नेहा को उसके जन्मदिन पर चोद कर दिया अनमोल तोहफा

Neha ko usake janmadin par chod kar diya anmol tohfa:

girlfriend ki chudai हेलो दोस्तों मेरा नाम शिवम है | मैं आज फिर से आप लोगो के मनोरंजन के लिए एक अपनी सच्ची कहानी को लेकर हाज़िर हूँ | मैं रहने वाला कोलकाता का हूँ | मैं दिखने में गोरा हूँ और मैं जिम भी करता हूँ जिससे मेरी बॉडी भी ठीक ठाक है | दोस्तों नेहा मेरी गर्लफ्रेंड है और मैं उसे उसके घर में उसे बहुत बार चोद चूका हूँ | हम दोनों मौका मिलने पर सेक्स कर लेते हैं | मैं आप लोगो को नेहा के बारे में बता देता हूँ | वो दिखने में गोरी है और उसका मस्त सेक्सी फिगर है जिसको देख कर कोई भी लड़का पागल हो जाये | ये जो मैं कहानी आप लोगो के सामने प्रस्तुत करने जा रहा हूँ | ये उसके जन्मदिन की है जब मैंने उसके जन्मदिन पर उसे चोद कर एक अनमोल तोहफा दिया था | मुझे उम्मीद है की अब लोगो को ये कहानी पढने में मज़ा आयेगा |

ये कहानी अभी 1 महीने पहले की है जब उसका जन्मदिन था | दोस्तों उसके जन्मदिन के 5 दिन पहले उसकी मम्मी ने मुझे घर के काम से बुलाया था | मैं उस दिन उसके घर गया तो उसकी मम्मी ने मुझसे कहा बेटा नेहा का जन्मदिन भी आ रहा है | इसलिए घर पर बहुत काम है | तुम भी थोडा बहुत काम करा लो | उस दिन मैं नेहा के घर की साफ सफाई करने के लिए सोचने लगा | तभी नेहा बोली क्या सोच रहे हो |

मैं तुम बताओ घर की सफाई करनी है या नही वो बोली धीमी आवाज में बोली मेरे राजा मम्मी ने कहा है तो करना ही पड़ेगा | नेहा कहने लगी तुम मेरे साथ में रहो मैं सफाई करती हूँ और तुम मुझे देखो | हम दोनों बात कर ही रहे थे की नेहा की मम्मी आ गयी | मैं टेबल पर चढ़ गया और पंखे को साफ करने लगा |

मैंने उस दिन उसके घर की सफाई करने के बाद बोला की नेहा मुझे क्या मिलेगा | वो बोली तुम्हे नही मुझे क्या मिलेगा | मैं बोला काम तुमने किया है या मैंने तो वो बोली जन्मदिन मेरा है या तुम्हारा | हम दोनों ऐसे ही बात करने लगे | फिर मैं अपने घर चला गया | दोस्तों मेरा घर नेहा के घर से 8 किलोमीटर दूर है |

उसके दुसरे दिन की बात है जब नेहा की मम्मी ने मुझे फ़ोन किया और बोली की बेटा कहाँ हो | मैंने आंटी को बताया की मैं मार्केट में हूँ | तब आंटी ने मुझे कुछ सामन उनके घर पहुँचाने को कहा | फिर आंटी ने मुझे उस दुकान का नाम बताया | मैं उस दुकान पर गया और सामन लेकर उनके घर देने गया | नेहा मुझे देखकर इशारे में बोली छत पर आओ | मैं सामन घर में रखवाने के बाद सीधा छत पर गया | छत पर एक छोटा सा कमरा बना है | नेहा मुझे उस कमरे में ले गयी और बोली की मम्मी तुम्हे कुछ ज्यादा नही मान रही है | मैंने भी कह दिया अगर अपने होने वाले दामाद से नही बोलेंगी तो किस बोलेंगी |

फिर नेहा ने मेरे शार्ट के कालर को पकड कर मुझे अपनी और खीच लिया और मेरी होठो पर अपनी होठो को रख कर किस करने लगी | मेरा लड़ पैंट में खड़ा हो गया | मैं उसकी होठो को चूसने के साथ में उसके मस्त चिकने बूब्स को दबाने लगा | मैं उसके साथ कमरे में 5 – 6 मिनट तक उसको किस करता रहा और उसके बूब्स को दबता रहा | उसकी चूत गीली हो गयी थी | फिर वो कमरे से बाहर निकली और अपने कपडे सही किये | मैंने उसे बताया अपने बाल सही करे उसके बाल भी खराब हो गए थे | तब उसने अपने बाल सही किये और नीचे चली गयी | मैं भी छत से नीचे आया और अपने घर चला गया |

फिर जन्मदिन के दिन मुझे नेहा और उसकी मम्मी दोनों ने फ़ोन किया और बोली की बेटा जल्दी आना | मैं उस दिन देर में गया था क्यूंकि उस दिन मुझे भी थोडा काम था |  जब मैं वहां पंहुचा तो वहां सब तैयरी हो गयी थी | उसके कुछ देर बाद में ही नेहा ने केक काटा और हम सब लोगो ने उसे विश किया | मैंने फिर आंटी से कहाँ आंटी देर हो जाएगी मे जाता हूँ |

पर आंटी जिद करने लगी की डिनर करके ही जाओगे | तब मैं मान गया और डिनर करने के लिए रुक गया | तब आंटी ने नेहा से मुझे खाना देने के लिये कहाँ | जब नेहा मुझे खाना खिला रही थी तो उसने मुझसे कहाँ तुमने मुझे गिफ्ट नही दिया | मैं बोला की तम्हे कैसा गिफ्ट चाहिए बोलो | वो बोली कुछ ऐसा जो हमेशा याद रहे कोई अनमोल गिफ्ट |

फिर मैंने सोचा ठीक है अभी प्लान बनता हूँ | मैं कुछ देर खाना खाने के बाद बोला की आंटी में जा रहा हूँ | आंटी बोली बेटा रात ज्यादा हो गयी है | तुम ऐसा करो यहीं रुक जाओ और सुबह चले जाना | फिर क्या था मैं मन में बहुत खुश हुवा और रुकने के लिए तैयर हो गया | मैंने नेहा से कहा आज तुम्हरे जन्मदिन को यादगार बनते हैं | पर घर में सबके होते हुए तो नही हो पायेगा | वो समझ गयी की मैं क्या चाहता हूँ | उसने सबके सोने का प्लान बना दिया और सबको सुला दिया | उसने सबके लिए चाय बनाई और चाय में नीद की गोली मिला कर सुला दिया |

कुछ ही देर में सबके नीद लगने लगी सब लोग सोने चले गए | फिर नेहा ने घर की लाईट बंद की और हम दोनों छत वाले कमरे में चले गए | हम दोनों छत वाले कमरे में जाने के बाद नेहा ने कमरे को अन्दर से बंद कर लिया | मैंने नेहा को अपनी बाँहों में भर लिया और उसकी होठो पर अपनी होठो को रख दिया | मैं उसकी होठो को मुंह में रखकर चूसने लगा | वो भी मेरी होठो को चूसने के साथ में मेरी पीठ को सहलाने लगी | मैं उसकी रसीली होठो को चूसने के साथ में उसके बूब्स के निप्पल को कपडे के ऊपर से अपनी ऊँगली से मसलने लगा | मैं उसकी होठो को मुंह में रख कर चूस रहा था | वो मेरी होठो को चूस रही थी | मैं उसकी होठो को 5 मिनट तक चूसता रहा | फिर मैंने उसके कपडे निकाल दिया | वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गयी | मैं उसके एक दूध को ब्रा के ऊपर से मुंह में रख लिया और चूसने लगा | वो मेरे सर को कस के पकड लिया और अपने दूध को चुसाने लगी | नेहा गर्म हो गयी थी और मेरे लंड को पैंट के ऊपर से सहला रही थी | मैं उसके दूध को चूसने के साथ में उसकी ब्रा का हुक भी खोल दिया |

मैं उसके दोनों दूधो को हाथ में पकड कर दबाने लगा जिससे नेहा सेक्सी आवाज करने लगी | मैं उसके दोनों दूधो को दबाते हुए उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा | मैं उसके गोल चिकने दूध को मुंह में रख कर चूस रहा था | मैं उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूस रहा था और दुसरे वाले दूध के निप्पल को ऊँगली से मसल रहा था | नेहा अब पूरी तरह से गर्म हो गयी थी और ऊ ऊ ऊ ऊ.. आ आ आ आ… ह ह ह ह ह… उई उई उई माँ…. की सिसिकियाँ ले रही थी | मैं उसके बूब्स को ऐसे ही 5 मिनट तक चूसता रहा | फिर नेहा ने मेरे भी कपड़ो को निकाल दिए और मेरे लंड को अपने हाथ में पकड कर हिलाने लगी | वो मेरे लंड को अपने हाथ में पकड कर हिलाती हुई अपने मुंह मे रख कर चूसने लगी | वो मेरे लंड को मुंह में रख कर चूसने लगी | नेहा घुटनों के बल बैठ कर मेरे लंड को चूस रही थी | मैं अपने लंड को उसके मुंह में रख कर चूसाने लगा | मैं अपने लंड को कुछ देर तक ऐसे ही चूसाता रहा | फिर उसके सर को पकड कर उसके मुंह में धीरे धीरे अन्दर बाहर करते हुए उसके मुंह को चोदने लगा | मैं उसके मुंह को ऐसे ही 5 मिनट तक चोदता रहा | फिर अपने लंड को उसके मुंह से निकाल लिया |

अब मैंने नेहा को अपन बाहों में उठ कर वहीँ पर लेटा दिया और उसकी टांगो को फैला कर उसकी चूत में अपने मुंह को घुसा कर उसकी चूत को चाटने लगा | नेहा मस्त सेक्सी आवाज में अह अह हा…. अ अ अ अ…. ह ह ह ह…ऊ ऊ ऊऊ उ… आ आ आ आ… की आवाजे करने लगी | मैं उसकी चूत को चाटने के साथ उसकी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा दी जिससे उसकी आवाजे और तेज हो गयी | मैं उसकी चूत को ऐसे ही 3 -4 मिनट तक चाटने के बाद में | मैंने उसकी चूत के ऊपर लंड को रख कर उसकी चूत में लंड को घुसा दिया | वो अपने बूब्स को कस के पकड कर चुदने लगी | मैं उसकी चूत में जोरदार धक्को के साथ अंदर बाहर करने लगा | मैं उसकी चूत में लंड को जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा | मैं उसको कुछ देर तक ऐसे ही चोदता रहा | फिर उसकी चूत से लंड को निकाल कर नीचे लेट गया | नेहा मेरे लंड के ऊपर अपनी चूत को रख का बैठ गयी और ऊपर नीचे होती हुई चूसने लगी | मैं उसकी कमर को पकड कर नीचे से जोरदर धक्के मारने लगा | जिससे धक्को की आवाज कमरे में गूंजने लगी | मैं उसको ऐसे ही 15 मिनट तक जोरदार धक्को के साथ उसको चोदता रहा |  फिर मैं झड़ गया वो भी झड़ चुकी थी |

मैं उसको अपनी बाँहों में भर कर लेट गया और किस करने लगा | मैं उसको कुछ देर तक किस करने के बाद में मैंने अपने कपडे पहन लिये | नेहा ने अपने कपडे पहने फिर उसने अपने मुंह को घुला और बाल सही किये फिर वो नीचे चली गयी | मैं ऊपर ही कुछ देर तक बैठा रहा | फिर जाकर उसके पास वाले कमरे में सो गया |

धन्यवाद……


Comments are closed.