पहले प्यार का पहला अहसास-2

Pahle pyar ka pahla ehsas 2:

indian sex stories

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग ? दोस्तों मैं आज अपनी कहानी पहले प्यार का पहला अहसास  2 लेकर आया हूँ | दोस्तों मैं उम्मीद करता हूँ की आप लोगो को मेरा पहला भाग पसंद आया होगा और दोस्तों आप लोगो को इस कहानी में बहुत मज़ा आने वाला है क्यूंकि मैं अब आप लोगो को बताने वाला हूँ की मैंने कैसे मीना को अपना बनाया था |

दोस्तों मैं आप लोगो को उस भाग में बता रहा था की जब रात को मीना मेरे बुलाने पर आ गयी तो मैंने उसे अपने दिल की बात बोल दी और उसे अपने सिने से लगा लिया था | अब इसके आगे ?

मैं मीना को अपने सिने से लगा लिया और बोला मीना मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और मैं तुम्हे ऐसे ही अपने सिने से लगा के रक्खूँगा |

मीना – सिवांक मैं भी तुमसे बहुत प्यार करती हूँ मगर बताने से डरती थी | इ लव यू सिवांक ?

मैं – लव यू टू मीना ?  मैं उसे अपनी सिने से लगाये हुए था |

हम दोनों ऐसे ही कुछ देर तक एक दुसरे से लिपटे रहे और बाते करते रहे | फिर मीना ने मुझसे कहा मैं जाती हूँ नही भाभी ऊपर आ जाएँगी क्यूंकि मैं उनसे बता कर आई हूँ |

मैं – ठीक है जाओ पर एक किस दो फिर जाओ |

मीना – नही जी मुझे सर्म आती है |

मैं – यहाँ कौन है एक ही किस की तो बात है |

मीना – पर मुझे डर लगता है यहाँ किसे ने देख लिया तो ?

मैं – चलो कमरे में चलते हैं ?

मीना – हाँ ठीक है |

फिर मैं और मीना कमरे में गए और मीना ने मेरे गाल पर एक किस किया और बोली अब मैं जाती हूँ ?

मैं – क्या मीना तुम भी बच्चो की तरह गाल पर किस करके जा रही हो |

मीना – तो कहाँ करूँ ?

मैं – होठो पर एक लम्बी सी किस करो ?

मीना – नही मुझसे नही होगा मैं जाती हूँ |

मीना ये कहती हुई कमरे से जाने लगी तो मैंने उसे पीछे से पकड कर खीच लिया और अपने एक हाथ को उसके कमर में डाला और उसको अपनी और खीच लिया फिर उसको पकड के बेड पर गिरा लिया और अपनी होठो को उसकी होठो पर रख दिया |

दोस्तों मैंने जैसे ही अपनी होठो को उसकी होठो पर रक्खा तो उसके दिल की धडकने एकदम तेज हो गयी और उसकी सांसे जोरो जोरो से चलने लगी |

मैं उसकी होठो को धीरे से अपनी मुंह में रख लिया था और चूसने लगा | दोस्तों वो बहुत डर सी गयी थी और मुझे पीछे धक्का देकर बेड से उठी और भागते हुए डोर खोला और नीचे चली गयी |

फिर मैं उसके बारे मैं सोचते हुए लेटा रहा और कुछ ही देर बाद सो गया |  जब सुबह हुआ तो मैं उठा और छत पर कुछ देर तक इधर उधर घूमता रहा | फिर नीचे गया और ब्रस किया फिर मीना मेरे लिए चाय लेकर आई | जब वो मुझे चाय देने लगी तो मैंने इधर उधर देख तो कोई नही था और मैंने उसके हाथ को पकड लिए और कहा तुम भी बैठो और मेरे साथ ची पियो |

दोस्तों तब मीना मुझसे बोली तुम अपनी काफ मैं ची छोड़ देने मैं पी लुंगी और हाँ सबके सामने ऐसे मत किया करो नही कोई क्या सोचेगा | मैं हाँ और वो चली गयी | फिर ऐसे ही धीरे धीरे दिन निकल गया और फिर रात हो गयी | जब रात हो गयी तो सब लोग खाना खाने के बाद रोज की तरह टीवी देखने लगे और मैं भी बैठ कर टीवी देखने लगा मैं टीवी देख रहा था |

फिर कुछ देर बाद मेरी नज़र मीना की तरफ गयी तो मैंने देखा की वो मुझे ही देख रही थी | तब मैंने उसकी तरफ इशारा किया और फिर कुछ देर बाद मैं छत पर चला गया | मेरे छत पर आने के 1 घंटे बाद वो भी आई | जब वो छत पर आई ओत मैं और मीना बाहर ही बैठ कर बात करने लगा और ऐसे ही बात करते हुए काफी समय निकल गया | तब मीना मुझसे बोली मैं जाती हूँ काफी टाइम हो रहा है |

तब मैंने मीना से कहा मुझे बिना किस किये ही चली जाओगी | वो बोली हाँ जरुरी थोड़े है किस करना | मैं हाँ जरुरी है तो मीना बोली चलो ठीक है मैं तुम्हे बिना किस किये नही जाउंगी पर ये बताओ यहाँ हो तो किस करोगे जब तुम अपने घर चले जाओगे तब |

मैंने कहा तब क्या कुछ नही | फिर वो बोली ठीक है मैं जाती हूँ और आप भी सो जाओ बहुत टाइम हो रहा है | वो ये करती हुई जानते लगी तो मैंने उसे पकड कर दिवाल से सटा दिया और उसके बालो को सवारते हुए उसको चेहरे को पकड़ा और उसकी होठो को अपने मुझे मुंह रख लिया और 5 मिनट तब मैं उसकी होठो को चूसता रहा और वो मेरी होठो को चूसती रही फिर वो चली गयी |

दोस्तों ऐसे ही काफी दिनों तब मैं और मीना मिलते रहे | उसके कुछ दिनों के बाद की बात है | जब मीना मुझे रात मैं मिलने आई तो मैंने उस रात उसको चोदने का प्लान बनाया और उसे बेड पर बैठा दिया | फिर मैं उसके पास बैठ गया और उससे बात करते हुए उसको लेकर बेड पर लेट गया |

फिर मैं उसको चेहरे को पकड कर बोला कितनी प्यारी लग रही है मेरी जान |

मीना – आप कितने अच्छे हो ?

मैं – मीना सच्ची में ?

मीना – हाँ |

मैं – मीना लव यू कहते हुए उसके बूब्स को पकड लिए और मैंने जैसे ही उसके बूब्स को पकड़ा तो उसके चेहरे पर हँसी आ गयी |

मैं उसके चेहरे पर हँसी देखकर बोला या मेरे खुदा तुम मेरी जान को हमेशा ऐसे ही खुश रखना |

दोस्तों मेरे मुंह से ये बात सुनते ही वो रोने लगी और बोली आप मुझे कभी छोड़ कर मत जाना मैं जी नही पाऊंगी मर जाउंगी |

मैं – कभी नही मेरी जान तुम बस ऐसे ही खुश रहना तुम हँसती हुई बहुत अच्छी लगती हो |

फिर मीना एक सेक्सी स्माइल करती हुई बोली हाँ | तब मैंने उसकी होठो को मुंह में रख लिया और धीरे धीरे चूसने लगा | वो मेरी होठो को चूसने लगी | मैं और मीना एक दुसरे को ऐसे ही 5 मिनट तक किस करते रहे |

मैं फिर उससे बोला मीना अपने बूब्स दिखाओ मुझे ?

मीना – नही ?

मैं – क्यूँ ?

मीना – तुम कुछ करोगे ?

मैं – सच्ची मीना कुछ नही करूँगा ?

मीना – ठीक है पर कुछ मत करना |

मैं – हाँ नही करूँगा सच्ची यार |

मीना – सच्ची ?

मैं – नही मत दिखाओ अब मुझे नही देखना है तुम जाओ ? मैं नज़र होने का नाटक करने लगा और दोस्तों उसे लगा मैं सच मैं नज़र हो गया हूँ तो वो मुझे मनाने लगी और मैं नज़र होने का नाटक करता रहा | जब मैं नही माना तो उसने अपने कपडे निकाल दिए और रोने लगी | दोस्तों सच्ची उसे रोते देख मुझे रहा नही गया और मैंने उसके अंशु पोछे और बोला तुम रोती हुई बिलकुल अच्छी नही लगती हो |

मीना – हाँ पर तुम ही मुझे रूला देते हो |

मैं – सॉरी जान कान पकड़ता हूँ आज के बाद कभी नही रुलाऊंगा सच्ची ?

फिर हम दोनों हसंते हुएएक साथ बेड पर लेट गए और फिर एक दुसरे को किस करने लगे | दोस्तों उसने अपनी कुर्ती निकाल दी थी जिससे उसके गोल मटोल बूब्स दिख रहे थे और मैं उनको देखते हुए बोला यार इनको दिखाओ न |

तब उसने अपने कमीज को ऊपर किया जिससे उसके बूब्स मेरे सामने आ गए | दोस्तों क्या बूब्स थे एकदम गोल मटोल मैं तो देखते ही रह गया और सब मैंने उनको हाथ में पकड़ा तो मुझे उसके बूब्स बहुत सॉफ्ट लगे | मैं उसके बूब्स को हाथ में पकड कर सहलाते हुए अपने धीरे हाथो से दबा दिए जिससे वो मचल गयी और मुझे कस के पकड लिए |

दोस्तों मैं उसके एक बूब्स को पकड कर कुछ देर तक सहलाने के बाद उसको दोनों बूब्स को दबाने लगा और दबाते हुए उसके बूब्स मुंह में रख लिया और चूसने लगा मैं जैसे ही उसके बूब्स को मुंह में रक्ख को उसके मुंह से उह उह्ह आह औच की सिसिकियाँ निकाल गयी |

मैं उसके दोनों बूब्स को एक एक करके मुंह में रख कर चूसने लगा और वो मेरे सर को पकड कर आ आ आ आ…. उह उह उह… उई उई.. औच … करती हुई चूसाने लगी | दोस्तों वो मेरा साथ दे रही थी और मैं उसको बूब्स को दबाता हुआ चूस रहा था |

दोस्तों मैं इसके आगे की कहानी आप लोगो को भाग 3 में बताऊंगा |

मैं उम्मीद करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी और मज़ा तो जरुर आया होगा | दोस्तों आप लोग मेरी कहानी का पूरा मज़ा ले और मैं अगली बार अपनी कहानी को पूरा जरुर करूँगा | धन्यवाद |


Comments are closed.