जॉब के लिए ऑफिस के सर के साथ चुदाई

Job ke liye office ke sir ke sath chudai:

office sex kahaniyan

हेल्लो दोस्तों ये मेरी पहली सेक्स कहानी है जिसे मैं आप सब के सामने पेश कर रहा हूँ,ये बातआज से 5 साल पहले की है और ये बात मेरे दिल पर एक भरी वजन की तरह है इसलिए सोचामैं आप सब से अपने दिल की ये बात आप सब के साथ शेयर करूँ ताकि मेरा दिल हल्का हो जाया, ये कहानी मेरी माँ की चुदाई की है जो हर कोई लड़का शायद न बता पाए पर मेरे सामनेमेरा माँ पिछले 5 सालो से चुदती आ रही है,पर मैं उन्हें कुछ नही कहता क्योकि उनकी खुसी मेंही मेरी ख़ुशी है,

तो दोस्तों चालिये अब मैं आप को अपनी कहानी बताता हूँ मेरे घर में मैं और मेरी मम्मी रहते है,मेरे पापा हम दोनों को बचपन में ही चोर्ड कर इस दुनिया से जा चुके थे,अब घर चलने के लिए मम्मी जॉब करती थी,पहले तोह वो ऐसे ही छोटी मोती जॉब करती थी जिसकी वजह से आसानी से मेरी 12 की स्टडी हो गयी थी पर अब मैं कॉलेज में जाने लग गया था इस लिए मम्मी को थोड़ी सी सैलरी में अब कुछ नही होता था, इसलिए उन्होंने एक बड़ी मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करना शुरू कर दिया,और कहते है ना बड़ी कंपनी बड़े काम ये बात मेरी माँ के साथ ही हो रही थी और दिन रार अपने ऑफिस के काम में लगी रहती थी पर पेसो के मामले अब हमारा हाथ बिलकुल ठीक हो गया था,पर मम्मी रेस्ट नही करते थे लगातार काम ही काम करते रहते थे,

मेरा कॉलेज का एक साल भी ऐसे ही निकल गया,और फिर अचानक मम्मी की तबियत करब रहने लग गयी, दोस्तों मुझे माफ़ करना मैंने अभी तक आप को अपनी माँ के बारे में कुछ नही बताया उनका नाम शुष्मा है उनकी उम्र उस टाइम 32 साल की थी और वो ज्यादातर साडी और काफी दीप नैक का ब्लाउज पहना पसंद करती थी,मेरा माँ दिखने में बहुत सेक्सी है हमारे आस पास के सब अंकल और जवान लड़के मेरी माँ के सपने देख कर मुठ मरते थे,अब आप मेरी माँ के बारे में भी जान चुके है इसलिए मैं वापस अपनी कहानी पर आता हूँ,मेरी मम्मी को करीब एक मंथ की ऑफिस से हॉलिडे लेनी पड़ी जिसकी वजह से माँ को जॉब से निकाल दिया गया,माँ अब फिर से टेंशन में आ गए क्योकि अब उन्हें फिर से कम पैसा वाली जॉब करनी पड़ेगी,मेरी माँ के बॉस राकेश हो की माँ से करीब 8 साल बड़े होंगे पर वो दिखने में बड़े हैण्डसम थे,एक दिन मैं कॉलेज से जल्दी आ गया और सोचा की आज घर जा कर माँ की हेल्प कर दूंगा,

मैंने जेसे ही घर के बहार आया तोह देखा की राकेश अंकल यानि मेरी माँ के बॉस की कार हमारे घर के सामने खड़ी थी,मैं समझ गया की शायद आज मम्मी फिर से अपनी पुराणी वाली जॉब कर लग जायेगे,मैं चुपके से घर के अन्दर गया तोह मुझे माँ के बेड रूम में से उन दोनों की बातो की आवाज आ रही थी,मैं चुपके से माँ के रूम की विंडो के पास गया और उन दोनों को चुपके से देखने लग गया,मैंने देखा की माँ बॉस के सामने अपने दोनों हाथ जोड़ कर उनसे रिक्वेस्ट कर रही थी की उन्हें अपनी जब वापिस दे दो,राकेश -शुष्मा तुम मेरे ऑफिस के सब से अच्छी एम्प्लोयी हो पर मैं कंपनी के रूल्स में फस हुआ हूँ पर एक रास्ता है जिसे तुम फिर से अपनी पहली वाली जॉब तोह आसानी से प् सकती है और पहले से ज्यादा एक्स्ट्रा इनकम भी कमा सकती हो,उनकी बात सुन कर माँ के चेहरे पर एक ख़ुशी सी आ गयी और झट से बोली बोलिए सर वो कोण सा रास्ता है,

राकेश बोले देख लो तुम इसके लिए तयार हो क्योकि वो रास्ता इतना भी आसान नही है,माँ बोली सर आप बातो बस मैं कुछ भी करने के लिए तयार हूँ.राकेश शुष्मा तुम्हे अपोनी पहले वाली जॉब को अपने के लिए पहले मुझे खुश करना होगा अपना जिस्म मुझे देकर और एक्स्ट्रा इनकम के लिए तुम्हे हमारे कंपनी के लिए न्यू क्लिंट को भी खुश करना होगा ताकि वो हमेशा हमारी कंपनी के साथ ही जुड़े रहे, माँ ने जेसे ही उनकी बात सुनी तोह वो एक दम शॉक में आ गयी और बोली नही सर ऐसा तोह नही हो सकता सॉरी, राकेश देख लो आगे तुमारी मर्जी ये देखो मैं तुम्हारे लिए २५००० का चेक भी ले कर आया तोह बस इस पर तुम्हारा नाम लिखना है बस, कुछ देर सोचने के बाद माँ मान गयी और फिर क्या
था राकेश एक दम खड़ा हुआ अपने सरे कपडे उतार कर माँ के कपडे उतारने लग गया,

उसने एक मिनट में ही माँ को पूरा नंगा कर दिया और उनका लंड करीब 8 इंच का लंड लेने में काफी तकलीफ हो रही थी पर राकेश पूरी जबरदस्ती से उनके मुंह को चोदने में लगा हुआ था,करीब 10 मिनट माँ के मुंह चोदने के बाद उन्होंने माँ के फेस पर अपना सारा पानी निकाल दिया और फिर उसी पानी को अपने लंड पर लगा कर माँ को अच्छे से चटवा चटवा कर साफ़ करवाया, उसके बाद उन्होंने माँ को घोड़ी बना दिया और पीछे से माँ को चूत पर लंड सेट कर के माँ को जोर जोर से चोदने लग गए,

मेरी माँ बहुत जोर जोर से चिला रही थी पर राकेश पर इसका कोई असर नही हो रहा था, अब ये सब देख कर मेरा लंड भी पूरी तरह से खड़ा हो गया था मैं भी बहार खड़े रह कर मुठ मरने लग गया, माँ की चूत में से खून निकल रहा था क्योकि आज माँ ने न जाने कितने टाइम बाद अपनी चूत में एक लंड लिया था, माँ की चूत को चोदने के बाद अब उन्होंने अपना लंड माँ की गांड पर रख दिया माँ तभी बोली सर प्लीज ये नही आज मैंने अपने पति के बाद आप का लंड लिया है प्लीज् आज तक उन्होंने मेरी गांड नही मरी प्लीज आप मेरी गांड फिर कभी मार लेना मेरा बेटा आने वाला होगा, राकेश बस मेरी जान २ मिनट की बात है कुछ नही होता वेसे भी बस मेरा होने ही वाला है,

ये कहते ही राकेश ने माँ की गांड पर बहुत सारा थूक लगाया और एक झटके से साथ अपना आधा लंड माँ की गांड में डाल दिया, माँ बहुत जोर से चीलाई पर राकेश ने उन्हें कास कर पकड़ा हुआ था और जोर जोर से माँ की गांड को चोदने लग गया, करीब 5 मिनट बाद ही राकेश ने अपने लंड का सारा पानी माँ की गांड में निकाल दिया माँ बेड पर एक दम बेहोशी की हालत में लेट गयी,

फिर राकेश ने चेक पर सिग्न किये और माँ के मोटे मोटे चूत में चेक की बाती बना कर वहा फस गया फिर उसने अपने कपडे डाले और कहा तुम कल या परसों से ऑफिस आ सकती हो, फिर वो घर से चला गया मैं भी बहार चला गया ताकि माँ थोडा रेस्ट कर सके, फिर अगले दिन माँ ने मुझे ३००० रुपस दिए और कहा अब मेरी जॉब फिर से लग गयी है, मुझे सब पता था की ये जॉब केसी लगी है पर अगर मेरी माँ खुश है तोह मैं भी खुश हूँ.

 


Comments are closed.


error: