होली पर मैंने आंटी को खूब चोदा भाग २

Holi Par Maine Aunty Ko Khub Choda Part 2 :

यह कहानी आप फ्री हिंदी सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे है|

मेने कहा सॉरी आंटी ये आज कल व्हात्सप्प में न जाने कैसे कैसे वीडियोस आते है, वो कुछ नहीं बोली और सामने बेथ गई, हम दोनों चाय पि रहे रहर थे,उन्हों ने पुचा हीरो में कैसी लग रही हु, मेने कहा “अची लग रही हे  आंटी ” तो वो बोली तुम  मुझे आज कल कुछ ज्यादा ही नोटिस कर ने लगे हो ” नहीं आंटी वो तो ऐसे ही, मेने कहा.
उन्होंने कहा तुम मुझे सेक्स करना चाहते हो न सच बोलो, उनके मुह से सेक्स की बात सुन कर में एक दम से सोक रह गया था, वो बोली अगर सेक्स करना हो तो बोलो मुझे पता है तुम मुझे देख कर क्या सोचते हो तुम्हे और तुम्हारे लंड को देख कर सब पता चल जाता है मुझे, कोई नहीं है बोलो करना है सेक्स मेरे साथ,?? मेरे मुह से सिर्फ हा निकली और कुछ नहीं बोल पाया  वो बोलि आ जा मेरे राजा.
में उनके ऊपर चढ़ गया और पागलो की तरह उन्हें किस करने लगा होठ पर गल पर गर्दन पर सब जगह किस करने लगा और वो भी गरम हो गयी थी, और उनकी साड़ी उतार दी अब वो सिर्फ ब्लाउज और पेटीकोट में थी, में ब्लाउज के ऊपर से ही उनके बूब्स दबा रहा था और उन्हें किस कर रहा था, वो पेंट के ऊपर से ही मेरा लंड दबा रही थी, मेने उनका ब्लाउज फाड़ दिया और उनके दो बड़े बड़े बहार आ गए.
में उन्हें दबाने लगा और उनके निप्प्लेस को मुह में ले रहा था और दुसरे हाथ से दुसरे बूब्स को दबा रहा था वो बोली आअह्ह्ह्ह दबा और जोर से दबा, आअह्ह्ह्ह मर गयी .अब मेने उन्हें दिनिंग टेबल पर सुला दिया और उनका पेटीकोट और पंत्य्निकल दी चूत एक दम साफ थी,में उसे चाट ने लगा जोर जोर से, वो पागल हो गई बोली क्या कर रहा है रे आह्ह्ह्ह . मजा आ रहा है जानू, में अपनी जबान से पूरी ताकत से उसकी चूत चाट रहा था.
वो चिल्ला रही थी अंश आअह्ह्ह्ह  आअह्ह्ह्ह में गई आअह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह, वो बोली अब और मत तडपा अन्दर दल दे इसे और अमिने उसकी चूत मई लंड सेट किया, और रगड़ने लगा वो बोली दल दे रे अब और न तडपा मुझे, मेने जोर का झटका मारा, वो चिल्ला अआव्व्व्व आआह्हह्हह्हह्ह मर दिया  धीरे जानू, उसकी चूत भुधि होक भी टाइट थी, मेने दूसरा शॉट मारा और मेरा लंड पूरा अन्दर चला गया,वो चिल्लाने लगी, में रुक गया और उसे किस करने लगा और निपले दबाने लगा.
कुछ  देर बाद वो संत हुई तो मेने धक्के लगाने लगा, वो चिल्ला रही थी और जोर से पूरा डालो जानू  आह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह  आह्ह्ह्हह्ह. हमारी चुदाई की फट फट आवाज गूँज रही थी, मेने कहा ले रंडी छिनारपूरा ले ले लंड बहुत मुठ मरी है तेरे नाम की आज हाथ  आई है ले पूरा ले, और उसकी चूत के अन्दर ही अपना पानी छोड़ दिया,इस बिच वो दो बार झड चुकी थी. मैंने अपन अलंद बहार निकाला और उसके मुह में दे दिया उसने पूरा लंड साफ कर दिया और मेरा लुंड फिरसे खड़ा हो गया मेने कहा आंटी मुझे आपकी गांड मारनी है वो मना कर ने लगी पर बहुत समझाने के बाद वो मन गयी.
मेने उसे डोगग्य स्टाइल खड़ा किया और उसकी गांड पर तेल लगाया और थोडा तेल लंड पर लगाया, थोड़ी कोसिस करने के बाद लंड का टोपा ही अन्दर गया और वो चिल्लाने लगी बहार निकालो इसे बहुत दर्द हो रहा है प्लीज छोड़ दो मुझे,उसकी आँख में आंसू आ गए.पर में नहीं रुका और अपना पूरा लंड उसकी मोती समंदर जैसी बड़ी गांड में दल कर उसके बाल पकड़ कर दना दन  चुदाई करता रहा, थोड़ी देर बाद वो भी गरम हो गई मजे लेने लगी,
25 मिनट बाद में उसके गांड में ही झड गया.


Comments are closed.


error: