पत्नी बोली क्या आज एनल सेक्स कर लें ?

Antarvasna, sex stories in hindi:

Patni boli kya aaj anal sex kar lein? मेरी शादी को हुए अभी सिर्फ 6 महीने ही हुए थे और मेरी शादी शुदा जिंदगी बहुत ही अच्छे से चल रही थी मैं मोनिका के साथ शादी कर के बहुत खुश हूं लेकिन इसी बीच मेरा ट्रांसफर हो गया और मुझे चेन्नई जाना पड़ा। मैं अपने घर से काफी दूर चेन्नई जाने की तैयारी करने लगा मेरी पत्नी मोनिका मुझे कहने लगी कि मेरा मन आपके बिना कैसे लगेगा मैंने उससे कहा कि देखो मोनिका तुम्हें पापा और मम्मी की देखभाल तो करनी ही पड़ेगी। पापा की भी तबीयत कुछ ठीक नहीं रहती थी जिस वजह से मैंने मोनिका से कहा कि तुम कुछ समय घर पर ही रहो और मोनिका अपनी जॉब छोड़ने को भी तैयार थी लेकिन मैंने मोनिका को समझाया और उसे कहा कि नहीं मोनिका तुम अपनी जॉब मत छोड़ो। मैं अब चेन्नई जाने की तैयारी कर चुका था मोनिका ने मेरा सामान पैक किया और अगले दिन मैं दिल्ली से चेन्नई चला गया।

जब मैं चेन्नई गया तो वहां पर मेरे लिए सब कुछ नया था नया शहर नए लोग और मैं जिस जगह रहता था वहां पर भी मुझे काफी अनकंफरटेबल महसूस होता था क्योंकि मैं किसी को भी नहीं जानता था। मैं अपने ऑफिस से घर लौटता और फिर घर की चारदीवारियों में ही कैद होकर रह जाता मैं सिर्फ मोनिका से फोन पर बात किया करता मेरे पास उसके अलावा और कोई भी दूसरा रास्ता नहीं था। मोनिका से बात कर के ही मैं खुश हो जाया करता हूं लेकिन मेरा मन बिल्कुल भी चेन्नई में नहीं लग रहा था। जब मेरी मुलाकात हमारे पड़ोस में रहने वाले दिनेश से हुई तो उसके बाद दिनेश मुझे अपने साथ शाम के वक्त अपने दोस्तों से मिलाने के लिए ले जाता धीरे धीरे मेरा भी फ्रेंड सर्कल बनने लगा। दिनेश के माध्यम से मैं उनका भी दोस्त बना चुका था इसलिए मुझे भी अब चेन्नई में अच्छा लगने लगा था मैं भी उन लोगों के साथ काफी खुश रहता हूं। एक दिन दिनेश मुझे कहने लगा कि गौरव मुझे कुछ पैसों की मदद चाहिए थी मैंने उसे कहा कि लेकिन तुम्हें पैसे क्यों चाहिए तो उसने मुझे कहा मुझे कुछ जरूरी काम है।

मैंने भी उसे पैसे दे दिये उसने कुछ समय बाद ही मेरे पैसे लौटा दिए थे और दिनेश के साथ मेरी बहुत अच्छी दोस्ती हो चुकी थी। कुछ समय बाद मैं अपने घर दिल्ली वापस आया काफी समय बाद मैं अपने घर आया था तो मोनिका भी बहुत खुश थी और मैंने मोनिका से कहा तुम्हारी जॉब कैसी चल रही है वह मुझे कहने लगी कि मेरी जॉब तो अच्छी चल रही है। इतने लंबे समय बाद अपने परिवार से मिलकर मुझे बहुत खुशी हो रही थी उस दिन मैं घर पर सुबह ही पहुंच गया था इस वजह से मोनिका मुझे कहने लगी कि क्या आप आज मुझे मेरे ऑफिस छोड़ देंगे। मैंने मोनी को बोला हां मैं तुम्हें तुम्हारे ऑफिस छोड़ देता हूं उस दिन मैं मोनिका को उसके ऑफिस छोड़ने के लिए चला गया मैं जब मोनिका को छोड़ने गया तो मैंने उसे कहा कि मोनिका आज शाम को हम लोग साथ में कहीं घूमने के लिए जाएंगे। मोनिका कहने लगी ठीक है आज मैं अपने ऑफिस से जल्दी छुट्टी लेने की कोशिश करूंगी और मैं तो इस बात से खुश था कि अपने परिवार वालों से काफी समय बाद मिल पा रहा हूं। मैं अपने पापा और मम्मी के साथ बैठा हुआ था और उनके साथ में बातें कर रहा था तो वह लोग कहने लगे कि मोनिका हमारा बहुत ध्यान रखती है। मुझे इस बात की खुशी थी कि मेरे ना रहते हुए भी मोनिका ने मेरे परिवार की अच्छे से देखभाल की मैं पापा और मम्मी के साथ बात कर रहा था कि तभी दिनेश का फोन मेरे नंबर पर आ रहा था। मैंने जब उसका फोन उठाया तो मैं दिनेश से बात करने लगा और दिनेश से बात कर के मुझे अच्छा लगा काफी देर तक मैंने उससे बात की वह मुझे कहने लगा कि तुम चेन्नई कब लौट रहे हो। मैंने उसे कहा अभी तो मैं दिल्ली आया ही हूं तो वह मुझे कहने लगा तुम्हें यहां सब लोग बहुत याद कर रहे थे। मेरी काफी अच्छी दोस्ती हो चुकी थी जिस वजह से अब मुझे चेन्नई में भी रहना अच्छा लगने लगा था। दिन के करीब 2:00 बज रहे थे और मोनिका अपने ऑफिस से लौट आई थी मैंने मोनिका को कहा तुम आज अपने ऑफिस से जल्दी ही लौट आई तो वह मुझे कहने लगी कि हां मैंने आज ऑफिस से छुट्टी ले ली थी क्योंकि मैं चाहती हूं कि मैंतुम्हारे साथ कुछ समय बिताऊँ। मैंने मोनिका को कहा तुमने यह तो बहुत ही अच्छा किया कि तुमने जल्दी छुट्टी ले ली।

मैं और मोनिका साथ में बैठ कर बात कर रहे थे मां ने हमारे लिए खाना बना दिया था और मां कहने लगी कि बेटा तुम लोग खाना खा लो। हम सब लोगों ने साथ में लंच किया और काफी देर तक हम लोग साथ में बैठे रहे फिर हम लोग अपने रूम में चले आए मैंने मोनिका से पूछा कि क्या तुम्हें मेरी याद भी आती है। मोनिका मुझे कहने लगी की गौरव मुझे तुम्हारी बहुत याद आती है और कई बार मुझे लगता है कि मैं अपनी जॉब छोड़ कर तुम्हारे पास ही रहने के लिए आ जाऊं। मैंने मोनिका से कहा देखो मोनिका यहां पापा और मम्मी को भी तुम्हारी जरूरत है और तुम जॉब छोड़ कर भी क्या करोगी। मोनिका भी सरकारी विभाग में नौकरी करती है और हम दोनों साथ में बैठ कर बात कर रहे थे मैंने मोनिका को कहा क्या तुम अपने मम्मी पापा से भी नहीं मिली हो। मोनिका कहने लगी कि मैं मम्मी पापा से मिलने के लिए गई थी और वहां मैं एक दिन ही रुक पाई मम्मी पापा मुझसे मिलने के लिए आ जाया करते हैं क्योंकि तुम्हें तो पता है कि ऑफिस से छुट्टी लेना कितना मुश्किल होता है सिर्फ संडे का ही एक दिन मिलता है उस दिन मैं मम्मी पापा से मिलने के लिए चली जाया करती हूँ।

मैं मोनिका के साथ बात कर रहा था मैंने उसके मोनिका स्तनों पर हाथ लगाया तो मोनिका कहने लगी क्या आज तुम्हें मेरे साथ सेक्स करने का मन है? मैंने मोनिका को कहा काफी दिन हो गए हैं तुम्हारे साथ सेक्स नहीं किया है। मोनिका भी अब इतनी ज्यादा गरम हो चुकी थी कि वह मेरी गोद में आकर बैठी। हम लोगों ने अपने कमरे के दरवाजे को बंद कर दिया मैंने मोनिका से कहा तुम अपने कपड़े उतार दो। उसने अपने कपड़े उतारे वह मेरे सामने नंगी लेटी हुई थी। मै उसके नंगे बदन को देखकर अपने लंड को हिलाए जा रहा था। मैं उसके बदन को महसूस कर रहा था तो मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था। मैंने उसके बदन की गर्मी को इस कदर बढ़ा दिया था कि वह अपने आपको बिल्कुल भी ना रोक सकी और मेरे लंड को मुंह में लेने लगी। उसे मेरे लंड को चूसने में बहुत मजा आता है उसने लंड को अपने गले तक ले लिया था और वह मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी जैसे कितने दिनों से मेरे लंड के लिए वह तड़प रही हो। मैंने भी उसकी चूत के अंदर अपनी उंगली को घुसाना शुरू किया मैंने उसके स्तनों को बहुत देर तक चूसा जिससे कि उसके अंदर की गर्मी भी अब बढ़ती जा रही थी। उसके स्तनों का रसपान करने में मुझे बहुत ही मजा आ रहा था और उसके स्तनों से निकलते हुए दूध को मैंने अपने अंदर ही समा लिया। मैंने अब अपनी जीभ को मोनिका की चूत पर लगाया तो मोनिका मुझे कहने लगी मुझे इतना मत तड़पाओ मै बिल्कुल भी नहीं रह पा रही हूं। मैंने उसकी चूत पर अपने लंड को लगाया मैंने जब मोनिका की चूत पर अपने लंड को लगाया तो उसकी चूत से गर्म पानी बाहर की तरफ आने लगा। उसकी चूत इतनी ज्यादा गीली हो चुकी थी कि मेरा लंड उसकी गीली हो चुकी चूत के अंदर आसानी से चला गया। मेरा लंड मोनिका की चूत के अंदर जा चुका था वह बड़ी तेजी से चिल्लाई और मुझे कहने लगी अब तुम मुझे ऐसे ही धक्के मारते रहो।

मैंने उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख लिया और उसे बड़ी तेज गति से मैं धक्के देने लगा। उसकी चूत मार कर मैं इतना ज्यादा खुश हो गया था कि वह मुझे कहने लगी गौरव आज मैं तुम्हारे साथ एनल सेक्स करना चाहती हूं? मैं इस बात से खुश हो गया था क्योंकि मैंने मोनिका के साथ कभी भी एनल सेक्स नहीं किया था और हम दोनों कुछ नया ट्राई करना चाहते थे। मैंने मोनिका की चूत के मजे बहुत देर तक लिए उसकी चूत के अंदर ही मैंने अपने वीर्य को गिरा दिया। मैंने अपने लंड पर तेल की मालिश की जब मेरा लंड पूरी तरीके से चिकना हो चुका था तो मैंने मोनिका की गांड के अंदर भी तेल की कुछ बूंदों को डाल दिया जिस से कि उसकी गांड की चिकनाई बढ़ चुकी थी। उसकी गांड की चिकनाई इतनी ज्यादा बढ़ चुकी थी कि वह मुझे कहने लगी मैं तुम्हारे लंड को अपनी गांड के अंदर लेना चाहती हूं। मैंने भी मोनिका की गांड के अंदर अपने लंड को प्रवेश करवा दिया मोनिका की गांड के अंदर मेरा लंड जा चुका था मोनिका बहुत ही ज्यादा चिल्ला रही थी।

मैंने मोनिका की गांड के अंदर बाहर अपने लंड को करना शुरू किया जब मोनिका की गांड के अंदर बाहर मेरा लंड हो रहा था तो वह मुझसे चूतडो को टकरा रही थी। वह जिस प्रकार से मेरा साथ देती उसे और भी ज्यादा मजा आ रहा था। मैंने उसे कहा मुझे तुम्हारे साथ सेक्स करने में बहुत मजा आ रहा है मोनिका भी अपनी चूतडो को टकरा रही थी और मैं भी अपने मोटे लंड को मोनिका की गांड के अंदर डाल रहा था। मेरा मोटा लंड मोनिका की गांड के अंदर बाहर हो रहा था जिसके बाद मोनिका की गांड से कुछ ज्यादा ही गर्मी बाहर की तरफ से निकलने लगी मैं उसकी गर्मी को बिल्कुल भी बर्दाश्त ना कर सका और मेरे अंदर से मेरा वीर्य बाहर की तरफ को निकलने लगा था। मेरा वीर्य जैसे ही बाहर की तरफ गिरा तो मैंने मोनिका से कहा आज तो मुझे मजा ही आ गया। मोनिका के साथ सेक्स कर के मुझे बहुत ही मजा आया। घर पर कुछ दिन तक मैने मोनिका के साथ एनल सेक्स किया अब मैं वापस चेन्नई लौट आया था।


Comments are closed.