पंजाबी लड़की की चुदाई

Punjabi ladki ki chudai:

indian sex kahani

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग ? मैं उम्मीद करता हूँ की आप सभी लोग ठीक होंगे और अपनी लाइफ मैं चुदाई के मज़े ले रहे होंगे | दोस्तों मैं आज अपनी एक सच्ची कहानी को आप लोगो के सामने पेश करने जा रहा हूँ | मैं अपनी कहानी को शुरू करने से पहले आप लोगो को अपने बारे में बात देता हूँ |

दोस्तों मेरा अनुराग है और मैं रहने वाला दिल्ली का हूँ | मेरी हाईट 6 फुट 4 इंच है और मेरा रंग गोरा होने के साथ मेरी बॉडी भी मस्त है जिसकी वजह से स्मार्ट दिखता हूँ | दोस्तों मैंने इंजिनियर की पढाई की है | ये कहानी तब की है जब मेरी पढाई पूरी हो गयी थी और मैं जॉब करने के लिए कनाडा गया हुआ था | दोस्तों मैं आप लोगो का ज्यादा टाइम न लेते हुए सीधे अपनी कहानी को शुरू करता हूँ और आप सभी लोगो से उम्मीद करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी |

जब मेरी पढाई पूरी हो गयी तब मैंने जॉब के लिए कनाडा में अप्लाई किया और मेरी जॉब भी लग गयी इसलिए मैं कनाडा चला आया | दोस्तों मैं जब कनाडा आया तो मुझे यहाँ कोई नही जनता था न ही मैं किसी को जनता था | फिर मैं कम्पनी में काम करने लगा और मुझे रहने के लिए कमरा कम्पनी ने ही दिया था |

मुझे वहां सेटल होने में पूरा एक महीना लग गया और 1 महीना रहने की वजह से वहां मेरा एक दोस्त भी बना जिसका नाम राहुल था | दोस्तों वो भी दिल्ली से था इसलिए मेरी और उसकी दोस्ती बहुत ज्यादा अच्छी हो गयी थी | अब मैं और राहुल एक ही कमरा में रहने लगे और काम पर साथ में ही जाते थे |

मैं जिस कम्पनी में काम करता था उस कम्पनी में सन्डे की छोट्टी रहती थी इसलिए मैं और राहुल सन्डे को घुमने निकल जाया करते थे | मैं और राहुल हर सन्डे की तरह उस दिन भी गये थे और मैं और राहुल घूम ही रहे थे तब मुझे एक गाड़ी दिखी | क्या मस्त गाड़ी थी दोस्तों मैंने अपने दोस्त राहुल से कहा की यार इस कार के साथ मेरी एक फोटो निकाल |

मैं फोटो निकलवाने के लिए कार के पास खड़ा हुआ और फोटो खिचवाने लगा | दोस्तों मैं फोटो खिचवा ही रहा था की मेरी नज़र कार के अन्दर गयी और मैं कार के अन्दर देखता ही रह गया | क्या मस्त कुड़ी थी दोस्तों मेरी नज़र हटने का नाम ही नही ले रही थी |

मैं उसको देख रहा था और वो मुझे देखकर एक सेक्सी स्माइल की जिसको देखकर मैं पागल हो गया | दोस्तों मैं कहानी को आगे बढ़ाने से पहले उसके फिगर के बारे में बता देता हूँ | दोस्तों पहली नजर में देखकर किसी लड़की के बारे में ऐसा तो नही सोचना चाहिए पर उस टाइम मेरे मन में ऐसा ही ख्याल आया था की अगर इस परी की चुदाई करने को मिल जाये तो जीवन सफल हो जाये |

दोस्तों वो दिखने में दूध की तरह गोरी थी और उसके बड़े बड़े बूब्स जो टी शार्ट के ऊपर से काफी गोल नज़र आ रहे थे | मैं उसको देखकर घूरता रहा और वो मुझे देखती रही | बोले तो मैं उसकी आँखों मैं देख रहा था और वो मेरी आँखों में देख रही थी | हम दोनों ऐसे ही 5 मिनट तक एक दुसरे को देखते रहे |

जब मैंने अपनी नज़रो को हटाया ही नही तो वो मुझसे बोली क्या हुआ सर ?

मैं – कुछ नही ?

वो – फिर इतनी देर से मुझे घुर घुर कर क्यूँ देखे जा रहे हो ?

मैं – मौके का फायदा उठाते हुए बोला की आप बहुत सुन्दर हो और मेरी नज़रे आप से हट ही नही रही थी |

वो – सच मे मैं इतनी सुन्दर हूँ क्या |

मैं – हाँ आप तो किसी परी से कम नही लग रही हो |

वो – अच्छा जी  मैं हाँ जी आपसे एक बात बोलूं |

वो – हाँ |

मैं – क्या आप मुझसे दोस्ती करोगी ?

वो हँसती हुई बोली हाँ और तब मैंने उससे उसका नम्बर माँगा तो उसने अपना नम्बर दिया और फिर उसने अपने ड्राइवर को बुलया और फिर चली गयी |

फिर मैं और राहुल घूमते हुए अपने रूम पर चले आये और रात का खाना खाने के बाद मैंने उसे कॉल की और बात करने लगा | तब मुझे पता चला की वो पंजाब से है और उसने मुझसे भी पूछा तो मैंने उसे बता दिया | फिर कुछ देर बात करने के बाद उसने मुझे गुड नाईट बोल कर फ़ोन कट कर दिया |

उसके बाद जब मैं सुबह उठा तो उसे गुड मोर्निंग बोला और काम पर चला गया | दोस्तों उस दिन के बाद मेरी और उसकी बाते 1 हप्ते तक ऐसे ही चलती रही | फिर जब सन्डे को मिलने के लिए बोला तो वो मुझसे बोली वहीँ मिलते है जहाँ हम पहले मिले थे |

मैं हाँ और वहीँ पहुच गया | दोस्तों उस दिन वो जींस और लाल टी शार्ट पहन कर आई थी | उस ड्रास में बहुत सुन्दर लग रही थी और उसकी कमर क्या मस्त थी | मेरे मन में उसकी चुदाई की इच्छा हो रही थी | फिर मैं और वो एक रेस्टोरेंट में गए और खाया पिया | उसके बाद मैं और वो घुमने निकल गए | दोस्तों मैंने आप लोगो को उसका नाम ही बताया है तो बता देता हूँ उसका नाम प्रीत कौर था और वो एक पंजाबी कुड़ी थी |

दोस्तों मेरी पहली बार कोई पंजाबी लड़की दोस्त हुए थी जिसको मैं चोदना चाहता था | मैं उस दिन उसके साथ रहा और घूमता रहा फिर शाम होने के टाइम वो मुझे अपने घर ले गयी | उसके तब उसने मुझे बताया की मेरे घर में मेरे पापा और मैं रहती हूँ पर मेरे पापा काम की वजह से अक्सर बिदेश जाया करते हैं जिसकी वजह से मुझे इतने बड़े घर में अकेले ही रहना पड़ता है |

फिर कुछ देर तक मैं उसके साथ बैठ कर बात की और फिर अपने रूम पर चला आया | उस दिन के बाद मैं और वो अक्सर घुमने जाते और अब वो मुझसे बहुत अच्छे से बात करती और मुझे गले भी लगती थी जिससे मेरे अन्दर आग लग जाती थी | दोस्तों मैं अब उसकी चुदाई किये बिना नही रह सकता था इसलिए मौके का इंतजार करने लगा |

दोस्तों वो दिन दूर नही था जिस दिन मुझे मौका मिला और मैं मौके का फयदा उठाते हुए उसके घर पहुच गया | उस दिन उसके पापा घर से बाहर गए हुए थे और वो आने वाले भी नही थे ये बात मुझे उसने ही बताई थी | मैं उस दिन उसके घर पहुच गया और देख की कोई नही है तो मैं जाकर सोफे पर बैठ गया |

दोस्तों मैं सोफे पर बैठ ही था की वो बाथरूम से नाहा कर बाहर आई और उसे टॉवल में देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया | दोस्तों क्या नज़ारा था मैं देखता ही रह गया |  वो मुझे देखकर बोली तुम कब आये ?

मैं – बस यार अभी ही आय हूँ कोई था नही तो मैं बैठ कर तुम्हारा इंतजार कर रहा था |

वो – ओके जी आप बैठो मैं अभी कपडे पहन कर आती हूँ |

मैं – हाँ जाओ ?

दोस्तों वो कपड़े पहनने जैसे ही कमरे में गयी तो मैं भी उसके पीछे से उसके कमरे में पहुच गया और उसे पीछे से पकड लिए | वो मुझे ऐसे करते देखकर चोंक गयी और बोली ये क्या कर रहे हो ?

मैं – यार मैं तुमसे प्यार करता हूँ और तुम्हे प्यार देने जा रहा हूँ |

वो – नही चलो कमरे से बाहर निकलो नही मैं अभी आवाज दूंगी ?

मैं – अगर तुमको किसी को बुलना होता तो तुम कब का बुला लिया होता मुझे बताती नही |

दोस्तों मैं ये बात कहते हुए उसे पकड कर अपनी और खीच लिए और उसकी होठो पर अपनी होठो को रख दिया | फिर उसकी होठो को चूसने लगा | मैं उसकी होठो को चूस रहा था और वो मुझसे दूर होने को कह रही थी |

पर मैं मौके का फयदा उठाये बिना हटने वाला नही था | तब मैंने उसकी होठो को चूसने के साथ उसके बूब्स को हाथ में पकड कर दबाने लगा | वो मेरा ये सब करने में बिरोध ऐसे ही कुछ देर तक करती रही पर कुछ ही देर मे वो भी गर्म हो गयी और मेरा साथ देने लगी |

जब वो मेरा साथ देने लगी तो मैंने उसे पकड कर बेड पर लेटा दिया और 5 मिनट तक उसके पुरे जिस्म को चूमता रहा जिससे उसके जिस्म में आग लग गयी और वो मेरे लंड को पैंट के ऊपर से सहलाने लगी | तब मैंने अपने भी कपडे निकाल दिए और अपने लंड को उसके हाथ में पकड़ा दिया और वो मेरे लंड को हाथ में पकड कर हिलाती हुई मुंह में रख कर चूसने लगी |

वो मेरे लंड को ऐसे ही 5 मिनट तक चूसती रही और मैं अपने लंड को 5 मिनट तक चुसाने के बाद | मैंने उसकी चूत में थूक लगाया और उसकी चूत के मुंह पर अपने लंड को रख दिया और धीरे धीरे धक्के मारते हुए उसकी चूत में अपने लंड को घुसा दिया और उसको चोदने लगा |

वो हा हा हाँ… उई उई उई उई.. मई मई… अ अ अ अ… हु हु हु.. की आवाजे करती हुई चुदने लगी | मैं उसको ऐसे ही चोदता रहा और दोस्तों इसके आगे क्या हुआ होगा आप सबको पता है |

दोस्तों उस चुदाई के बाद मैं अक्सर उसके घर जाकर उसको चोद कर आता था और वो मुझसे अपने घर में ही चुद लेती थी |

दोस्तों ये थी मेरी कहानी मैं उम्मीद करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी |


Comments are closed.


error: