गांड मारकर नींद आ गई

Antarvasna, sex stories in hindi:

Gaand maarkar nind aa gayi मेरी शादी को अभी सिर्फ 15 दिन ही हुए थे और मेरी पत्नी चाहती थी कि हम लोग कुछ दिन उसके घर चलें मैंने भी अपनी पत्नी से कहा कि ठीक है मैं कल इस बारे में पापा से बात कर लेता हूं फिर हम लोग तुम्हारे घर पर चल पड़ेंगे। मेरी पत्नी का नाम मोनिका है मोनिका को जब पहली बार मैंने अपने चाचा जी के घर पर देखा था तो तभी मैंने मोनिका को पसंद कर लिया था मुझे नहीं पता था कि उसका रिश्ता कुछ समय बाद ही मुझे आ जाएगा। जब मोनिका को मैं मिलने के लिए पहली बार उसके घर पर गया तो मैं मोनिका को देखकर खुश गया मैं तो चाहता ही था कि मोनिका से मेरी शादी हो जाए फिर अब मोनिका से मेरी शादी हो गयी और मैं बहुत ही खुश था।

हम लोग अगले दिन मोनिका के घर चले गए जब हम लोग मोनिका के घर गए तो मोनिका बहुत ही खुश थी वह मुझे कहने लगी कि अनिल मैं अपने घर आकर काफी खुश हूं मैंने उसे कहा कि लेकिन हम लोग तुम्हारे घर पर ज्यादा दिनों तक नहीं रुक पाएंगे। हम लोग मोनिका के घर पर सिर्फ दो दिन हीं रुक पाए और उसके बाद हम लोग वापस अपने घर लौट आए। कुछ समय बाद मैंने अपना ऑफिस जॉइन कर लिया था और अपना ऑफिस ज्वाइन करने के बाद मैं घर देर रात से लौटा करता मोनिका भी मुझे कहने लगी कि अनिल मैं चाहती हूं कि मैं कहीं जॉब करूं। मैंने मोनिका से कहा लेकिन पापा इस बात की इजाजत कभी भी नहीं देंगे मोनिका मुझे कहने लगी कि अनिल मैं घर पर बोर हो जाया करती हूँ तो मैं सोच रही थी कि यदि मैं भी कुछ कर लूंगी तो मुझे भी अच्छा लगेगा मैंने मोनिका को कहा मोनिका मैं इस बारे में पापा से बात करूंगा। मोनिका चाहती थी कि मैं इस बारे में पापा से बात करूं और जब मैंने पापा से इस बारे में बात की तो उन्होंने मुझे मना कर दिया मैंने यह बात मोनिका को बताई तो वह मुझे कहने लगी अनिल आप किसी भी तरीके से पापा को मना लीजिए मैं बस नौकरी करना चाहती हूं।

मैंने भी इस बारे में पापा से बात की दोबारा से जब मैंने पापा से इस बारे में बात की तो उन्होंने मुझे कहा कि ठीक है जब मोनिका जॉब करना चाहती है तो मैं भी अब उसे मना नहीं कर सकता और अब मोनिका ने एक कंपनी में जॉब करनी शुरू कर दी। मोनिका जिस कंपनी में जॉब किया करती थी वह मेरे ऑफिस के ही पास थी इसलिए हम दोनों हमेशा साथ में ही ऑफिस जाया करते हैं और साथ में हम लोग घर लौटा करते हैं। एक दिन हमारे ऑफिस की पार्टी थी उस दिन मैं मोनिका को अपने साथ लेकर गया हमारे ऑफिस के मेरे और दोस्त भी आए हुए थे और जब मेरे बॉस से मैंने उस दिन मोनोका को मिलाया तो उन्होंने मुझे कहा कि तुम्हारी पत्नी मोनिका काफी सुंदर है। मैं अपने बॉस की पत्नी से भी पहली बार ही मिल रहा था और पार्टी में मैं उनके परिवार से पहली बार मिला था उस दिन पार्टी में हम लोगों ने काफी इंजॉय किया। अगले दिन मेरी छुट्टी थी तो मैं उस दिन घर पर ही रुकने वाला था मोनिका मुझे कहने लगी कि अनिल काफी दिन हो गए हैं हम लोग कही साथ में गए भी नहीं हैं। मैंने मोनिका को कहा क्यों ना हम लोग मूवी देखने के लिए चलें तो मोनिका कहने लगी कि ठीक है हम लोग आज मूवी देखने के लिए चलते हैं और हम लोग उस दिन मूवी देखने के लिए चले गए। काफी समय बाद मोनिका और मैं मूवी देखने के लिए गए थे शादी से पहले हम दोनों मूवी देखने के लिए गए थे और शादी के बाद यह पहला मौका था जब हम दोनों साथ में मूवी देखने के लिए जा रहे थे इस दौरान मुझे और मोनिका को समय मिल ही नहीं पाया था। हमारी शादी को 6 महीने पूरे हो चुके थे और हम दोनों उस दिन जब मूवी देख रहे थे तो मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था मैंने मोनिका से कहा मोनिका तुम्हें वह दिन याद है जब हम लोग पहली बार मूवी देखने के लिए आए थे और तुम कितना शरमा रही थी। मोनिका मुझे कहने लगी कि उस वक्त तो मैं तुम्हें अच्छे से जानती भी नहीं थी और हम लोगों की इतनी बातचीत भी तो नहीं हुई थी मैंने मोनिका से कहा हां तुम यह तो ठीक कह रही हो कि उस वक्त हम लोगों की इतनी बातचीत नहीं हुई थी। मैं और मोनिका एक दूसरे के साथ बहुत ही खुश हैं और हम दोनों एक दूसरे के साथ हमेशा अच्छे से समय बिताया करते हैं। जब हम लोग मूवी खत्म होने के बाद घर लौटे तो मोनिका मुझे कहने लगी कि अनिल मैं सुनीता दीदी के घर जा रही हूं थोड़ी देर बाद मैं दीदी से मिलकर वापस लौट आऊंगी मैंने मोनिका से कहा ठीक है तुम थोड़ी देर बाद आ जाना।

मैं घर पर ही था तो मेरी मां ने मुझसे कहा कि बेटा मोनिका कहां है मैंने उन्हें बताया कि वह सुनीता दीदी के घर गई हुई है। सुनीता दीदी से मोनिका की बहुत अच्छी बातचीत है इसीलिए वह उनसे अक्सर मिलने के लिए जाती थी वह हमारे पड़ोस में ही रहती हैं इसलिए मेरी मां भी उन्हें अच्छे से पहचानती हैं। मोनिका अभी तक लौटी नहीं थी तो मैंने मोनिका को फोन किया और कहा कि तुम कितनी देर बाद घर लौट आओगी वह मुझे कहने लगी कि बस थोड़ी देर बाद मैं घर लौट आऊंगी। थोड़ी देर के बाद ही मोनिका घर लौट आई थी जब मोनिका घर लौटी तो मैंने मोनिका से कहा मोनिका तुम मां के साथ खाना बनाने में उनकी मदद कर दो मोनिका मुझे कहने लगी कि हां मैं मां की मदद कर देती हूं और मोनिका भी अब रसोई में चली गई। वह रसोई में मां के साथ खाना बना रही थी और मैं और मेरे पापा साथ में बैठे हुए थे पापा मुझसे बात कर रहे थे और वह मुझसे कह रहे थे कि हम कुछ दिनों के लिए अपने दोस्त की बेटी की शादी में इंदौर जा रहे हैं।

मैंने पापा से कहा पापा लेकिन आपने तो इस बारे में मुझे बताया ही नहीं था पापा कहने लगे कि बेटा मुझे तुम्हें बताने का समय ही नहीं मिल पाया लेकिन अब तुम हमारी ट्रेन की रिजर्वेशन करवा देना मैंने उन्हें कहा हां पापा मैं आपकी रिजर्वेशन करवा दूंगा। कुछ ही घंटों में खाना तैयार हो चुका था और मोनिका ने मुझे और पापा को कहा कि आप लोग खाना खा लीजिए अब हम सब लोगों ने साथ में डिनर किया और उसके बाद हम लोग अपने रूम में चले गए। जब मोनिका मेरे साथ लेटी हुई थी तो मैंने मोनिका को अपनी बाहों में ले लिया और मोनिका से कहा तुम आज बहुत ही अच्छी लग रही हो। मोनिका मुझे कहने लगी अनिल क्या मैं आपको कभी और अच्छी नहीं लगती। मैंने मोनिका को कहा नहीं ऐसी तो कुछ भी बात नहीं है मैंने अपने लंड को बाहर निकाल लिया तो मोनिका ने मेरे लंड को देखकर कहा आज आप मेरी चूत मारना चाहते हैं। मैंने मोनिका से कहां आज मुझे तुम्हारी चूत मारने का काफी मन है मैंने मोनिका की नाइटी को उतार फेंका और उसने जो ब्रा पहनी हुई थी मैंने उसे उतार दिया। मै उसके स्तनों को चूसने लगा मोनिका का शरीर गर्म होने लगा था वह और भी ज्यादा उत्तेजित होने लगी थी। वह बड़े अच्छे से सिसकियां ले रही थी और मेरे शरीर की गर्मी को बढ़ाती जा रही थी। मैंने उसे कहा मैं तुम्हारी चूत मारना चाहता हूं उसने मेरे लंड को अपने हाथों में लिया और अपने मुंह के अंदर समा लिया। जब उसने मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर समाया तो मैंने उसे कहा तुम और अच्छे से मेरे लंड को सकिंग करो। वह मेरे मोटे लंड को बड़े ही अच्छे से अपने मुंह मे लेकर अंदर बाहर कर रही थी उसे बहुत ही मजा आ रहा था और मुझे भी बड़ा आनंद आ रहा था। काफी देर तक वह मेरे मोटे लंड को अपने मुंह के अंदर बाहर करती रही और मेरी गर्मी को वह बढ़ाती जा रही थी मुझे बहुत अच्छा लगा और मैंने उसे कहा मै तुम्हारी चूत मारना चाहता हूं। मैंने उसके पैरों को खोल लिया और उसकी चूत पर अपने लंड को सटाया तो उसकी चूत से पानी बाहर की तरफ को निकल रहा था।

मैंने मोनिका की योनि के अंदर लंड घुसा दिया मोनिका की योनि मे मेरा लंड जा चुका था अब वह मेरी गर्मी को और भी ज्यादा बढ़ा रही थी। मेरा लंड उसकी चूत की दीवार से तेजी से टकराता और उसकी योनि से अलग ही प्रकार की आवाज पैदा होती। मोनिका की चूत कुछ ज्यादा ही पानी छोड रही थी उसने मेरे अंदर की गर्मी को और भी अधिक बढा दिया था। मैंने उसे कहा मुझे तुम्हें धक्के मारने में बहुत मजा आ रहा है वह मुझे कहने लगी तुम मुझे ऐसे ही चोदते रहो। मैंने उसकी चूत का मजा 5 मिनट तक लिया और 5 मिनट बाद मैने मोनिका कि गर्मी को बुझा दिया।

मोनिका ने मुझे कहा आज मैं तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहती हूं मोनिका ने जब मुझे यह बात कही तो मैं समझ गया कि उसकी इच्छा पूरी नहीं हुई है। उसने मेरे लंड पर तेल की मालिश करते हुए मेरे लंड को पूरी तरीके से चिकना बना दिया और अब मेरे लंड को वह अपनी गांड में लेने के लिए तैयार थी। मैंने उसे कहा तुम अपनी गांड के अंदर मेरे लंड को ले लो अब मैंने उसकी गांड के अंदर अपने लंड को घुसा दिया। मेरा लंड उसकी गांड के अंदर तक प्रवेश हो चुका था जब मेरा मोटा लंड उसकी गांड के अंदर गया तो मैंने उसे कहा मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है। मेरा लंड उसकी गांड के अंदर बाहर हो रहा था मोनिका तेज आवाज में सिसकियां ले रही थी और मेरे अंदर की गर्मी को वह बढ़ाती जा रही थी मेरे अंदर की गर्मी को उसने इस कदर बढ़ा दिया था कि मैंने उसे कहा मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है अब मैं बिल्कुल भी रह नहीं पा रहा हूं। मेरे वीर्य को मैंने मोनिका की गांड के ऊपर ही गिरा दिया था उसके बाद मुझे काफी अच्छी नींद आई।


Comments are closed.