मालकिन की बहन की चूत और मेरा लंड

Malkin ki bahan ki chut aur mera lund:
hindi chudai ki kahani हैल्लो दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करता हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे | मेरा नाम पंकज है और मैं वाराणसी का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 28 साल है और मैं प्राइवेट फर्म में जॉब करता हूँ | मैं दिखने में सांवला हूँ और मेरी कद काठी अच्छी है | मेरी हाईट 5 फुट 9 इंच है और मेरे लंड का साइज़ 8 इंच लम्बा और ३ इंच मोटा है | दोस्तों, आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश कर रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी पसंद आयगी और मेरी ये कहानी पढ़ कर आप लोगो को मजा भी आयगा | मैं आप लोगो का ज्यादा समय नहीं लूँगा और सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ |

दोस्तों, मेरे घर में मैं हूँ और मेरे अलावा मम्मी पापा एक बड़ी बहन है और एक छोटा भाई है | मैं दिल्ली में रह कर जॉब करता हूँ | मैं एक रंडीबाज भी हूँ और मुझे चुदाई बहुत पसंद है | मैं रोज रात को सोने से पहले मुठ मारा करता था ताकि अपने शरीर की पूरी गर्मी निकल जाये | दिल्ली में मैं एक रूम किराये से ले कर रहता हूँ और जिनके घर में मैं रहता हूँ वहाँ एक भैया है दशरथ और भाभी सुनीता रहते हैं | उनकी एक बहन है जिसका नाम अंजना है और वो बहुत गोरी है | उसके भरे बदन में फ़िदा था | उसका फिगर बहुत ही ज्यादा सेक्सी है और रही बात सुनीता भाभी की तो वो बहुत ही सुन्दर हैं और उन्हें देख के एसा लगता है जैसे खुदा ने उन्हें बड़े ही फुर्सत में बनाया है | मैं उनके साथ बहुत ही जल्दी घुल मिल गया था | जब भैया शॉप जाते और मैं कभी घर में रहता तो भाभी को ले जाता मार्केटिंग के लिए या कभी किसी भी काम के लिए मैं उनके लिए हमेशा तैयार रहता | भैया की एक बहुत बड़ी किराने की दूकान है | अंजना मेरे काफी क्लोज थी तो हम दोनों काफी बात किया करते थे और पढाई भी किया करते थे | एक दिन हम रात में ऐसे ही बात कर रहे थे कि उसने मुझे प्रोपोस कर दिया | मैंने भी उसे मना नहीं किया और उसे हाँ कर दिया | अब हम घर में चोरी छुपे किस कर लिया करते थे | लेकिन एक दिन भाभी ने हमे हम दोनों के किस करते हुए पकड़ लिया पर उन्होंने भैया को नही बताया | लेकिन वो मुझे प्यार करती है इसलिए वो खुद पर काबू नहीं कर पा रही थी | एक दिन भैया और भाभी को पार्टी में जाना था और अंजना के कॉलेज के पेपर थे तो वो नहीं गई | जब भैया और भाभी चले गए उसके बाद अंजना मेरे पास आ गई और आते ही साथ मुझसे लिपट कर कहा कि पंकज मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ और तुमसे दूर नहीं रह सकती | मैं भी उसे पसंद करता हूँ तो मैंने कहा कि यार हम दूर थोड़ी हो रहे हैं | फिर उसने मुझसे कहा कि मुझे यहाँ से भगा कर ले चलो मैं तुम्हारे साथ ही रहूंगी | मैं उसे पसंद करता हूँ पर शादी का मैंने कुछ सोचा नहीं तो मैंने उसे बहुत अच्छे से समझाया | फिर तभी उसने मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठ को चूसने लगी | मैं समझ गया था कि आज अंजना चुदवाना चाहती है तो मैंने भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगा | फिर उसके बाद उसने मेरी शर्ट को उतारी और मेरी छाती चूमने लगी | मुझे बहुत अच्छा लग रहा था उसका ऐसा करना | फिर मैंने उसके टॉप को निकाल दिया और उसके ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध मसलने लगा तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए कह रही थी और दबाओ, जोर जोर से मेरे दूध को दबाओ | मैं भी उसके दूध को जोर जोर से दबा रहा था | उसके बाद मैंने ब्रा को भी निकाल दिया और फिर उसके दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर बारी बारी से चूसने लगा तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करने लगी और कहा कि यार चूस लो मेरे दूध को पूरा दूध पी कर खाली कर दो और मेरे सिर पर हाथ फेरने लगी |
उसके बाद उसने मेरे चड्डे को उतार दिया और मेरी अंडरवियर को उतार कर मेरे लंड को हिलाने लगी और साथ में मेरी छाती पर किस करने लगी | उसके बाद उसने मेरे लंड को अपनी जीभ से चाटने लगी तो मेरे मुंह से आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह की सिस्कारिया निकलने लगी | वो मेरे लौड़े को अच्छे से चाट रही थी और मैं उसके दूध को दबा रहा था | फिर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए उसके मुंह को चोदने लगा |

जब वो मेरे लंड को ऊपर नीचे करते हुए चूस रही थी तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था | फिर मैंने उसके लोअर को उतार दिया और उसकी पेंटी को निकाल दिया तो देखा कि उसकी चूत एक दम चिकनी थी और गीली भी हो चुकी थी | मैंने उसे लेटा दिया और उसके दोनों टांगो को फैला कर अपने कंधे में रख लिया और उसकी चूत को चाटने लगा तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए मचलने लगी और कहने लगी कि करते रहो मुझे बहुत मजा आ रही है प्लीज मैं झड़ने वाली हूँ तो मैं और जोर जोर से उसकी चूत को चाटने लगा तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए झड़ गई | उसके बाद मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा तो वो कहने लगी कि अब और मत तडपाओ मुझे चोद दो मैं अब और नहीं रुक सकती | मैंने अपना लंड उसकी चूत में डाल कर चोदने लगा तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से चोदने लगा तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए फक मी फक मी हार्ड कहने लगी |
करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने अपना माल उसकी चूत के ऊपर ही निकाल दिया | हम दोनों को काफी टाइम हो गया तो वो नीचे चली गई और उसके 15 मिनट के बाद भैया और भाभी दोनों आ गए | भाभी अब मुझपे शक करने लगी थी तो एक दिन उन्होंने मुझसे कहा कि पंकज तुम कहीं और रूम देख लो अब मैं तुम्हे यहाँ नहीं रहने दे सकती | तो मैंने पूछा उनसे कि मैंने क्या किया ? मैं तो आपको किराया भी सही टाइम पर दे देता हूँ | तो उन्होंने कहा कि तुम बहुत अच्छे से जानते हो कि मैं ऐसा क्यू कह रही हूँ | मैं समझ गया तो उनसे बहस नहीं की और उनसे टाइम माँगा कि जैसे ही रूम मिलेगा तो मैं ये रूम छोड़ दूंगा | करीब 25 दिन बाद मुझे एक रूम मिल गया तो मैंने छोड़ दिया | उसके बाद मेरी और अंजना की मुलाक़ात नहीं हुई |

तो दोस्तों, ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी पसंद आई होगी |


Comments are closed.