सामने वाली की मस्ती

Samne wali ki masti:
jism masti नमस्कार पाठको, कैसे हैं आप सभी लोग ? मैं आशा करता हूँ आप सभी ठीक ही होंगे | आप लोग चुदाई तो करते ही होंगे अगर नही करते हैं तो मैं आप लोगो को बता दूँ की चुदाई करते रहना चाहिए | अगर आप के पास लड़की नही है तो रंडियों की चोदो पर अपनी गर्मी निकालते रहो और मेरे वो दोस्त जो चुदाई का पूरा मज़ा ले रहें है वो लोग अपनी बीबी और गर्लफ्रेंड को खुश रख रहें है | अब मैं आप लोगो को अपने बारे में बता देता हूँ | मेरा नाम विनय है | मैं रहने वाला पंजाब का हूँ | मेरी उम्र 21 साल हैं | मेरी हाईट 6 फुट 9 इंच है | मेरे लंड का साइज़ 8 इंच लम्बा और मोटा 3 इंच है | मैं दिखने में गोरा हूँ और स्मार्ट भी | मेरे घर मैं 4 लोग रहते हैं मैं मम्मी और पापा मेरे बड़े भईया जी | मैं छोटा हूँ इसलिए मुझसे सब प्यार करते हैं | मेरे पापा सेल्स मार्केटिंग करते हैं और मम्मी टीचर हैं मेरे भईया अभी इंजिनियर की पढाई कर रहे हैं | मुझे सेक्सी कहानियाँ पढना बहुत पसंद है और मैं सेक्सी कहानी बहुत पहले से पढता आ रहा हूँ | मैं जब सेक्सी कहानी पढता हूँ तब मेरा भी मन करता है की मैं भी अपनी कोई कहानी लिखू और मैं आज एक कहानी लेकर आया हूँ | ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | ये मेरी पहली कहानी है इसलिए आप लोगो को कहानी मैं गलती हो सकती हैं अगर आप लोगो को मेरी कहानी मैं गलती नज़र आती हैं तो मुझे माफ़ करना | मैं आशा करता हूँ आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी और पढने में मज़ा भी आयेगा | मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेते हुए सीधे अपनी कहानी पास आता हूँ |
ये कहानी कुछ दिन पहले की है | जब मैं अपनी बुआ के वहां घुमने गया था | मेरी बुआ जी लखनऊ में रहती हैं | जब मैं अपनी बुआ के घर गया था तो मुझे वहां एक लड़की दिखी जो वहीँ घर के सामने रहती थी | उसका नाम रोशनी था | वो दिखने मैं बहुत गोरी और सेक्सी थी | उसकी बड़े बड़े बूब्स और उसकी बड़ी चौड़ी गांड जिसको देख कर किसी भी लकड़े का लंड खड़ा हो जाये | जब मैं उसे देख तो मेरे होश उड़ गए | फिर धीरे धीरे मेरी और उसकी दोस्ती हो गयी | मैं एक दिन उसे प्रपोज कर दिया और उसने एक्सेप्ट कर लिया | फिर मैं उसको घुमने ले गया | अब मेरी उसकी बाते रात में होने लगी थी | इस तरह से 1 महीना निकल गया | अब हमे जब मौका मिलता तो हम किस भी कर लिया करते थे |

loading...

एक दिन की बात है जब रोशनी के मम्मी और पापा किसी की पार्टी मैं गए थे | उस दिन मैं रोशनी के घर में उसके साथ बैठ कर बात कर रहा था | वो मेरे बार बार टच कर रही थी जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया | वो मेरे लंड को देख कर मेरे लंड को सहलाने लगी | तब मैंने अपने होठो को उसके होठ पर रख कर चूसने लगा | वो मेरा साथ देती हुई मेरे होठो को चूसने लगी | मैं उसकी होठो को चूसने के साथ उसके बूब्स को कपडे के ऊपर से दबाने लगा | मैं कुछ देर तक ऐसे हो उसके होठो को चूसता रहा | फिर मैंने उसके कपडे निकाल दिए और वो मेरे सामने ब्रा और पेंटी में थी | मैं उसके एक दूध को पकड कर ब्रा के ऊपर से दबाने लगा | तो वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ करने लगी | मैं उसके दूध को दबाते हुए उसकी ब्रा भी खोल दी | फिर उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा | तो वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह करने लगी | मैं उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा और दुसरे को हाथ से दबाने लगा | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ उफ्फ्फ्फ़ करती हुई अपनी चूत को सहलाने लगी | मैं उसके दूध को जोर जोर से चूसने लगा और एक हाथ से उसके निप्पल को मसलने लगा | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करती हुई अपनी चूत को सहला रही थी | मैं उसके दूध को एक एक करके चूस रहा था | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करती हुई अपने बूब्स को चूसा रही थी | फिर मैंने उसके बूब्स को छोड़ कर उसकी पेंटी भी निकाल दी और उसकी टांगो को फेला कर उसकी चूत में अपने मुंह को घुसा कर उसकी चूत को चाटने लगा | तो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करने लगी | मैं उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर चाटने लगा | उसकी चूत में जीभ को अन्दर बाहर करने लगा साथ में उसकी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा दी | तो उसके मुंह से उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह की सिसिकियाँ निकल गयी | मैं उसकी चूत में अपनी ऊँगली को जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए उसकी चूत को चोदने लगा | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करती हुई अपनी चूत को सहलाने लगी | फिर मैंने अपने कपड़े निकाल कर लंड को अपने हाथ में पकड कर हिलाने लागा | तो वो मेरे लंड को अपने हाथ में पकड कर मुंह में रह कर चुसने लगी | मेरे मुंह से उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ की आवाज निकल गयी | वो मेरे लंड को मुंह में अन्दर बाहर करती हुई चूस रही थी | कुछ देर बाद मैं उसके मुंह में धीरे धीरे धक्के मारते हुए उसके मुंह को चुदने लगा साथ में उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अहह करते हुए उसके मुंह को चोद रहा था | कुछ देर तक मैं उसके मुंह से लंड को निकाल कर उसकी चूत के मुंह पर लंड को रख कर चूत में घुसा कर उसको चोदने लगा | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ की सिसिकियाँ लेती हुई चुदने लगी | मैं उसकी चूत में धीरे धीरे धक्को की स्पीड तेज करने लगा | वो हलकी हलकी आवाज में उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह इह्ह्ह करती हुई चुदने लगी | मैं उसकी चूत में जोर जोर से लंड को अन्दर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करती हुई हुई चूत को हिला हिला कर चुदने लगी | मैंने धक्को की स्पीड और तेज कर दी जिससे धक्को की आवाज कमरे में घुस्जने लगी | मैं उसकी चूत में जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए उसको चोद रहा था | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह करती हुई अपनी चूत को आगे पीछे कर रही थी | मैं उसको इसी तरह से चोदता रहा | वो अपनी चूत को आगे पीछे करती हुई मेरा साथ दे रही थी | मैं उसको जोर जोर से चोद रहा था | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अहह करती हुई चुदने लगी |इसी तरह से 35 मिनट की मस्त चुदाई के बाद मेरे लंड ने उसकी चूत के ऊपर सारा माल निकाल दिया | अब मैं उसको अक्सर मौका मिलने पर चोदता था |

ये थी मेरी कहानी | मैं आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी और पढने में मज़ा भी आया होगा | कहानी पढने के लिए धन्यवाद |


Comments are closed.