कुंवारी चूत को लंड का नमस्कार

Kunwari chut ko lund ka namaskar:
नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और चुदाई के मस्त मजे ले रहे होंगे इस बारिश के मौसम में | अब तो ठण्ड चालू हो रही है चुदाई का मजा तो दोगुना होने वाला है | मेरा नाम अर्पिता है और मैं आगरा में रहती हूँ | मेरी उम्र 25 साल है और मैं अभी कुछ नही करती घर में ही बैठे बैठे बोर होती रहती हूँ | मेरा रंग गोरा है और मेरा फेसकट क्यूट है | मेरा फिगर भी सेक्सी है | मेरे दूध परफेक्ट हिं और गांड गोल और उठी हुई है | मेरे घर में मैं और मेरे मम्मी पापा हैं | बड़ी बहन की शादी हो गयी है और जिनसे शादी हुई है वो एक नंबर के बेवड़ा आदमी है | दोस्तों आज मैं आप लोगो के सामने अपनी पहली और सच्ची घटना बताने जा रही हूँ | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोगो को मेरी ये पहली कहानी पढ़ कर बहुत मजा भी आयगा और आप लोगो को मेरी कहानी पसंद भी आयगी |
दोस्तों ये घटना मेरे कॉलेज के टाइम की है जब मैं नई नई जवानी में अपना पहला कदम रखा | मैं बहुत सिंपल और साधारण व्यवहार वाली लड़की थी | तभी मेरी दोस्ती एक लड़के से हुई जिसका नाम मोंटी है | वो काफ़ी स्मार्ट है और उसकी कद काठी एक दम हीरो जैसी है | वो मेरे ही क्लास में पढ़ता था | पहले हम दोनों की दोस्ती हुई और दोस्ती कब प्यार में बदल गयी पता ही नही चला | वो मुझे बहुत पसंद करता था और मैं भी उसे चाहने लगी थी | हम दोनों ने फैसला लिया कि हम दोनों शादी करेंगे | जब हम फाइनल इयर में पंहुचे तो उसने मेरे घर वालो से अपने घर वालो को मिला कर बात करवाई | मेरे घर वाले भी राजी थे पर उन्होंने शर्त रखी की जब तक आप का बेटा अच्छा ख़ासा कमाएगा नही तब तक शादी नही होगी इनकी | इस बात से वो भी सहमत थे तो मोंटी ने कहा कि ठीक है अंकल जी जब तक मैं कमाऊंगा नही तब तक शादी नही करूँगा | फिर एक दिन उसने मुझसे कहा कि तुम्हारे साथ सेक्स करना है | तो मैं कोई न कोई बहाना बता कर उसे मना कर देती थी | मुझे डर था कि कहीं चुदाई करने के बाद ये बदल ना जाये | पर फिर एक दिन मैंने सोचा कि जब ये मेरे घर वालो से बात कर चुका है तो शादी भी करेगा ही | फिर मैंने उसे हाँ कर दिया और जब मेरे घर में कोई ही था तो मैंने उसे अपने घर बुलाया और उसने आते ही साथ मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे दूध भी दबाने लगा | मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ चूसने लगी और उसके कमर में हाँथ रख लिया | हम दोनों ने एक दूसरे को करीब 5 मिनट तक खूब चूसा और और सहलाया | फिर उसने मेरे टॉप को उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही मेरे उभ्रारो को मसलने लगा | मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया भरने लगी | मुझे अच्छा लग रहा था क्यूंकि पहली बार कोई मेरे दूध को इतने अच्छे से दबा रहा था | फिर उसने मेरी ब्रा भी उतार दिया और दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर बारी बारी चूसने लगा | मैं बहुत गरम हो गयी थी और आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरी चूत भी गीली हो गयी | उसके बाद उसने मुझे उसके कपडे उतार को कहा तो मैंने उसके शर्ट को उतारने लगी और उसकी छाती पे किस करने लगी | उसके बाद मैंने उसके जीन्स उतारी और जब अंडरवियर उतारी तो मेरी गांड फट गयी | उसका लंड एक दम लोहे कि रॉड की तरह सख्त था और करीब 9 इंच लम्बा और 5 इंच मोटा है | उसने मुझसे लंड चूसने को कहा तो मैंने पहले अपनी जीभ से उसके लंड को चाट चाट के गीला करने लगी और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्करिया लेने लगा | जब उसका लंड अच्छे से गीला हो गया तो मैंने उसके लंड को मुंह में डाल लिया | पर उसका लंड इतना बड़ा और मोटा है कि मेरे मुंह में पूरा भर गया और मैं बस सुपाड़े को ही चूस पा रही थी | वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की सिस्करिया लेते हुए मेरे दूध को दबाने लगा | मैं पहली बार किसी का लंड चूस रही थी पर मुझे अच्छा लग रहा था | मैं उसके लंड को आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे मुंह को चोदने की कोशिश कर रहा था | फिर उसने मुझे अपनी गोद में उठाया और बेड पर लेटा दिया | उसके उसने मेरे शरीर के हर अंग चूमे और चाटे | मैं मदहोश हो चुकी थी उस समय | फिर उसने मेरी टाँगे चौड़ी कर दी और अपना मुंह में मेरी चूत के करीब ला कर अपनी जीभ से रगड़ने लगा | मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया ले रही थी | ये मेरे लिए पहला एहसास था जो मेरी अनातार्वसना को जगा रहा था | मुझे कैसा लग रहा था ये सिर्फ एक औरत और लड़की ही समझ सकती है | वो मेरी चूत को जीभ से रगड़ रगड़ कर चाट रहा था और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके मुंह में ही झड़ गयी और उसने मेरी चूत का पूरा पानी चाट लिया | मैं मछली की तरह तड़प रही थी और मेरी अन्तर्वासना पूरी र्तारह जाग उठी थी | वो मेरी चूत के दाने को भी चूस रहा था और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मजे ले रही थी | मेरी कुंवारी चूत अब लंड लेने के लिए तैयार हो चुकी थी | फिर मैंने उससे कहा कि अब मुझे चोद दो और मेरी कुंवारी चूत की नाथ उतार दो | तो उसने मेरी चूत में अच्छे से वसलीन लगाया और उसने अपने लंड पर कंडोम चढ़ा लिया | उसके बाद वो मेरी चूत में अपने लंड को डालने लगा धीरे धेरे तो मुझे दर्द होने लगा | मैं अपनी टाँगे सिकोड़ने लगी पर वो नही सिकोड़ने दे रहा था | फिर उसने एक हल्का सा धक्का मारा और उसका सुपाडा मेरी चूत के अन्दर घुसा तो मेरी चीख निकल गयी और मेरी आँख से आंसू आने लगे | मैंने उसे लंड निकालने को कहा तो उसने अपना लंड बाहर निकाला तो मिअने देखा कि उसका लंड खून से लथपथ हो गया और मेरी चूत से खून बहने लगा | मुझे बहुत जोर से दर्द हो रहा था | फिर उसने थोडा रुक के फिर एक जोरदार धक्के से मेरी चूत की दीवारों को तोड़ते हुए पूरा घुसेड दिया | मैं जैसे ही चिल्लाने को हुई तो उनसे मेरे मुंह में अपना हाँथ रख दिया और चोदने लगा | फिर करीब 10 मिनट के बाद मुझे भी मजा आने लगी थी और मैं अब चिल्लाने की जगह आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | तो उसने मेरे मुंह से अपना हाँथ हटा लिया | अब वो मेरी चूत को जोर जोर से धक्के मारते हुए चोदने लगा तो मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी | मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मैं जन्नत की सैर कर रही हूँ | वो जोर जोर से धक्के मारते हुए मेरी चूत को चोद रहा था और मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हए चुदाई के मजे ले रही थी | फिर उसने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरे पीछे आ कर अपना लंड चूत में रगड़ते हुए चोदने लगा | मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | करीब आधे घंटे के बाद हम दोनों ही झड़ गये |


Comments are closed.