नई जिंदगी की शुरुआत

Nayi zindagi ki shuruaat:

indian sex stories, kamukta मैं मुंबई में रहता हूं रोहित से मेरी दोस्ती मुंबई में ही हुई मुझे मुंबई में आए हुए 5 साल हो चुके हैं मैं मुंबई में जॉब करता हूं और रोहतक का रहने वाला हूं, मुंबई में मुझे एक अच्छी कंपनी में जॉब मिली तो मैंने मुम्बई में जॉब करने का फैसला कर लिया और अब मैं मुंबई में ही सेटल होना चाहता हूं। हमारे पड़ोस में रोहित रहता हैं रोहित से मेरी दोस्ती बहुत अच्छी है उसे जब मैं पहली बार मिला था तो मुझे बहुत अच्छा लगा था और धीरे-धीरे हम दोनों के बीच बहुत गहरी दोस्ती हो गई क्योंकि रोहित मेरे पड़ोस में रहता है इसलिए मुझे उसके बारे में सब कुछ पता चल जाता है। कुछ समय से रोहित बहुत ज्यादा परेशान चल रहा था मैंने रोहित से परेशानी का कारण पूछा तो वह मुझे कुछ बताता ही नहीं था।

मेरा उसके घर पर आना जाना लगा रहता था वह अपनी पत्नी और अपने माता-पिता के साथ रहता हैं लेकिन उसकी पत्नी शिखा का व्यवहार कुछ ठीक नहीं है और वह रोहित के प्रति बिल्कुल भी वफादार नहीं है शायद रोहित को इसी बात का दुख सता रहा था लेकिन वह यह बात किसी को बताना नहीं चाहता था। एक दिन जब मैं रोहित से मिलने के लिए उसके घर पर गया तो मुझे एहसास हुआ कि रोहित और शिखा के बीच कुछ ठीक नहीं चल रहा मैंने रोहित से इसका का कारण पूछा तो रोहित कहने लगा यार तुम्हें क्या बताऊं अब तुम इस बारे में ना ही पूछो तो ज्यादा ठीक रहेगा। मैंने उससे पूछा और कहा तुम मुझसे अपनी किसी बात को शेयर नहीं करोगे तो तुम अंदर ही अंदर घुटते रहोगे और इसी वजह से उसने मुझसे शिखा के बारे में बताया। रोहित मुझे कहने लगा यार तुम्हें तो मालूम है कि मेरी शादी शिखा के साथ मेरे माता-पिता ने करवाई और अब हम दोनों के बीच कुछ ठीक चल रहा था। एक बार जब मैंने उसके फोन पर देखा तो वह किसी लड़के से बात कर रही थी मेरे कई बार पूछने पर उसने मुझे जवाब नहीं दिया और उस दिन के बाद मैं बहुत ज्यादा दुखी हो गया और मैंने शिखा से बात करना कम ही कर दिया था। मुझे क्या मालूम था शिखा उस लड़के के साथ प्यार करती है यदि वह मुझे पहले ही यह सब बता देती तो शायद मैं उससे शादी नहीं करता उसकी नासमझी की वजह से मुझे अब यह सब भुगतना पड़ रहा है।

मुझे इस बारे में कुछ पता नहीं था लेकिन जब रोहित ने उस दिन मुझे अपने और शिखा के बारे में यह बात बताई तो मैं पूरी तरीके से चौक गया मैंने रोहित से कहा तुमने तो मुझे कभी यह बात नहीं बताई रोहित मुझे कहने लगा यार तुम्हें कैसी यह बात बताता मैं तो कुछ समझ ही नहीं पा रहा था कि मुझे आखिरकार ऐसे में क्या करना चाहिए। मैंने रोहित से कहा तुम एक बार शिखा से बात करो और उसे समझाने की कोशिश करो वह मुझे कहने लगा मैंने तो कई बार शिखा को समझाने की कोशिश की है लेकिन उसकी तो कुछ समझ में आता ही नहीं है और वह मुझे किसी भी बात का जवाब नहीं देती मैं बहुत परेशान हो चुका हूं। जब रोहित ने मुझसे यह बात कही तो मुझे लगा मुझे रोहित की मदद करनी चाहिए और मैंने सिखा से एक दिन इस बारे में बात की उस दिन मुझे शिखा कहने लगी मैं जिस लड़के से प्यार करती थी मेरे माता-पिता उससे मेरी शादी नहीं करना चाहते थे और फिर मैंने रोहित से शादी करने के लिए हामी भर दी लेकिन मेरा दिल कभी भी रोहित के साथ शादी करने के लिए तैयार नहीं था। मैंने शिखा से कहा यदि तुम्हे शादी नहीं करनी थी तो तुम अपना फैसला खुद ले सकती थी क्योकि इससे रोहित की जिंदगी बर्बाद हो रही है और उसके काम पर भी असर पड़ रहा है। मैंने शिखा को बहुत समझाया लेकिन उसे कुछ समझ नहीं आया वह तो सिर्फ मुझसे यही कह रही थी कि मैं अब इस रिश्ते को ज्यादा आगे तक नहीं ले जा सकती। मैं समझ चुका था कि रोहित और शिखा का रिश्ता ज्यादा समय तक नहीं चल पाएगा और हुआ भी ऐसा ही कुछ समय बाद उन दोनों ने तलाक के लिए कोर्ट में अर्जी दे दी उसके बाद शिखा रोहित से अलग रहती थी। रोहित बहुत उदास था मैं उसे कभी भी उससे शिखा के बारे में बात नहीं करता था बाद में मुझे पता चला की शिखा ने उस लड़के से शादी कर ली है जिससे कि वह प्यार करती थी शिखा की इस बेवफाई को शायद रोहित सह नहीं पाया और अब वह घर पर ही बैठा रहता था।

ना तो वह किसी से मिलता और ना ही वह कहीं बाहर जाता था इस बात को 3 महीने से ऊपर हो चुके थे मैंने रोहित को कई बार समझाने की कोशिश की लेकिन वह मेरी बात सुनने को तैयार नहीं था इसलिए मैंने एक दिन रोहित से कहा तुम मेरे साथ मेरे घर चलो। रोहित पहले मना कर रहा था लेकिन मैंने उसे अपनी दोस्ती का वास्ता दिया और फिर वह मेरे साथ मेरे घर आ गया जब रोहित मेरे साथ मेरे घर आया तो उसे वहां पर अच्छा लग रहा था उस दिन पहली बार ही वह मेरे घर पर आया था। रोहित मेरे घर पर पहली बार ही आया था तो मैंने उसे अपने माता पिता से मिलवाया कुछ दिनों तक हम लोग रोहतक में रहे लेकिन रोहित ने मुझे कहा यार कहीं घूमने चलते हैं मैंने रोहित से कहा एक काम करते हैं हम लोग मनाली चलते हैं। हम दोनों ने बाइक में चलने का फैसला किया और हम दोनों वहां से बाइक से मनाली गए रोहित को अच्छा लग रहा था और परेश भी बहुत खुशी थी कि कम से कम मेरी वजह से रोहित के चेहरे पर कुछ खुशी तो आई है। हम दोनों का सफर बड़ा ही अच्छा रहा रोहित मुझसे पहले की तरह बात कर रहा था उसके चेहरे की खुशी इस बात को बयां कर रही थी की टेंशन शायद दूर हो चुकी थी मैं और रोहित मनाली पहुंच गए हम दोनों जब मनाली पहुंचे तो हम दोनों ने वहां पर खूब एंजॉय किया। कुछ समय तक हम लोग मनाली में रुके मेरा तो मन मनाली से वापस आने का हो ही नहीं रहा था और ना ही रोहित का मन हो रहा था।

तब उसी दौरान मुझे मेरा दोस्त मिला मैं जब उससे इतने सालों बाद मिला तो वह मुझे कहने लगा अरे तुम आज यहां कैसे आए। मैंने उसे कहा मैं तो ऐसे ही यहां घूमने आ गया था मैंने रोहित को अपने दोस्त से मिलवाया और रोहित से कहा की यह यहीं का रहने वाला है मैंने उसे कहा तुम यहां पर क्या कर रहे हो? वह कहने लगा मैंने यहां पर एक प्रॉपर्टी ली है और अब मैं उसे ही यहां पर चला रहा हूं। मैंने उसे कहा यदि मुझे पहले पता होता तो मैं तुम्हारे यहां पर ही रुक जाता उसके बाद वह जिद करने लगा और कहने लगा तुम्हें अब यहीं रुकना होगा मैंने उसे कहा ठीक है हम लोग तुम्हारे पास रुक जाते हैं। हम लोग उसके रिजॉर्ट में रहे जब हम लोग उसके रिजोर्ट में गए तो वहां पर काफी भीड़ थी मैंने अपने दोस्त से कहा तुम्हारा काम तो अच्छा चल रहा है वह कहने लगा हां यार बस इतनी मेहनत की है तो अब काम अच्छा चलना ही चाहिए नहीं तो काम करने का कोई फायदा नहीं है। मैं और रोहित उसके रिजॉर्ट में आकर खुश थे उसने रात को वहां पर एक लाइव प्रोग्राम रखा था तो हम लोग भी वहां पर बैठे हुए थे। हम तीनों ही साथ में थे रोहित को यह सब अच्छा लग रहा था और हम लोग गाने का इंजॉय कर रहे थे जो लड़का गाना गा रहा था उसकी आवाज में दम था। हम तीनों ने उस रात को एंजॉय किया लेकिन एक बात अच्छी रही कि उस प्रोग्राम के दौरान मुझे एक लड़की से बात करने का मौका मिला और वह भी वही रुकी हुई थी उसका नाम मीना है। मैं उससे मिलकर बहुत खुश था मैंने मीना से कहा क्या हम लोग अकेले मे बात कर सकते हैं मीना मेरे साथ रूम में आ गई हम लोग आपस में बात करने लगे।

रोहित भी वहीं बैठा हुआ था लेकिन रोहित मीना के साथ बात नहीं कर रहा था रोहित बाहर चला गया। मेरे और मीना के बीच किस हो गया जब हम दोनों ने एक दूसरे को किस किया तो हम दोनों ही पूरी तरीके से उत्तेजित हो गए और अपने आप पर काबू ना कर सके। मैंने मीना के कपड़े उतारते हुए उसे नंगा कर दिया उसके स्तनों और उसकी ऊभरी हुई गांड को मैंने दबाना शुरू किया तो मुझे बड़ा अच्छा महसूस होने लगा और मैं ऐसा ही करता रहा। उसने मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया और सकिंग करने लगी उसे मेरे लंड को सकिंग करने में बड़ा मजा आता और वह काफी देर तक मेरे लंड को सकिंग करती रही। मैंने अपने लंड को मीना की योनि के अंदर डाल दिया जैसे ही मेरा लंड मीना की योनि में घुसा तो वह चिल्लाने लगी उसकी सिसकियां बड़ी तेज होती मै अपने लंड को उसकी योनि के अंदर बाहर कर रहा था और वह पूरे मजे ले रही थी। रोहित ने भी यह सब देख लिया मैंने मीना को अपने ऊपर आने के लिए कहा वह मेरे ऊपर आई तो मैं उसे धक्के दिए जा रहा था।

रोहित ने भी अपने लंड को मीना की गांड के अंदर डाल दिया और वह उसे धक्के मारने लगा। मीना की मादक आवाज ज्यादा ही बढ़ चुकी थी और हम दोनों ही मीना के साथ भरपूर मजे ले रहे थे। मैंने और रोहित ने उसके साथ काफी देर तक मजे लिए और हम दोनों ने ही मीना के मुंह में अपने वीर्य को गिरा दिया। मीना बहुत खुश हुए मुझे मालूम नही था कि वह एक नंबर की जुगाड़ है। उसने हम दोनों से पैसे लिए और कहा मुझे आज बहुत अच्छा लगा और वह अपनी गांड को मटकाते हुए वहां से चली गई लेकिन उसके साथ हम दोनों को बहुत मजा आया। हम दोनों ने सेक्स का भरपूर मजा लिया और हम दोनों को बहुत ही ज्यादा आनंद आया हम दोनों वापस लौट चुके थे और कुछ समय बाद हम लोग मुंबई चले गए। रोहित अपनी पत्नी शिखा के ख्याल को अपने दिमाग से निकाल चुका है और वह अपनी नई जिंदगी जी रहा है।


Comments are closed.