मेरी अन्तर्वासना को लगे पंख

Meri antarvasna ko lage pankh:
antarvasna sex stories नमस्कार दोस्तों,कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी खुश होंगे और चुदाई का भरपूर आनंद ले रहे होंगे | मेरा नाम प्रणव है और मैं भोपाल का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 25 साल है और मैं जॉब करता हूँ | मैं दिखने मे गोरा हूँ और मेरी कद काठी भी अच्छी है | मेरी हाईट पांच फुट और नौ इंच है | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन में बीती एक सच्ची घटना है | मैं चुदाई की कहानी का बहुत पुराना पाठक हूँ और मुझे चुदाई की कहानिया पढना बहुत पसंद है | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी पढ़ कर बहुत मजा आयगा और मेरी कहानी आप लोगो को पसंद भी आयगी | आज मुझे मौका मिला है कि मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करू तो मैं अपनी कहानी आप लोगो के सामने व्यक्त करता हूँ | मैं आप लोगो का ज्यादा समय नही लेते हुए सीधा अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

ये घटना तब की है जब मैं इन इंजीनियरिंग की पढाई करने वेल्लोर गया हुआ था | मैं कॉलेज के हॉस्टल में ही रहता था और मेरे साथ मेरा एक रूममेट रहता था जिसका नाम नाम अनुज है | हम दोनों की आपस में बहुत पटती थी | हम दोनों का एडमिशन भी साथ में हुआ और साथ में ही अपनी पढाई शुरू किये | वैसे अनुज बहुत बिगड़ा हुआ लड़का था और उसे लौंडियो को पटा कर चोदना बहुत पसंद था | उसका ठरकपन मुझे तब समझ आया जब मैंने देखा कि वो प्रिंसिपल के साथ सेक्स कर रहा था | हमारा प्रिंसिपल बहुत बुड्ढा था और गांडू क़िस्म का आदमी था और मेरा दोस्त उसकी गांड मार रहा था | ये देख के मुझे बहुत घिन आई कि कोई इतना ठरकी कैसे हो सकता है कि बूढ़े की गांड मारे | पर उसे इन सब से कोई मतलब नही था कि वो बुड्ढा है ये जवान | उसे बस चुदाई से मतलब था | एक दिन की बात है वो दिन के टाइम कॉलेज ना जा कर बार से कुछ दारू की बोतल ले के हॉस्टल के रूम में ही था | मेरी तबियत थोड़ी ख़राब लग रही थी तो मैं भी रूम आ गया | जब मैं रूम के अन्दर आया तो देखा कि वो बैठ के दारू पी रहा है तो मैंने उससे पूछा कि भाई तू दिन के समय दारू क्यू पी रहा है ? तो उसने कहा कि मन कर रहा है इसलिए पी रहा हूँ | फिर उसने मुझसे पूछा कि तू इतनी जल्दी क्यू आ गया कॉलेज से ? तो मैंने कहा कि अबे ,मुझे ज्यादा सर्दी लग रही थी तो मैं जल्दी आ गया और सोचा कि थोडा आराम कर लू | तो उसने कहा कि एक काम कर तू भी इस दारू का एक दो पेग मार ले तो तेरी सर्दी चली जायगी | मैंने उससे कहा कि सही में मेरी सर्दी ठीक हो जायगी तो उसने कहा कि हाँ भाई सही में तेरी सर्दी चली जायगी | फिर मैंने उससे कहा कि ठीक है मेरा भी पेग बना दे |

फिर हम दोनों साथ में पीने लगे और दो पेग मारने के बाद मुझे नशा हो गया | नशे में होने के बाद भी मैं और पीने लगा और मुझे इतना नशा हो गया कि क्या बताऊ हालांकि मुझे सब होश था | उसके बाद पता नही क्या हुआ अनुज ने मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिए और मुझे किस करने लगा | उसका ऐसा करना मुझे अच्छा लगा तो मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगा | वो मेरे होंठ को चूस रहा था और साथ में मेरे लंड को भी सहला रहा था | उसके ऐसा करने से मेरा लंड खड़ा हो गया तो मैं भी उसे किस करते हुए उसके लंड को सहलाने लगा | करीब हम दोनों एक दुसरे को 15 मिनट तक किस किये | उसके बाद उसने मेरे कपडे उतार कर नंगा कर दिया और मैंने उसके कपडे उतार कर नंगा कर दिया | हम दोनों एक दुसरे के सामने अब पूरे नंगे थे और वो मेरे लंड को अपने हाँथ में ले कर हिलाने लगा और उसके बाद उसने अपनी जीभ मेरे लंड पर फेरने लगा तो मुझे अच्छा लगने लगा और मेरे मुंह से अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा की आवाज़ निकलने लगी | वो मेरे लंड को काफी अच्छे से चाट रहा था और जीभ का बहतरीन उपयोग कर रहा था | मेरे लंड को चाट कर उसने पूरा गीला कर दिया और फिर अपने मुंह में डाल लिया और चूसने लगा तो मैं अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआ हहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउ म्म्ह आहाहा अआहा ऊउ म्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा करने लगा | वो मेरे लंडको ऊपर नीचे करते हुए चूसने लगा और मैं अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊ उम् म्म्ह ऊउ न्न्ह ऊउ म्म्ह आहाहा अआ हा ऊउम्म्ह ऊउन्न अ आहहा अआ हा आआहा ऊनंह ऊउ म्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा करते हुए उसके सिर के बाल सहलाने लगा | वो इस चीज़ में काफी एक्सपर्ट था और मेरे लंडको जोर जोर से ऊपर नीचे करते हुए चूस रहा था और मैं अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा करते हुए सिस्कारिया भर रहा था | उसने मेरे लंड को करीब 10 मिनट तक चूसा और अब बारी मेरी थी उसके लंडको चूसने की तो अब वो बैठ गया और मैं नीचे आ गया और उसके लंडको जीभ से चाटने लगा तो उसके मुंह से भी अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा की सिस्कारिया निकलने लगी | जैसा उसने मेरे लंडको चूसा और चाटा था मैं भी वैसा ही करने लगा |

मैं अपनी जीभ उसके लंडपर रगड़ते हुए चाट रहा था और वो अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा करते हुए सिस्कारिया ले रहा था | उसके लंड को चाटने के बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में भर लिया और ऊपर नीचे करते हुए चूसने लगा तो वो अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा करते हुए ऐंठा जा रहा था | उसका लंड7 इंच लम्बा और 4 मोटा है | मैं जोर जोर से उसके लंडको ऊपर नीचे करते हुए चूसने लगा और वो अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा करते हुए मेरे मुंह की चुदाई करने लगा | मुझे उसका लंडचूसने में बहुत मजा आ रही थी | फिर उसने मुझे टेबल पर ही झुका दिया और मेरी गांड में थूक लगा के अपना लंडमेरी गांड के अन्दर डालने की कोशिश करने लगा पर मेरी गांड का छेद टाइट था तो उसका लंडमेरी गांड के अन्दर नही जा रहा था | उसके बाद उसने मेरी गांड के अन्दर वसलीन लगाया और अपने लंड पर भी और फिर एक ही झटके में अन्दर डाल दिया | मैं नशे में था इसलिए मुझे दर्द नही हुआ और वो धक्के लगाते हुए मुझे चोदने लगा तो मैं अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा करते हुए सिस्कारिया लेने लगा | उसने चुदाई की स्पीड बढ़ाते हुए जोर जोर से मेरी गांड चोदने लगा और मैं अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा अआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न अआहहा अआहा आआहा ऊनंह ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहाहा करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करने लगा | करीब आधे घंटे तक उसने मेरी गांड चोदा और मेरी गांड में ही अपना माल झड़ा दिया | जब तक हम दोनों वहां रहे तब तक उसने मेरी गांड खूब चोदा और उसके बाद फिर हम कभी मिले ही नही |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी पसंद आई होगी |


Comments are closed.


error: