कुंवारी चूत से खून निकाला और अपना दीवाना बनाया

Kunwari choot se khoon nikala aur apna diwana banaya:

loading...

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का स्वागत है इस चुदाई से भरी कहानियों में | मेरा नाम है अभिलाष कोली और मैं २३ साल का हूँ और जबलपुर का रहने वाला हूँ | मैंने इंजीनियरिंग की है  और मै बहुत अच्छा लड़का हूँ बस थोडा गुटखा खाता हूँ और थोड़ी बहुत सिगरेट पी लेता हूँ मन किया तो | कभी कभी चार दोस्त मिल जाते हैं तो शराब पी लेता हूँ हप्ते में ४-५ बार बस बाकी मै अच्छा लड़का हूँ दिखने में भी ठीक ही हूँ |

यह कहानी कुछ २-३ साल पहले की हैं | मैंने अपने लाइफ में सबसे बड़ी गलती की इंजीनियरिंग कर के इसलिए मैं हमेशा घर पे ही बैठा रहता था  और इसी दौरान मेरी नज़र एक लड़की पर पड़ी जो मेरे घर के बगल में ही रहती थी | मेरे फ्रेंड शेखर की बहन थी वो और मैंने भी सोचा की खाली तो बैठा रहता हूँ क्यूँ न इसी के साथ ही व्यस्त हो जाऊ | कम से कम मेरे दिन रात तो कटेंगे और इसकी चूत भी फटेगी | मैं बिना समय गवाए  उसको  पटाने की तैयारी में लग गया | उसका नाम था रौशनी  बेमिशाल खूबसूरती और समान की दूकान | पर दिक्कत इस बात की थी की वो बड़ी सीधी साधी लड़की थी | साली को पटाने में ४ महीने लग गए | पर उसके बादभी में उसके साथ कुछ नहीं कर पाया | बहनचोद जब जब उसको चोदने जाता था वो हरामी बोलती थी अभी नहीं फिर कभी और ये सुन कर तो मेरा केले के अकार का लंड किशमिश की तरह बन कर झाडियों में कही छुप जाता था | और तो और रातो को नींद नहीं आती थी और बड़ी मुश्किल से सोने के बाद जब सुभे उठो तो पता चलता था की रात में लंड खड़ा ज्यादा होने के कारण उसके अंदर का दूध उबल कर उफान मरते हुए बहार आ चूका हैं | फिर मैंने सोचा की एसे तो नहीं हो पायगा कुछ ना कुछ उल्टा सीधा तो करना ही पड़ेगा | मैंने सोच की चलो उसको और फसा ही लेता हूँ लेकिन उसमे बी बहुत टेंशन था की कहीं कुछ जायदा बड़ा हंगामा ना खड़ा कर दे लड़की |

फिर मेने सोचा की यार हटाओ कुछ खिला पिला के उसको चोद दूंगा हम लोगों का रिलेशन वैसे तो बहुत अच्छा हो गया था | वो हमेशा मेरी बात मानती थी और काफी प्यार भी करने लगी थी | हमलोग कई बार साथ में घूमने भी जाते थे | मै कई बार उसको होटल भी ले के गया पर बहनचोद उसने किस के आलावा उसने मुझे कही और छूने भी नहीं दिया | हर बार बोलती थी अभी नहीं  बाद में… अभी नहीं बाद में और ये सुन कर मेरी झाटें लाल हो जाया करती थी | तो मेने भी एक दिन प्लान बनाया वो बताता हूँ आपको |

इस बार मैंने उससे बोला चलो घूमने चलते हैं | उसने भी हाँ कर दिय और बोली कब चलना है बताओ | मैंने कहा कब तुम फ्री रहोगी उसने कहा की आज शाम को | मैं अपने फ्रेंड के घर जा रही हूँ उसकी शादी है तो रात भर वहीँ रहूंगी | तो तुम मुझे लेने आ जाना रात मै १२ बजे के बाद फिर कोई पूछने वाला भी नहीं रहेगा तो कोई दिक्कत भी नहीं होगी मैंने कहा ठीक हैं आता हूँ | तुम जिसके घर जा रही हो  उसका एड्रेस मुझे सेंड करो | उसने सेंड कर दिया मैंने कहा अरे यार इस बार उसने तो खुदी मुझे सिग्नल दे दिया अपनी गांड मरवाने के लिए | अब क्या था मेरी आधी कहानी तो सेट थी और पूरी मेने सेट कर दी |

अब रात के १२  बजे उसके बताये हुए एड्रेस में पंहुचा और कॉल लगाया और उसको बहार बुलाया | गाड़ी पर बैठाया और ले गया अब वो बोली की कहा ले जा रहे हो मुझे ये तो बताओ | मैंने कहा कि यार ये तो मैंने भी नहीं सोचा फिर मैंने कहा कि एक का घर ले ले लिया है रात में रुकने के लिए | पर फिर भी उसे नहीं बताया कि कहीं वो कुछ गलत न सोच ले | इसलिए शांत रहा और उसी से पूछा की कहा जाओगी रात में उसने बोला तुम्हारा प्लान था तुम ही बताओ | अब मैंने कहा की चलो अच्छा ऐसे ही घूमते हैं उसने कहा ऐसे ही कहा घूमेंगे सुनसान रोड में कही कुछ हो गया तो | मैंने कहा चलो अच्छा एक काम करते हैं मै अपने एक दोस्त से बात करता हूँ उसका फ्लैट खली रहता हैं अपन वहीँ रुक जायेंगे और थोड़ी बात भी कर लेंगे उस कहा ठीक है अच्छा चलो और क्या कर सकते है | मैंने कहा तुम्हारी मर्ज़ी नहीं हैं तो बता दो मैं तुम्हे वापस वही छोड़ आता हूँ जहाँ से तुम्हे पिक किया था और थोडा मायूसी  भरा मुह भी बना लिया | तो वो बोली आरे यार तुम गुस्सा मत हो मै चल रही हूँ न साथ में मैंने कहा ठीक  हैं मेरी जान | फिर मैंने अपने दोस्त को कॉल लगाने का बहाना किया और बोला फ्लैट खाली हैं क्या मुझे चाहिए है आज रात के लिए | एसे कर के थोड़ी बात की और अपनी गर्लफ्रेंड से बोला कि हो गया काम वो मान गया हैं फिर वो पूछी की फ्लैट तो लॉक होगा | हमें फ्लैट की चाबी लेने उसके पास जाना पड़ेगा तो मैंने कहा नहीं एक चाबी मेरे ही पास रहती है उस फ्लैट की अब चले उसने कहा ह्म्म्म |

फिर हम लोग फ्लैट पे गए और बैठे फिर रौशनी ने कहा की अब क्या करे मैंने कहा टाइमपास सुबह तक का | रौशनी बोली वो कैसे होगो तो मैंने कहा हो जायगा सब | फिर मैं उसके पास गया और बोला की अच्छा एक किस तो दे दो मुझे प्यारी सी उसने बोला हम्म क्यों नहीं आओ इधर बेबी | फिर हम लोगो ने किस की ५ मिनट तक लिप्स पर और गले मिले फिर मैंने उससे बोला खाना खा लिया तुमने | वो बोली तुमने खाया मैंने कहा की नहीं तो वो बोली कि फिर मै केसे खा सकती हूँ तुम्हारे बिना तो मैंने कहा अरे मेरी जान तो चलो पहले कुछ डिनर कर लेते हैं | फिर रोमांस कर लेंगे फिर हम लोगो ने डिनर किया वही फ्लैट पे और मैंने फिर उसे एक जूस में जोश की गोली भी डाल दी थी की आज वो मना न कर पाए | उसके बाद हम लोग बिस्तर में बैठे और बात की |  मैंने उसका मूड बनाया और उससे प्यारी प्यारी बाते करने लगा | उसके ऊपर भी मेरी दवाई का असर दिख रहा था और फिर मैंने उसको किस किया और उसके लिप्स पर और कमर में हाथ रखा और उसके गले मै किस करते हुए उसे बिस्तर पर लिटा दिया | उसे किस करने लगा कभी लिप्स में तो कभी उसके चहरे पर और उसके गले में वो भी काफी गरम हो गई थी और इसी मौके का फायदा उठाते हुए मैं उसके दूध दवाने लगा और ऊपर से ही किस करने लगा वो साड़ी पहने हुए थी ग्रीन कलर की | उसके बाद मैंने उसके ब्लाउज को उतार दिया और उसके दूध हाथ से सहलाते हुए उसकी ब्रा भी उतार दी | उसके दूध भी बहुत फूल गए थे और फिर मै उसके दूध को चाटने चूसने लगा | १५ से २० मिनट तक तब तक वो भी काफी गरम हो गई थी फिर मैंने उसकी साड़ी उतार दी और उसकी चड्डी भी और खुद भी पूरा नंगा हो गया और अपना लंड उसके मुह के पास ले जा के बोला की इसे चुसो |

वो भी बड़े मजे के साथ मेरा लंड अपने मुह में ले कर चूसने लगी और करीब १५ मिनट तक उसको अपना लंड पिलाने के बाद उसे लिटा के उसके दोनों पैरों को फैला के उसकी चूत चाटने लगा | अपनी जीभ से उसको चोदने लगा वो भी  बोल रही थी की आह्ह्ह्ह और.. और…. मजा आ रहा हैं | तड़प रही थी मेरे लंड को अपनी चूत में लेने के लिए और बोल रही थी अब बस डालो ना | फिर मैंने मैंने अपने लंड को उसकी चूत में डालने की कोशिश की पर पहली बार सेक्स करने के कारण उसकी चूत में मेरा लंड नहीं जा रहा था और उसे दर्द भी बहुत हो रहा था | फिर मैंने  थोड़ी और जोर से कोशिश की और अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया और आराम आराम से उसे चोदने लगा उसे भी बहुत दर्द हो रहा था | उसे खून भी आ गया था वो चिल्लाह रही थी जोर से अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह कर के और रो भी रही थी | तो मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाल कर उसकी चूत में ऊँगली डाल कर उसे सहलाने लगा और उसके दूध को चूस भी रहा था | फिर उसने बोला मत डालो पर मैंने कहा नहीं कुछ नहीं होगा  | फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत में दुबारा डाल कर उसे चोदना शुरू किया | इस बार उसे कम दर्द हुआ फिर मै उसे किस करते हुए और एक हाथ से उसके दूध को दवाते हुए उसे चोदने लगा | वो भी बोल रही थी और तेज और तेज और में भी खूब जोश में था | उसके बाद मैंने भी उसे जोर जोर से चोदना शुरू कर दिया और करीब ३० मिनट तक उसे चोदता रहा फिर वो झड़ चुकी थी | फिर ५-७ मिनट तक उसे और चोदने के बाद मैंने जब मेरा झने वाला था तो मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाल कर उसके मुह में डाल कर जोर जोर से अंदर बहार कर के उसे चोदते  हुए उसके मुह में झड़ा दिया  |

फिर मै बिस्तर में लेट गया और अपना लंड चुसाया उसे थोड़ी देर तक और उसको अपने ऊपर लिटा कर किस की | फिर हम लोग साथ में सो गए | दूसरे दिन उसे उसके फ्रेंड के घर छोड़ आया और इस तरह मेरी मन की तम्मना पुरु हुई | आप सभी का धन्यवाद मेरी स्टोरी पढने के लिए |


Comments are closed.