लौड़ा ले के भूल गयी पैसा

Lauda le ke bhul gayi paisa:

chodan

नमस्ते दोस्तों , कैसे हैं आप सभी ? मैंने आशा करता हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे | मेरा नाम पारस है और मैं जबलपुर के सराफा में रहता हूँ | सराफा एक फेमस जगह है जबलपुर की और वहां मैं रहता हूँ | मेरी उम्र 25 साल है और मैं दिखने में गोरा हूँ और मेरी कदकाठी भी अच्छी है | मेरी बॉडी टाइप एथलिट है हाईट 5 फुट 11 इंच है | दोस्तों मैं Free Hindi Sex Stories साईट का दैनिक पाठक हूँ और मुझे इस साईट की सारी चुदाई की कहानियां पढ़ना बेहद पसंद है | मैं रोज इस साईट में चुदाई की कहानियां पढ़ कर मुट्ठ मारता हूँ जब मुझे चुदाई नहीं मिलती तो | आज जो मैं आप लोगो के समक्ष अपनी कहानी पेश करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करता हूँ करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी पसंद आयगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय नहीं लेते हए अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

ये घटना 10 महीने पहले की है जब मैं सराफा बजार में वसूली का काम करता था | मेरा डेली का काम नहीं था | मैं ज्यादातर ऑफिस में ही बेठता था | लेकिन कभी कभी जब कोई कस्टमर पैसा नहीं देता था तो मुझे वो पैसे लेने बाजार जाना पड़ता था | मेरे केबिन के बाजु में एक केबिन था जिसमे एक शादीशुदा महिला था जिसका नाम प्राची है और वो देखने में वो बहुत सुन्दर है और सेक्सी भी | मैं तो शुरू से ही उसके भरे बदन का दीवाना था और हमेशा उसे चोदने के सपने देखा करता था  | लेकिन उसका रुड व्यवहार देख कर ऐसा लगता था कि वो शायद ही मुझसे कभी पटेगी और मुझसे चुदेगी भी | खैर चुदाई का तो पता नहीं था इसलिए मैं बस उसके नाम की मुट्ठ ही मार लिया करता था | एक दिन की बात है मैं और प्राची केबिन में ही बेठे हुए थे उसने मुझसे कहा की यार तुम्हारे मोबाइल में बैलेंस है क्या ? तो मैंने कहा हाँ मेरे मोबाइल में बैलेंस है | तो उसने कहा यार मुझे एक कॉल करना है कर सकती हूँ क्या ? तो मैंने कहा हाँ ठीक है | उसने कॉल किया और कहा कि एक काम करना रिशु को स्कूल से ले आना | तब मुझे पता चला कि उसका एक बेटा भी है जिसका नाम रिशु है | मुझे मन में दुःख तो हुआ लेकिन फर्क नहीं पड़ा क्यूंकि वो तो पहले ही शादीशुदा थी |

फिर उसने फोन काटा और अपने माथे में हाँथ रख परेशान हो कर बैठ गई | मेरा हक तो नहीं बनता था लेकिन फिर भी मैंने सोचा कि इसकी परेशानी पूछा जाए तो मैंने उससे पूछा कि क्या हुआ तुम्हे इतना परेशान क्यूँ हो ? तो उसने बताया कि यार मेरा पति बहुत ही बड़ा बेवडा है और शाराब पी कर मेरे पैसे उड़ा देता है और किसी भी खर्चे के लिए बचने नही देता है पैसा | अभी बेटे के स्कूल की फीस भरना है और हमारे पास पैसा नहीं है | ये बात सुन कर मुझे दुःख हुआ क्यूंकि जब भी मुझे कोई परेशान या दुखी लड़की दिखती है तो मैं ज्यादा परेशान हो जाता हूँ और उसकी मदद के लिए तैयार हो जाता हूँ | मैंने सोच लिया कि मैं इसकी मदद जरुर करूँगा | मैंने उससे पूछा कि तुम्हे कितने पैसे की जरुरत है ? तो उसने कहा यार तुम ये क्यूँ पूछ रहे हो मैं तुमसे नहीं ले सकती पैसे | तो मैंने कहा यार इसमें लेने देने वाली बात नहीं है देखो अगर मेरे मैं तुम्हारे किसी भी काम आ सकूं तो मुझे ज्यादा ख़ुशी होगी | ये बात सुन कर उसके माथे की शिकन दूर हो गई और उसने का यार ज्यादा नहीं बस 7000 रूपए की जरुरत है | मैंने कहा ठीक है मैं तुम्हे कल पैसे दे दूंगा | ये उसने मेरा बहुत धन्यवाद किया और कहा अगर मैं तुम्हारे कभी भी किसी भी काम आ सकूँ तो मुझे जरुर याद करना | मन में तो आया कि बोल दूं एक बार चुदवा ले लेकिन फर्स्ट इम्प्रैशन लास्ट इम्प्रैशन नहीं बनाना था इसलिए मैंने कहा कोई बात नहीं जब तुम्हारे पास पैसे हो जाए तो दे देना | उसने वादा किया कि वो पैसे लौटा देगी | उसके बाद हमारी काफी अच्छी फ्रेंडशिप हो गई और हम दोनों आपस में काफी बाते करने लगे | एक दिन की बात है मैं मार्किट गया हुआ था पैसे लेने लेकिन जब मैं वहां से लौटा तो पंकज किराने वाले का पैसा मेरे पास से कम निकला तो मैं परेशान हो गया कि पैसा कहाँ गया ? तो प्राची से मैंने पूछा कि यार मुझे पैसे की जरुरत है क्या तुम इतने पैसों की हेल्प कर सकती हो ? तो उसने कहा यार मेरे पास अभी तो पैसे नहीं हैं लेकिन मैं एक हेल्प कर सकती हूँ और उसने कहा कि मैं तम्हारे पैसे एडजस्ट कर देती हूँ जिससे तुम्हे भी दिक्कत नहीं होगी और उसका पैसा भी एडजस्ट हो जायगा |

मैं खुश हो गया और ख़ुशी ख़ुशी में उसे आई लव यू बोल दिया तो उसने भी जवाब में मुस्कुरा दिया | मैं समझ गया कि अब ये भी लाइन में आ चुकी है | फिर एक दिन मैंने उसे कॉफी के लिए पुछा तो उसने हाँ कर दिया और कहा कि ठीक है लेकिन इस बारे में किसी को पता नहीं चलना चाहिए | तो मैंने कहा तुम टेंशन मत लो | किसी को भी इस बात का पता नहीं चलेगा | फिर हम दोनों कॉफी पीने गए | उसके बाद उसने मुझसे कहा कि क्या तुम मुझे घर ड्राप कर सकते हो ? तो मैंने कहा हाँ चलो न | जब हम उसके घर पंहुचे तो उसके घर के बाहर एक नोट टंगा हुआ था कि मैं कुछ दिन के लिए अपने दोस्त के घर जा रहा हूँ | ये नोट उसके पति द्वारा लिखा हुआ था | मैंने उससे कहा कि अब तो तुम घर आ गई हो तो मैं जाऊं क्या ? तो उसने कहा नहीं अभी नहीं आओ न घर | मैं अन्दर गया तो उसने मुझसे पूछा कि क्या मैं तुम्हे पसंद हूँ ? तो मैंने डायरेक्ट कह दिया हां तुम मुझे पसंद हो पर मैं कहने से डरता था इसलिए नहीं कह पाया | तो उसने धीरे धीरे अपने कपडे उतारना शुरू कर दिए | कुछ ही समय में वो मेरे सामने ब्रा और पेंटी में आ गई | ये देख मेरा लौड़ा खड़ा हो गया |

मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने तुरंत उठ कर उसको अपनी बांहों में भर लिया और उसके होंठ पे अपने होंठ रख कर चूमने लगा | राज़ी वो भी थी तो वो भी मेरा साथ देते हुए किस्सिंग में साथ देने लगी | कुछ देर किस करने के बाद मैंने ब्रा के उपर से ही उसके दूध को मसलने लगा तो उसके मुंह से आहाआ ऊउम्म्ह उऊंनंह आआहा ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह आहाआआ ऊउम्म्ह आआहा की आवाज़ निकलने लगी | फिर मैंने ब्रा भी उतार कर उसे ऊपर से नंगा कर दिया और उसके दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो वो आहाआ ऊउम्म्ह उऊंनंह आआहा ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह आहाआआ ऊउम्म्ह आआहा करते हुए मुझे सहलाने लगी | मैं उसके दूध को जोर जोर से दबा कर पी रहा था और वो आहाआ ऊउम्म्ह उऊंनंह आआहा ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह आहाआआ ऊउम्म्ह आआहा की सिस्करिया लेते हुए मजे ले रही थी | फिर मैंने अपने पूरे कपडे उतार कर उसके सामने नंगा हो गया और उसने मेरे लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी तो मेरे मुंह से भी आहाआ ऊउम्म्ह उऊंनंह आआहा ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह आहाआआ ऊउम्म्ह आआहा की सिस्करिया निकलने लगी | वो मेरे लौड़े को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और मैं आहाआ ऊउम्म्ह उऊंनंह आआहा ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह आहाआआ ऊउम्म्ह आआहा करते हुए उसके मुंह की चुदाई कर रहा था | फिर मैंने उसके लेटाया और पेंटी उतार कर चूत को चाटने लगा तो वो आहाआ ऊउम्म्ह उऊंनंह आआहा ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह आहाआआ ऊउम्म्ह आआहा करते हुए मचलने लगी | उसके बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत में टिका कर अन्दर डाल दिया और चुदाई करने लगा तो वो आहाआ ऊउम्म्ह उऊंनंह आआहा ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह आहाआआ ऊउम्म्ह आआहा करते हुए सिस्कारिया लेते हुए अपने दूध को मसलने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर उसके चूत की ठुकाई करने लगा तो वो भी आहाआ ऊउम्म्ह उऊंनंह आआहा ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह आहाआआ ऊउम्म्ह आआहा करते हुए अपनी गांड उठा उठा क्र मेरा साथ देने लगी | फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से लंड डाल कर चोदने लगा तो वो आहाआ ऊउम्म्ह उऊंनंह आआहा ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह आहाआआ ऊउम्म्ह आआहा करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवा रही थी | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने अपना माल उसकी गांड में छोड़ दिया |

आज मेरी जॉब चेंज हो गई लेकिन आज तक उसने पैसे नहीं दिए  और बात भी नहीं करती मदरचोदी कहीं की |


Comments are closed.


error: