लंड रहे आबाद तुम्हारा दुआ है मेरी

Lund rahe aabad tumhara dua hai meri:

antarvasna, hindi sex stories हां तो मेरे चुदाई के दीवानों मुझे एक अरसा हो गया था और अब मैं फिरसे आपके लिए कहानी लिखने आ गया हूँ | आपका दोस्त चुद्दु रंगीला अब आपके लिए मैं अपनी एक चुदाई कथा फिरसे लेकर हाज़िर हो गया हूँ क्यूंकि इतने लम्बे समय तक चुदाई करने के बाद आखिर मुझे मौका मिल ही गया ये बताने का कि मैंने आखिर किया क्या है ? मैं एक रंदिबाज़ लड़का हूँ और आप सब को ये बात पता तो पहले से ही है और इस बार भी कहानी एक रंडी को लेकर ही है पर ये कहानी कुछ अलग है दोस्तों | तो दोस्तों मैं कुछ अलग करने कि सोच रहा था पर मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था इसलिए मुझे अपनी मनपसंद जगह जाना पड गया | पर यहाँ जहाँ मेरा अपना चकला चलता था मैं वहां नहीं गया क्यूंकि वहां वही पुरानी मोटी भैंस जैसी रंडियां थी | इसलिए मैंने सोचा अब मैं शीला के कोटे पे मुजरा करने जाऊँगा | मैंने शीला के जाने का सोचा ही था कि जेब खंखाने लगी क्यूंकि वहां पैसे ज्यादा लगते हैं | पर जहाँ रंडी हो और वहां हम न हो ऐसा कभी हुआ है आज तक इसलिए मुंह उठा के पहुँच गए दोस्त से उधार लेने |

एक नसीहत दे रहा हूँ आराम से सुनना-

माँगना है तो दिशा मांग उधार यहाँ वहां न खोद

पैसा नहीं है तो सीधा बोल न मादरचोद

ऐसा मेरे बहनचोद दोस्त ने मुझसे कहा और मैंने उसकी वहीँ पर मैय्या चोद दी | बहनचोद पैसा नहीं दे रहा था भोसड़ी वाला | मैं साले की घडी उतार लाया और उको बेच के पैसे ले लिए | अब मैं पहुंचा मेरी जानेमन शीला के यहाँ और उससे कहा दिखा अपना सबसे सुन्दर माल निकाल तेरी बिटिया चोदे | उसने कहा यहाँ गाली देना मादरचोद | मैंने उसको पकड़ा उसके दूध मसकते हुए उसका चुम्मा ले लिया और कहा तेरी बुर पलके साड़ी अकाद निकाल दूंगा रंडी | मुझे जानती नहीं है तेरी अम्मा यही चोद दूंगा और कोई कुछ कर भी नहीं पाएगा | वो अब मेरे काबू में आ गयी और अन्दर जाके उसने एक टनाक माल को बुलाया | मैं उसके माल को देखके जैसे मंत्रमुग्ध हो गया | वो क्या जवान लड़की थी ऐसा लग रहा था जैसे फिल्मो में हेरोइन का काम करती हो | मैं कहा शीला मेरी जान आज इसको चोदके अपने लंड को एक नायाब तोहफा दूंगा |

शीला ने धीरे से बोला-

जा बे मादरचोद अपनी मैय्या चुदा लवडे |

मैंने कहा अब तू कुछ भी बोल मुझे फर्क नहीं पड़ता क्यूंकि तूने मेरा दिल खुश कर दिया है | मैं उस माल को लेके अन्दर कमरे में गया और जब उसने मुझसे बात की तो पता चला वो साली अंग्रेज की चोदी थी | मुझसे अंग्रेजी में बात करने लगी | मैंने भी कहा ए मैडम ज़रा आराम से इंग्लिश मुझे भी आती है पर आज नहीं और चुदाई के टाइम पर तो बिलकुल नहीं अपन हिंदी है तो हिंदी बोलो |

उसने अपने कपडे उतार दिए और मैंने भी अपने कपडे उतार दिए और मैं उसके गोर नंगे जिस्म को निहारने लगा | क्या बड़े बड़े दूध और उसपे पिंक निप्पल वाह मेरा लंड तो हवा में लटकने लगा | उसकी चूत इतनी चिकनी और साफ़ कि बर्फ भी फिसल जाए | मैंने उसे अपनी बाहों में भर लिया और उसके साथ लेट गया | हम दोनों आपस में बात करने लगे तब मुझे पता चला वो यही काम करके अपना घर चलाती है | पर वो एक चकले में सिर्फ एक दिन चुद्वाती है | मैंने उसे लिटाया और उसको यहाँ वहां चूमने लगा और जब मैं उसे चूम रहा था तब मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मैं मलाई चाट रहा हूँ | वो भी मेरा भरपूर साथ दे रही थी और कह रही थी तुमाहरे जैसे कोई न मिला और ना ही मिलेगा मुझे |

मैंने उसके इतना कहते ही उसके दूध को पकड़ा और चूसना शुरू कर दिया | अब वो भी मेरे आगोश में और मैं उसके | और एक इंसान को क्या चाहिए | मैं उसके दूध पीता गया और वो मेरा लंड हिलाती गयी | कुछ देर तक यही चलता रहा पर उसके बाद मैंने उसके पेट को चाटते हुए उसके नीचे के हिस्से पर पहुँच गया | मैंने जैसे ही उसकी चूत पर अपनी जीभ लगायी वो इश्ह्ह्हह्हह्ह करते हुए रह गयी | उसकी चूत एक दम गीली हो चुकी थी और काफी गर्मी भरी थी उसकी चूत में | मैं उसकी चूत को जमके चाट रहा था और उसकी गीली चूत से जो माल निकल रहा था वो मेरे मुंह में भरता जा रहा था | पर मैंने बिना परवाह करते हुए सब कुछ पी लिया | अब वो मेरे लंड के लिए तड़पने लगी और मैंने अपना लंड उसके हवाले कर दिया | अब वो लगी मेरा लंड चूसने में और उसके मुंह में मेरा पूरा लंड घुस ही नही रहा था | वो कहने लगी ऐसा दमदार हथियार कहा से पाया है | मैंने कहा अछे कर्म किये हैं मैंने |

पर फिर भी जैसे तैसे उसने मेरा लंड अच्छे से चाटा और अपने मुंह में लेके चूसा और मुझे पूरे मज़े दिए | मेरा मुट्ठ जो उसके मुंह में भर चुका था वो भी उसने पी लिया | अब बारी थी चुदाई की तो जैसे ही मैंने अपना लंड उसकी चूत में डाला तो वो रो पड़ी और कहने लगी वाह आज होगी मेरी असली चुदाई | मैंने भी देर न लगाते हुए पूरा लंड उसके अन्दर उतार दिया और उसकी चूत जैसे खुल सी गयी | वो चीकने लगी और कहने लगी और चोदो मुझे | पूरा लंड अन्दर तक घुसा दो | मैंने भी उसे धक्के मार मार के चोदना चालु किया और उसकी चूत को अपने हिसाब से ढाल दिया | अब हमारी चुदाई बिलकुल आनंदपूर्वक हो रही थी | फिर उसकी चूत कि गर्मी ऐसी बढ़ी कि उसने मेरे ऊपर अपना सारा माल गिरा दिया और मैं उसकी चूत को चोदते ही जा रहा था | पर कुछ देर बाद मेरा भी माल गिर गया जो उसकी चूत में ही भर गया |

अब हम दोनों लेट गए पर उसने कहा देख्गो मैं वैसे तो दो बार का अलग अलग पैसा लेती हूँ पर तुम कर सकते हो | मैंने भी उसको दुबारा गर्म किया और उसके बाद उसने मेरा लंड चूस चूस के खड़ा कर दिया | पर लंड में हल्का सा दर्द तो रहता है दूसरी चुदाई के समय | मैंने कुछ नहीं सोचा और उससे कहा अब गांड मरवाने का समय हो गया है | वो थोडा सहम गयी पर मैंने कहा देखना बड़ा मज़ा आएगा | उसने भी बिना कुछ कहे खुद को घोड़ी बना लिया और कहा आइये जी डालिए जी | मैंने अपना लंड थूक से अच्छी तरह गीला किया और उसकी गांड में थोडा सा घुसाया तो वो जोर से चिल्लाने लगी | मैंने कहा अरे रुको जानेमन अभी तो खेल शुरू हुआ है और हलके हलके झटके मारने लगा | वो मज़े से लंड को झेलने लगी और ऊउम्मम्म आआह्ह ऊऊऊउह करने लगी | फिर थोड़ी देर चोदने के बाद मैंने एक जोर का झटका उसकी गांड में मारा और उसके आंसू निकलने लगे | पर वो चुदती रही और मैं भी उसकी गांड मारने में कोई कमी नहीं छोड़ रहा था |

आधे घंटे उसकी गांड मारने के बाद जब मेरा आल उसकी गांड के अन्दर गिरा और मैंने अपना लंड निकाला तो देखा उसकी गांड का छेद मोटा हो गया था | मैंने मन में सोचा अब इसको टट्टी करने में दिक्कत नहीं होगी | पर उस दिन कि चुदाई के बाद हम दोनों एक बार मिले और उसने सीधा कहा मुझसे शादी करलो तुम | मैंने भी मना नहीं किया और शादी करली | फिर क्या मेरे घर में ही मैंने चकला शुरू कर दिया | मैंने उसके लिए ग्राहक लाता जो दिन में उसे चोदते थे और मैं रात में उसको बजाता था | मैंने उसको चुदवा चुदवा के काफी पैसा बना लिया था | पर अब मुझे उसमे कोई दिलचस्पी नहीं थी क्यूंकि अब वो चुदक्कड के साथ साथ पूरी रंडी वाली हरकतें करने लगी थी | इसलिए मैं उससे अलग होना चाह रहा था पर साली पैसे बनाने की मशीन थी इसलिए अलग भी नही होना चाहता था |

फिर एक दिन मेरे बाजू में एक नयी लड़की आई और वो भी कमाल कि सामान थी | मैंने सोचा इसकी चूत मारूंगा पर पता चला ये भी साली रंडी है और मेरी वाली से कम पैसे लेती है | मैंने पैसे देके उसको चोदा तो पता चला ये मेरा धंधा खराब कर देगी | मेरी गांड फटने लगी और मैंने अपनी वाली की गांड पे लात मार्के भगा दिया और उसको अपनी बीवी बना लिया और अब मैं उसको चुद्वाता हूँ और पैसे कमाता हूँ | पर मुझसे ऐसा लगता है जैसे इसके दिन भी नज़दीक आ गए हैं |

पर क्या करूँ मैं दोस्तों मुझे अपनी जीविका भी चलानी हैं भले ही अपनी रंडी बीवी को चुदवा के गुज़ारा करूँ पर करना तो है | इस लिए मैं ये सोच रहा था कि जब तक ये चल रही है तब तक ठीक है नहीं तो मैं कोई दूसरा धंदा ढूंढ लेता हूँ जिससे मुझे कुछ पैसे का सहारा भी मिल जाए और कोई दिक्कत भी ना आये | पर मेरा लंड मुझे धोखा न दे ऐसा कभी हो सकता है क्या इसलिए मैंने सोचा क्या हुआ भाई चलो इसी कामको आगे बढाते हैं |

एक दिन एक लड़का आया और उसने कहा यहाँ चुदाई हो जाएगी क्या मैंने कहा हाँ हो जाएगी | मैंने उसे घर के अन्दर भेज दिया और उसके बाद मैंने सोचा चलो भाई अब अपन कुछ पैसे कम लेते हैं | अब वो अन्दर गया नंगा हुआ और उसका छोटा सा लंड था | पर साला पैसे वाला बहुत था | मेरी बीवी अपनी चूत साफ़ कर रही थी | मैं देख रहा था कि वो अपना लंड खड़ा कर रहा है और मेरी रंडी उसके लंड को सहला रही है | जब उसकी सफाई हो गयी तब उसने चोदना शुरू कर दिया और रंडी बीवी जानबूझ के चिल्लाने लगी | मुझे तो पता था क्या होगा इसलिए मैं बहार आ गया | अब साला मैं एक घंटे तक बहार बैठा रहा और सोचा ये मादरचोद आया नहीं पर आवाज़ आ रही है | इसलिए मैंने अन्दर जाने का फैसला लिया और जैसे ही मैं  अन्दर गया तो देखा कि बीवी और लड़का दोनों गायब | वो दोनों भाग गए और मुझे भी शान्ति दे गए | अब मैं नया शिकार लाऊंगा और उससे अपने पैसे की ज़रूरत ओ पूरा करूँगा जैसे कि मई करता रहता हूँ |

तो दोस्तों मज़े लिए ना अपने मेरी कहानी के इसलिए कहता हूँ मेरे जैसे काम करो और हर समय बस खुश रहो बिना किसी परेशानी के |


Comments are closed.