पूर्वी को चोदने की चाहत पूरी हुई

Purvi ko chodne ki chahat puri hui:

desi sex kahani, antarvasna chudai

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम अजय है और मैं उतार प्रदेश का रहने वाला हूँ | और मैं दिल्ली में जॉब करता हूँ | मेरी उम्र 24 साल है | रंग गोरा और दिखने में भी ठीक-ठाक लगता हूँ | आज जो कहानी मैं आपके सामने लेकर आया हूँ वो मेरी जिन्दगी की सच्ची घटना पर आधारित है | जिसे मैं कभी नहीं भूल सकता | अब आप लोगो को ज्यादा बोर ना करते हुए मैं कहानी पर आता हूँ |

बात उन दिनों की है जब मैं हाईस्कूल में था मैं पढने बहुत तेज था | सभी टीचर मुझे पसंद करते थे | मेरी क्लास में एक लड़की थी जिसका नाम पूर्वी था वो बहुत ही खूबसूरत और हॉट लड़की थी | उसका फिगर 32-28-34 था | मेरी क्लास के सभी लड़के उस पर लट्टू थे | मैं भी उसे बहुत पसंद करता था | मैं अक्सर उसके बारे में सोंचकर मुठ मारा करता था और अपने लंड को शांत करता था | मैं उसको चोदना चाहता था | पर वो क्लास के किसी लड़के को भी भाव नहीं देती थी | किस्मत की बात देखों हम दोनों जब इंटर में आये तो वो मेरी लैब पार्टनर बनी और हम दोनों की काफी अच्छी दोस्ती हो गयी | हम दोनों फिर साथ में ही कॉलेज जाने लगे क्यूंकि उसका घर भी मेरे घर के पास में ही था |

वैलेंटाइन का दिन था मैंने बड़ी हिम्मत करके उसको प्रपोस कर दिया | उसने हाँ कर दी मेरी ख़ुशी का ठिकाना नहीं था | मैंने उसको गोदी में उठा लिया और किस करने लगा | वो भी मुझे किस कर रही थी | उस दिन से हम दोनों साथ में ही क्लास में जाते और एक साथ ही बैठते थे | हम दोनों ने नंबर एक्सचेंज किये और हम दोनों अक्सर रात-रात भर बातें करते | एक दिन मैंने उससे कहा की क्या तुमने कभी सेक्स किया है | तो उसने कहा की नहीं मैंने कभी सेक्स नहीं किया है | फिर मैंने उससे कहा की मैं तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहता हूँ | तो पहले तो उसने मना किया और बोली की नहीं शादी से पहले सेक्स करना ठीक नहीं है | पर मेरे बह्जुत जोर देने पर उसने हाँ कर दी | उसके बाद हम दोनों ने फ़ोन सेक्स किया और मैं मुठा मार के सो गया उस दिन के बाद मैं सही मौके की तलास में था |

एक दिन वो मौका आ गया उसके घर वाले कही शादी में गए हुए थे | उसने मुझे फ़ोन किया और मुझे अपने घर बुलाया | मैंने घर पर बताया की मैं अपने दोस्त के घर पढने जा रहा हूँ और सुबह तक वापस आऊंगा | उसके बाद मैं शाम को उसके घर पहुंचा | तो उसने आकर दरवाजा खोला | मैं उसको देखता ही रह गया उसने ब्लू कलर की नाइटी पहन रखी थी | उसके बूब्स ऊपर से ही चमक रहे थे | मेरा मन तो कर रह था की बस मैं उनको मसल दूं | फिर मैंने खुद को सम्हाला और उसने मुझे अन्दर आने को कहा | उसने मेरे लिए खाना बनाकर रखा था | हम दोनों ने साथ में बैठ कर खाना खाया और हम दोनों ने ढेर साड़ी बातें की | खाना खाने के बाद हम दोनों उसके बेडरूम में पहुंचे |

मैंने उसे पीछे से पकड़ लिया और उसकी गर्दन पर किस किया और उसके मम्मो को सहलाने लगा | फिर मैं उसके गुलाबी होंठों को चूसने लगा | वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी और मुझे किस कर रही थी | मैंने उसकी नाइटी उतार दी उसने ब्लैक कलर की ब्रा और पैंटी पहन रखी थी | मैंने उसकी ब्रा को खोलकर उसके मम्मो को आजाद कर दिया | उसकी निप्पल्स एक दम गुलाबी थे मैंने उनको अपने मुहँ में ले लिया और अपनी जीभ से सहलाने लगा | पूर्वी मचल उठी उसे बहुत गुदगुदी हो रही थी | फिर मैंने उसकी नाभि पर किस किया और फिर पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर किस किया | मैंने उसकी पैंटी निकाल दी क्या मस्त गुलाबी चूत थी उसकी |

मैं उसकी चूत को सहलाने लगा | उसके मुहँ से सिसकियाँ निकलने लगी | मैंने उसकी चूत पर अपना मुहँ रखा और उसकी चूत के दानो पर अपनी जीभ से सहलाने लगा वो बहुत गरम हो चुकी थी और वो मेरे सर को अपनी चूत में दबा रही थी | मैंने उसकी चूत में ऊँगली डाल दी वो उछल पड़ी उसकी चूत बहुत ही टाइट थी | क्यूंकि वो अभी तक वर्जिन थी | मैं धीरे-धीरे उसकी चूत में उँगली करने लगा | थोड़ी देर बाद उसने पानी छोड़ दिया मैंने उसका सारा पानी अपने मुहँ से चाटकर साफ़ कर दिया |

फिर उसने मुझे बेड पर लिटाया और मेरी शर्ट निकाल दी | वो मेरे शारीर को चूम रही थी | फिर उसने मेरी पैंट निकाल दी और मेरे लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही सहलाने लगी | मेरा लंड एक दम टाइट हो चुका था | मैंने अपना लंड बाहर निकाला तो वो मेरे मोटे लंड को देखकर डर गयी | और वो मुझसे कहने लगी की इतना बड़ा लंड मेरी चूत में कैसे जायेगा प्लीज तुम ये किसी और दिन कर लेना | मैंने उसे समझाया की मैं आराम से करूंगा और तुमको बिलकुल दर्द नहीं होने दूंगा | मैंने उससे लंड चूसने को कहा पहले तो वो नहीं मानी पर मेरे बार बार कहने पर वो मान गयी और मेरे लंड को अपने मुहँ में ले लिया और चूसने लगी |

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था मैं धीरे-धीरे उसके मुहँ को पकड़ कर चोदने लगा | मैंने लगभग 15 मिनट उसके मुहँ को चोदा उसके बाद मैं उसके मुहँ में ही झड गया | वो मेरा सारा माल गटक गयी और मेरे लंड को चाट कर साफ़ किया | फिर हम दोनों 69 की पोजीसन में आ गए और मैं उसकी चूत को चूसने लगा और उसकी चूत में अपनी जीभ डालने लगा | वो भी मेरे लंड को मस्ती से चूस रही थी | मैंने उसकी चूचियां मसलकर लाल कर दी | वो फिर से गरम हो चुकी थी उसने भी मेरा लंड चूस कर खड़ा कर दिया था | मैंने अपना लंड निकाल कर उसकी चूत पर रखा और रगड़ने लगा | वो मुझसे कहने लगी की कब तक तडपाओगे प्लीज अब डाल भी दो मुझसे अब रहा नहीं जा रहा |

मैंने अपने लंड पर थोड़ी वैसलीन लगायी | मैंने धीरे से एक झटका लगाया और उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया | उसके मुहँ जोर से आह की चीख निकल पड़ी | मैंने अपने होंठ उसके होंठो पर रखकर उसको किस करने लगा | उसकी आँखों में आंसू आ गए थे  | उसकी चूत से खून भी निकल रहा था | मैं समझ गया की उसकी सील टूट चुकी थी | वो रोने लगी और मुझसे छूटने की कोसिस करने लगी | वो मुझसे कहने लगी प्लीज मुझे छोड़ दो अजय मुझे बहुत दर्द हो रहा है | पर मैंने उसकी एक भी नहीं सुनी और उसकी बूब्स को दबाने लगा और उसको किस करने लगा | कुछ देर बाद वो शांत हुई |

मेरा आधा लंड ही उसकी चूत में अभी घुसा था | मैं धीरे-धीरे धक्के लगाने लगा | थोड़ी देर बाद वो भी मेरा साथ देने लगी उसे भी मज़ा आने लगा था | मैंने अब स्पीड बढ़ा दी और उसकी चूत में अपना पूरा लंड डाल कर उसकी चुदाई करने लगा | मैंने उसकी 20 मिनट तक चूत मारी उसके बाद उसका शरीर अकड़ने लगा मैं समझ गया की वो झड़ने वाली थी | मैं और जोर-जोर से धक्के लगाने लगा | फिर थोड़ी देर बाद वो झड गयी |

पर मैं अभी नहीं झड़ने वाला था मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाला और उसके बूब्स के बीच में रखकर मैं उसके बूब्स को चोदने लगा | मैंने 15 मिनट तक उसके बूब्स को चोदा उसके बाद मैं उसके बूब्स पर ही झड गया | हम दोनों एक दुसरे के ऊपर कुछ देर लेटे रहे | फिर वो उठ कर बाथरूम में चली गयी मैं भी उसके पीछे ही गया | वो बाथरूम में नहाने लगी मैंने उसे पीछे से पकड़ लिया और उसकी गर्दन पर किस करने लगा | वो एक दम नंगी होकर नहा रही थी मेरा लंड फिर से खड़ा हो चूका था | मेर खड़ा लंड उसके चूतडो के बीच सटा हुआ था | मेरा मन उसकी गांड मारने को कह रहा था | मैंने उससे गांड मारने को कहा तो वो मना करने लगी |

फिर मैंने उसे डौगी स्टाइल में किया और उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और उसको चोदने लगा | वो भी अपनी कमर उचका कर मेरा साथ दे रही थी | मैं जोर-जोर से धक्के लगा रहा था | उसके मुहँ से आह्ह्ह उम्ह्ह्ह इस्श्ह्हह ओह्ह्ह की आवाजे निकल रही थी और पूरे बाथरूम में गूँज रही थी | मुझे बहुत मज़ा आ रहा था मैंने रफ़्तार और बढ़ा दी | मैंने लगभग उसकी 20 मिनट तक चुदाई की उसके बाद हम दोनों झड गए | उस रात मैंने उसकी चार बार चुदाई की और सुबह होते ही मैं अपने घर चला आया | उस दिन के बाद मुझे जब भी मौका मिलता मैं उसकी चुदाई किया करता था | फिर एक दिन मैंने उसकी गांड भी मारी |


Comments are closed.