जिस्म और खिल गया था | दोस्तों उसकी तरह मेरा भी यही हांल था पर उसकी जवानी के मज़े लेने के लिए उसका एक बॉयफ्रेंड भी है | जिसका नाम रवि है | मैं जब भी उसके घर जाती थी तो वो मुझे अपने बॉयफ्रेंड के बारे में बताया करती थी जिसकी वजह से मेरा भी मन बॉयफ्रेंड बनाने का होता पर मैं किसी भी लकड़े से बात नही कर पाती थी जिसकी वजह से मेरा कोई भी बॉयफ्रेंड नही बनता था | दोस्तों एक दिन की बात है जब मैं और अनीता घुमने गए हुए थे उस दिन उसका बॉयफ्रेंड रवि भी साथ में था | वो हम दोनों को अपने साथ घुमाने ले गया था और बहुत सी जगहों पर ले गया | मैं और मेरी सहेली अनीता उस दिन बहुत सी जगहों पर गए और उसके बाद वो हम दोनों को एक रेस्टोरेंट में ले गया और हम सब लोगो ने खाना खाया | फिर मैं और अनीता घर चली आई और रवि अपने घर चला गया | जब मैं और अनीता घर आये तो मैं कुछ देर बैठ कर अनीता के साथ बात की और जब मैं जाने लगी तभी उसकी मम्मी ने मुझसे कहा रोशनी रोको चाय पी लो फिर जाओ | मैं रुक गयी और फिर चाय पीने के बाद मैं घर चली आई | मेरा घर अनीता के घर से कुछ ही दुरी पर है |

 

उसके कुछ दिन बाद की बात है जब मैं पढाई करने के लिए उसके पास गयी तो उस दिन उसके घर पर कोई नही था तो हम दोनों बैठ कर टीवी देखने लगे | मैं और अनीता टीवी देख ही रहे थे की टीवी में किस सीन आ गया तो अनीता मुझसे बोली यार मुझे रवि की याद आ गयी वो भी ऐसे ही किस करता है | मैं उसकी ये बात सुनकर बोली तो क्या हुआ तो वो मुझसे बोली की तुमने कभी किस की है या नही | मैंने उससे कहा यार मैंने कभी भी किस नही की है क्यूंकि मेरा कोई बॉयफ्रेंड नही है तो मैं किस किसके साथ करुँगी | वो बोली हाँ ये भी सही पर पर तूने अपना बॉयफ्रेंड क्यूँ नही बनाया | मैंने भी उससे कह दिया की मैं किसी लकड़े से बात नही कर पाती हूँ जिसकी वजह से मेरा आज तक कोई बॉयफ्रेंड ही नही बना | वो बोली तो तेरी जवानी तो बेकार चली जाएगी इस उम्र में अगर मज़े नही ले पाई तो तेरी जवानी का क्या फायदा | फिर वो मुझे अपनी पहली चुदाई के बारे में बनाते लगी | वो बोली की जब रवि ने मेरी पहली बार सील थोड़ी थी तो मुझे बहुत दर्द हुआ था | फिर उसके बाद मुझे चुदाई में बहुत मज़ा आया था | दोस्तों उसकी ये बाते सुन कर मेरी चूत में खुजली होने लगी थी | वो मुझसे बोल रही थी की उस रात उसने मुझे पूरा नंगा करके चोदा था और मेरे बूब्स को मुंह में रख कर जोर जोर से चूसता रहा था | वो जब मेरे बूब्स को दबाते हुए चूस रहा था तो मेरे जिस्म में आग लग गयी और मुझसे रहा नही गया था | मैं उस दिन चुदने के लिए तडपने लगी थी और वो मुझे तडपते देख मेरी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर चाटने लगा था | उस रात उसने मेरी चूत की आग को बुझा दिया था | उसकी ये बाते सुनकर अब मुझसे रहा नही जा रहा था तो मैंने अनीता से कहा यार मेरी चूत में खुजली होने लगी है तुम्हारी ये बाते सुनकर तो वो बोली रुक तेरी चूत की आग को अभी संत कर देती हूँ | मैं बोली यार अब मुझसे रहा नही जा रहा है |

फिर वो मुझे अपने साथ अपने रूम में ले गयी और मुझे पकड कर मेरी होठो पर अपनी होठो को रख कर मेरी रसीली होठो को चूसने लगी | जब वो मेरी होठो को चूसने लगी तो मेरे शरीर में करंट सा लग गया और मैं उसको पकड कर उससे लिपट गयी | मैं उसके लिपट गयी थी और वो मेरे बूब्स को हाथ में पकड कर दबाने लगी | मैं उसकी होठो को मुंह में रख कर चूस रही थी और वो मेरी होठो को मुंह में रख कर चूसने के साथ मेरे बूब्स को कपडे के ऊपर से दबा रही थी | हम दोनों ऐसे ही कुछ देर तक एक दुसरे की होठो को चूसने के बाद उसने मेरे कपडे निकाल दिए जिससे मैं उसके सामने पूरी तरह से बिना कपड़ो के आ गयी | फिर मैंने उसके कपडे निकाल दिए जिससे वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गयी | मैं उसको ब्रा और पैंटी में घुर घुर कर देखने लगी | वो ब्रा और पैंटी में बहुत ही सेक्सी लग रही थी | फिर उसने मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरे एक दूध को हाथ में पकड कर दबाती हुई मुंह में रख कर चूसने लगी | वो मेरे बूब्स को हाथ में पकड कर जोर जोर से दबाने लगी तो मेरे मुंह से ऊ ऊ ऊ…. आ आ आ आ…. ह ह ह ह…. हूँ हूँ हूँ हूँ हूँ…. अ अ अ अ… सी सी सी सी… की सिसकियाँ जोर जोर से निकल गयी | वो मेरे एक दूध को मुंह में रख कर चूस रही थी और दुसरे दूध के निप्पल को ऊँगली से घुमा घुमा कर चूस रही थी | वो मेरे बूब्स को चूस रही थी और मैं उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर दबाती हुई आ आ आ आ…. ह ह ह ह…. हूँ हूँ हूँ हूँ हूँ…. अ अ अ अ… ऊ ऊ ऊ ऊ… मई मई मई मई… की सेक्सी आवाजे कर रही थी | वो मेरे बूब्स को ऐसे ही कुछ देर तक एक एक करके चुसती रही | फिर उसने मेरी टांगो को फैला कर मेरी चूत में अपनी जीभ को घुसा दिया | दोस्तों उसकी जीभ के स्पर्स से मेरे जिस्म ने पसीना छोड़ दिया और मेरे मुंह से ह ह ह ह…. हूँ हूँ हूँ हूँ हूँ…. अ अ अ अ… ऊ ऊ ऊ ऊ… आ आ आ आ…. की सिसकियाँ निकल गयी | वो मेरी चूत के दाने को अपनी होठो से पकड कर खीच खीच कर चूस रही थी | मैं बिस्तर को कस के पकड कर सेक्सी आवाजे करती हुई इधर उधर हो रही थी | वो ऐसे ही मेरी चूत को चाटने के साथ मेरी चूत में उँगलियों को घुसा कर जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगी | वो मेरी चूत में ऐसे ही 10 मिनट तक जोर जोर से हिलाती रही जिससे मेरी चूत से गर्म पानी निकल गया और मैं झड़ गयी | फिर मैंने भी उसके चूत में अपनी जीभ को घुसा कर चाटने लगी | वो मस्त सेक्सी आवाजे करने लगी | मैं उसकी चूत के दाने को होठो से पकड कर बाहर की और खीच खीच कर चूसने लगी साथ में उसकी चूत में अपनी उँगलियों को घुसा कर जोर जोर से हिलाने लगी | मैं उसकी चूत में उँगलियों को डाल कर ऐसे ही कुछ देर तक हिलाती रही जिससे उसकी चूत से गर्म पानी की धार निकल गयी और वो भी झड़ गयी |

उसके बाद मैंने अपने कपडे पहन लिए और मैंने सोचा की जब इसमें इतना मज़ा आया है तो लंड से चुदाई कराने में कितना मज़ा आयेगा | तब मैंने अनीता से कहा की यार मुझे भी रवि के लंड से चुदवा दे तो उसने कहा ठीक है | दोस्तों अब मैं आप लोगो को इसके अगले भाग में बताउंगी की अनीता ने मुझे रवि के लंड से चुदवाया या नही | धन्यवाद…..


Comments are closed.