नौकरानी को चोद कर अपनी रखैल बनाया

Naukrani ko chod kar apni rakhail banaya:

hindi sex kahani, kamukta

आप सभी पाठको को मेरा सदर प्रणाम मेरा नाम रवनीत है और मैं जालन्धर का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 25 साल है | मैंने बी-टेक किया है और मैं एक प्राइवेट कम्पनी में जॉब करता हूँ | आज मैं आप लोगो के लिए एक सच्ची कहानी लेकर आया हूँ | मैं देखने में बहुत ज्यादा हैण्डसम तो नहीं हूँ पर दिखने में ठीक ठाक लगता हूँ | मैं रोज जिम जाता हूँ जिसकी वजह से मेरी बॉडी काफी अच्छी है | जिसके कारण लड़कियां मुझसे जल्दी इम्प्रेस हो जाती है |

आज जो कहानी मैं आप के लिए लेकर आया हूँ वो कहानी मेरी काम वाली बाई की है | मेरी काम वाली बाई का फिगर 34-28-36 था | वो देखने में बहुत ही सेक्सी लगती थी | वो जब भी मेरे घर पोछा लगाती थी तो उसके बूब्स ब्लाउस से बाहर की ओर झाकने लगते थे | जिनको देखकर मेरा लंड हमेशा खड़ा हो जाता था | मैं हमेशा उसको खड़े होकर निहारा करता था | कभी-कभी उसके बारे में याद करके मैं मुठ भी मार लिया करता था |

मैं उसको चोदना चाहता था पर सही मौका नहीं मिल पा रहा था | एक दिन की बात है मेरे घर पर कोई नहीं था | मैं अपने बाथरूम में मुठ मार रहा था | मुझे लगा की कोई बाहर खड़ा मुझे देख रहा है | मैंने जल्दी से अपना काम खत्म किया और बाथरूम से बाहर निकला मैंने देखा की नौकरानी आ चुकी थी और वो अपना काम कर रही थी | मैंने उसकी तरफ देखा तो वो मुझे देखकर मुस्कुराने लगी मैं समझ गया की वो ही मुझे देख रही थी |

अगले दिन मैंने जानबूझकर उसी टाइम पर मुठ मरना सुरु किया और बाथरूम का दरवाजा थोडा खुला छोड़ दिया | मैं जानता था की वो फिर आज देखेगी | मुझे जब मालूम हुआ की वो आ गयी है मैंने झट से दरवाजा खोल दिया वो मेरे सामने खड़ी थी मुझे देखकर वो एक दम सन्न रह गयी मैंने उससे पूछा की तुम बाथरूम में क्यूँ झाँक रही थी | तो कहने लगी की वो नहीं झाँक रही थी | तो मैंने कहा की तो तुम दरवाजे के पास क्या कर रही थी | उसने कहा की वो झाड़ू लगाने आई थी |

मैंने उसको बाँहों में भर लिया वो मुझसे छूटने की कोसिस करने लगी मैंने उसको कसकर पकड़ लिया और उसके बूब्स को दबाने लगा | वो मुझसे कहने लगी मुझे छोड़ दो साहब ये ठीक नहीं है | मैंने कहा प्लीज मुझे एक बार ये करने दो तुम जो कीमत कहोगी मैं देने के लिए तैयार हूँ | पहले तो वो नहीं मानी फिर उसने कहा की आपको 2000 रु देने होने मैंने कहा ठीक है तू 2500 ले लेना | फिर मैं उसको किस करने लगा और उसकी चुचियों को मसलने लगा वो अब कोई भी विरोध नहीं कर रही थी | मैंने उसकी साडी निकाल दी | वो ब्लाउस और पेटीकोट में और भी सेक्सी लग रही थी |

मैंने उसको उठाया और ले जाकर बेडपर पटक दिया और उसकी बूब्स को मसलने लगा | फिर मैंने उसके ब्लाउस को निकाल दिया और उसकी ब्रा भी निकाल दी | अब उसके बूब्स मेरे सामने थे मैं उनको चूसने लगा | मैं उसकी घुंडियों को मसल रहा था | वो गरम होने लगी थी | वो मेरे लंड को सहला रही थी मैंने अपना लंड खोलकर उसके मुहँ पर रख दिया | वो मेरे लंड से खेलने लगी और मेरे लंड को अपने मुहँ में लेकर चूसने लगी | मुझे बहुत आनंद प्राप्त हो रहा था | मुझे लग रहा था की जैसे मैं जन्नत में पहुँच गया हूँ | फिर मैंने उसके मुहँ को चोदना सुरु किया और उसके मुहँ में धीरे-धीरे धक्के लगाने लगा | मैंने उसकी मुहँ को 20 मिनट तक चोदा और मैं उसके मुहँ में ही झड गया | उसका पूरा मुहँ मेरे वीर्य से भर गया | वो मेरा सारा माल पी गयी |

फिर मैंने उसके बूब्स पर किस किया और उसकी नाभि पर किस करते हुए उसकी चूत तक पहुँच गया | मैंने उसका पेटीकोट निकाल दिया और उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत सहलाने लगा | वो एक दम पागल सी होने लगी | फिर मैने उसकी पैंटी निकाल दी | उसकी चूत पर बाल नहीं थे शायद आज ही बना कर आई थी | मैंने उससे पूछा की क्या तुमने झांटे आज ही साफ़ की है | उसने कहा नहीं कल साफ़ की थी | फिर मैंने उसकी चूत में अपनी एक ऊँगली डाल दी वो मचल उठी | मैंने धीरे-धीरे उँगली अन्दर-बाहर करने लगा | उसके मुहँ से अह्हह्ह् ओह्ह्ह्ह  उम्म्मम्म इस्सस  अह्ह्ह ओह्ह्ह इश्ह्ह्ह की आवाजे निकलने लगी थी | मैं और जोर से उँगली करने लगा वो थोड़ी देर बाद झड गयी |

मैंने उसकी चूत को साफ़ किया और उसकी चूत को चाटने लगा | वो मुझसे कहने लगी की कब तक तडपाओगे मुझे अब लंड डाल भी दो मैंने कहा की अभी तो बहुत कुछ करना बाकी है | फिर मैंने उसकी चूत में अपनी जीभ डाल दी | वो तड़पने लगी और कहने लगी बस करो अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है | अब अपना लंड मेरी चूत में डाल दो | मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और रगड़ने लगा फिर एक झटके में पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया उसकी चीख निकल गयी | मैंने धक्के लगाने सुरु किये और उसको चोदने लगा | वो जोर से चिल्ला रही थी चोदो मुझे और जोर से चोदो आह्ह्ह्ह उम्ह्हह्ह मजा आ रहा है फाड़ दो मेरी चूत ओह्ह्ह इश्ह्ह्ह इम्म्म्म आज तक इतना मजा मुझे मेरे पति से भी नहीं मिला | उसकी ऐसी बातें सुन कर मैंने धक्के और तेज कर दिए | पूरे कमरे में फ़च्छ फच फ़च्छ की आवाजे आ रही थी | मैंने उसकी लगभग 20 मिनट तक चूत मारी फिर वो झड गयी |

पर मेरा लंड अभी नहीं झड़ने वाला था मैंने उससे घोड़ी बनने को कहा वो मना करने लगी और कहने लगी की मैं गांड में तुम्हारा लंड नहीं लूंगी मेरी गांड फट जाएगी | तुम्हारा लंड बहुत मोटा है मैंने उसे समझाया की दर्द नहीं होगा मैं आराम से करूंगा पर वो फिर भी नहीं मानी | मैंने कहा मैं तुझको पूरे 3000 रु दूंगा पर मुझे तेरी गांड मारने दे फिर वो मान गयी | मैंने उसकी गांड पर थोडा तेल लगाया और अपना लंड उसकी गांड में डाल दिया | उसकी गांड बहुत टाइट थी मेरा लंड अन्दर नहीं घुस रहा था मैंने बहुत जोर लगाया तब जाकर मेरा लंड अन्दर घुसा | वो तड़पने लगी और कहने लगी इसे बहर निकालो मुझे बहुत दर्द हो रहा है | मैं थोडा रुका और उसकी चुचियों को सहलाने लगा | फिर मैंने और धीरे-धीरे धक्के लगाने लगा | थोड़ी देर बाद वो शांत हो गयी | अब वो भी अपनी गांड उचका कर मेरा साथ दे रही थी | मैंने उसकी कमर पकड़ी और जोर से धक्के लगाने लगा वो आह्ह्ह ओह्ह्ह्ह और जोर से मारो मेरी गांड फाड़ दो इसे कहकर चिल्ला रही थी | फिर मै उसकी गांड में ही झड गया |

मैंने उससे कहा की चलो हम साथ में नहाते है | हम दोनों बाथरूम में पहुंचे मैंने शावर सुरु किया और उसके शरीर को मसलने लगा | वो भी मेरे पूरे शरीर को सहला रही थी | मैं धीरे-धीरे उसकी चूत को सहलाने लगा और उसकी चूत में ऊँगली डाल दी वो फिर गरम होने लगी | वो अपने घुटनों पर बैठ गयी और मेरे लंड को चूसने लगी | उसने मेरा लंड चूसकर फिर खड़ा कर दिया और वो मुझसे कहने लगी की मेरी चूत में लंड डाल दो अबकी बार मैंने उसको झुकाया और पीछे से उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और उसको चोदने लगा मैं जोर से धक्के लगा रहा था और वो भी अपनी तरफ से धक्के देकर मुझसे अपनी चूत मरवा रही थी फिर मैं बाथरूम की फर्श पर लेट गया | और उससे मेरे ऊपर बैठने को कहा उसने मेरे लंड को अपनी चूत पर सेट किया और उछल-उछल कर मुझसे चूत मरवाने लगी | फिर मैंने उससे कहा की तुम थोडा सा अपने पारो पर झुक कर कड़ी हो जाओ उसने ऐसा ही किया | फिर मैं नीचे से जोर-जोर धक्के लगाने लगा | मैंने इस बार लगभग उसकी 25 मिनट तक चुदाई की फिर वो झड गयी | मैं धक्के लगाता रहा और थोड़ी देर बाद मैं भी झड गया | उसके बाद हम दोनों ने स्नान किया और अपने कपडे पहने | फिर उसने मेरे घर का सारा काम निपटाया | उसके बाद जब वो घर जाने के लिए तैयार हुई तो मैं वादे के मुताबिक़ उसको पैसे देने लगा तो वो मना करने लगी और उसने रुपये नहीं लिए | उसने मुझसे कहा की आज तक इतनी मस्त चुदाई तो मेरे पति ने भी नहीं की आज मैं तुम्हारा लंड पाकर धन्य हो गई | आज से ये चूत तुम्हारी है तुम जब चाहो इसे चोद सकते हो | उसके बाद वो अपने घर चली गयी | अब मुझे जब भी चुदाई करनी होती है | वो मुझसे चुदवाने आ जाती है |

 


Comments are closed.


error: