प्लेबॉय बनने के फायदे और घाटे मालूम हुए – 6 (अंतिम भाग)

Playboy banne ke fayde aur ghaate malum hue 6:

sex stories in hindi, antarvasna sex kahani

हेल्लो दोस्तों, मैं हाजिर हूँ इस कहानी का आखिरी भाग लेकर | आशा है आप सभी Free Hindi Sex Stories के पाठकों को बाकी भाग पसंद आये होंगे | चलिए अब शुरू करता हूँ कहानी |

जैसा की मैंने पिछले भाग में बताया की अमित का लंड मेरी गांड में था | मुझे बहुत दर्द हो रहा था | अब अमित थोडा रुका और मेरे चूतडों पर थप्पड़ मारने लगा | मेरे चुतड लाल हो चुके थे | अब उसने धीरे धीरे मेरी गांड में अपना लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया था | मुझे असह्य दर्द हो रहा था | मैं जोर जोर से आह्ह्ह ह हह ह हह ह हहू उ उ ऊ ऊ उ ऊऊ ऊ उ ऊ उ ऊ ऊऊ आह्ह्ह ह हह ह ह हह ह हह हह ओ ओह हह ह ह हह ह हह ह्ह्ह ऊऊ ऊ ऊ उ ऊ ऊ ऊऊ ऊऊ उईइ इ ई इ ई इ ई ई इ इ ई इ इ आह्ह ह ह हह ह ह्ह्ह ह ह्ह्ह ह हह ह ह ह हह ह हह ह ह ह कर रहा था | इतने में नूर मेरे मुंह के सामने आ गयी और अपने बूब्स मेरे मुंह में दे दिए | अब मुझे गांड मरवाने का दर्द तो हो रहा था लेकिन नूर के रसीले बूब्स चूसने की ख़ुशी भी थी थोड़ी | अमित ने मेरी गांड में धक्के देने जोर से शुरू कर दिए | मेरी गांड का बुरा हाल था | अमित मेरे चूतडों पर थप्पड़ भी मारे जा रहा था | मेरी गांड टाइट थी शायद या अमित का स्टेमिना कम था, वो 5 मिनट में ही झड गया और मेरी गांड में ही अपना सारा माल छोड़ दिया उसने |

अब मैं उठा, अपनी गांड से मुठ को साफ़ किया और बैठ गया | शिफा अब मेरे पास आकर मुझे किस करने लगी | मुझे फिर से जोश चढ़ने लगा | इतने में रूबी मेरे पैरों के पास आकर मेरे सोये हुए लंड को चूसने लगी | मेरा लंड अब धीरे धीरे खड़ा होने लगा |  मैंने रूबी और शिफा दोनों से बोला – देखो, जिस जिस को एनल सेक्स करवाना यानि की गांड मरवाना है, आ जाये | शिफा थोडा सोचने लगी | रूबी बोली – शिफा, इतना मत सोच, एक बार ट्राई कर | मजा आएगा | नूर भी आ चुकी थी | मन तो शोएब का भी था लेकिन वो पहले ही मरवा चूका था | अब मेरा लंड पूरा खड़ा हो चूका था | मैंने तीनो को घोड़ी बन्ने को कहा | अब मैंने सबसे पहले रूबी की गांड पर अपना लंड टिकाया | रूबी ने पहले से अपनी गांड ढीली छोड़ रखी थी | मैंने एक जोर का धक्का दिया और एक ही झटके में पूरा लंड अन्दर घुसेड दिया | रूबी की गांड कसी थी | वो रो पड़ी | मैंने बिना रुके धक्के लगाने शुरू कर दिए | वो जोर जोर से आह्ह ह हह ह हह ह ह हह हह ह ऊऊ उ ऊ उ ऊ ईई इ इ इ ई इ इ ई इ ईई इ ई इ मर गयी मैं… आह्ह्ह ह ह हू ऊ उ उई इ इ ई करने लगी | मैंने धक्के देना चालू रखा |

थोड़ी देर बाद मैंने उसकी गांड से लंड निकाला और पास में घोड़ी बनी शिफा की गांड पर टिका दिया अपने लंड को | शिफा की गांड कभी चुदी नही थी | वो देखने से ही टाइट लग रही थी | मैंने उस पर रहम किया और उसकी गांड पर तेल लगा लिया | अब मैंने लंड को टिकाया और एक जोर का झटका दिया | शिफा उछल पड़ी | मैंने उसकी कमर को पकड़ा और पीछे से गर्दन पर किस करने लगा | वो रो रही थी | मैंने अब एक जोर का धक्का दिया | इस बार मेरा पूरा लंड उसकी गांड में घुस गया | वो जोर जोर से रोने लगी | मैंने उसके चूतडों पर थप्पड़ मार मार के उसके चुतड लाल कर दिए | उसकी गांड अब थोड़ी ढीली हो चुकी थी | अब मैंने अपने लंड को उसकी गांड में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया | वो जोर जोर से आह्ह ह हह ह हह ह्ह्ह्ह उ ऊऊउ ऊऊऊई इ ईई इ ई इ ऊ ऊ इ ईई ई इ ई इ अहह ह हह ह हह हह हह करने लगी |

मैंने धक्के जोर जोर से लगाने शुरू कर दिए | वो रोने लगी और थोड़ी देर बाद एन्जॉय भी करने लगी | अब वो खुद से अपनी गांड को आगे पीछे करके चुदवा रही थी और मैं खड़ा था | अब पास ही में घोड़ी बनी और अपनी गांड में ऊँगली करती नूर की गांड पर टिकाया और बिना तेल लगाये ही एक जोर का झटका दिया | नूर की गांड से सच में खून निकल आया | वो रोने लगी और जोर जोर से आह हह ह हह हह हह ह ह्ह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊऊ ऊऊऊई इ ई ई इ ईई ई ईई ईई इ ईई ई ई ई ई आह्ह्ह हह ह ह ह हह ह ह्ह्ह्ह ह करने लगी | मैंने अब उसकी गांड को चोदना शुरू कर दिया था | वो भी थोड़ी देर में मजे लेने लगी | मुझे जोश आ रहा था और मैं चुदाई किये जा रहा था | जब नूर भी चुदाई से थक गयी तो मैंने उसकी गांड से अपना लंड निकाला और अमित और शोएब की तरफ चल दिया |

मैंने देखा की शोएब अमित की गांड में अपनी लुल्ली घुसाने को कोशिश कर रहा था लेकिन काफी छोटी होने की वजह से वो घुस ही नही रही थी | मैंने शोएब को उठाया और उसको लड़कियों से अपनी लुल्ली चुस्वाने को बोला | वो लड़कियों के पास चला गया और अपने लुल्ली को उनसे चुस्वाने लगा | अब मैंने लेते हुए अमित की गांड पर अपना लंड टिका दिया | अमित बोलो – पहले तेल तो लगा लो | मैंने तेल की बोतल उठाई और उसकी गांड और अपने लंड पर लगा दिया | अब मैंने फिर से उसकी गांड पर टिका कर एक जोर का धक्का दे दिया | मेरा लंड आधा अमित की गांड में घुस चूका था | अमित की गांड मेरी गांड जितनी कसी तो नही लेकिन मेरा लंड बडा होने की वजह से उसे काफी दर्द हो रहा था |

मैंने एक और झटका दिया और इस बार पूरा लंड अमित की गांड में घुसेड दिया | अमित का दर्द के मारे बुरा हाल था | वो आह हह ह हह ह ह्ह्ह ह हह ओह्ह हह ह ह हह हह हु ऊ उ ऊ उ ऊऊउ उ ई इ ईई ई इ इ ई ई इ आह हह ह्ह्ह्ह ह हह ह ह ऊऊ ऊ ऊऊऊ ऊ ओऊ कर रहा था | लगभग 20 मिनट की चुदाई के बाद मैं उसकी गांड में ही झड गया | फिर हम लोगों ने रात में आराम किया और मैं सुबह वापस घर आ गया |

दोस्तों, उन भाभियों की चुदाई में तो मजा आया लेकिन उस पार्टी में अपनी गांड मरवा के मुझे पछतावा हो रहा था | मैंने थोड़े दिनों में पैसे जमा किया और फिर गाँव चला आया | अब मेरा कपड़ों का शोरूम है और मैं वो सारा काम छोड़ चूका हूँ |


Comments are closed.