फरेबी के चक्कर में चुद गयी मैडम

Farebi ke chakkar me chud gayi madam:
हैल्लो दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी कुशलमंगल होंगे | दोस्तों, चुदाई एक ऐसा एहसास है जिसको पा कर लोग प्यार की भाषा को समझते हैं | चुदाई एक परम्परा है कि जो इस दुनिया में आया उसे एक बार बार चुदाई का मौका जरुर मिलता है | चुदाई वो क्रिया है जिसका पूरा उल्लेख कामवासना और कामसूत्र में वर्णन है | चुदाई हर तरह से की जा सकती है | हर पोजीशन में की जा सकती है | चुदाई हम कभी भी किसी के भी साथ कर सकते हैं | बस हम आपस में रिश्ते में कभी चुदाई नही कर सकते | अलग अलग धर्म में चुदाई के बारे में अलग अलग जानकारी दी गयी है और चुदाई करने से बहुत सारे लाभ हैं | अगर आप दूध चूसते हो तो उससे स्त्री जल्दी प्रभावित होती है और चुदाई के लिए उत्तेजित हो जाती हैं | लंड चूसने से और चाट कर गीला करने से लंड की स्किन ढीली हो जाती है जो कि चूत के अन्दर जा कर फूल जाती है | चूत चाटने से जीभ और मुंह साफ रहता है और लंड चूसने से मुंह का व्यायाम होता है | गांड चोदने से गांड का छेद खुलता है जिससे टट्टी करना आसान हो जाता है और गांड चुदाई भी उतनी ही जरुरी है जितनी की चूत चुदाई और मुंह चुदाई करने से भी | जीवन का परम आनंद ये चुदाई ही है | जितना मन करे उतना चोदो जितनी बार चूत मिले उतनी बार चोदो | ये मत सोचो कि तुम्हारा लंड बड़ा है या छोटा | चूत टाइट है या ढीली बस चुदाई करते रहो | अगर किसी को चूत नही मिलती है तो मादरचोदो रंडी चोदो न | फ्री ज्ञान मिलता है तो सब पढ़ते हैं | लग जाते हैं चुदाई के पीछे ये नही कि बहनचोद पढ़े लिखे और दुनिया के लिए कुछ करे | नही मादरचोद चूत चाहिए | लौड़ा ले लो मेरा | अब सुनो गौर से दुनिया वालो | मेरा नाम है गुरु गुलाब खतरी और मैं दिल्ली में रहता हूँ | मेरी उम्र 25 साल है और मैं सिवाय मुंहचोदी के कुछ नही करता | मैं दिखने में बहुत क्यूट हूँ और कई बार चुदाई कर चुका हूँ | मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है और मेरे लौड़े का साइज़ 8 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है | मैं दिल्ली में अकेले ही रहता हूँ इसलिए इतना मुन्हचोद हूँ | आज मैंने आप लोगो के सामने अपनी पहली कहानी लिखने जा रहा हूँ और ये एक दम सच्ची कहानी है | मुंहचोदी मत लेना नहीं तो गांड तोड़ दूंगा | तो चलो अब मैं कहानी शुरू करता हूँ |
ये तब की बात है जब मैं कॉलेज में था और मैंने अपनी एक प्रोफेसर को फंसाया था | जिसका नाम रीना है और वो दिखने में बहुत गजब माल है | वो दिखने में गोरी है और उसके दूध बहुत बड़े हैं और गांड भी एक गदराई हुई है | वो शादीशुदा है और उसका पति नल्ला है दिनभर घर में ही रहता है और बीवी की हराम की कमाई खाता है | वो रोज दारु पीता है और रीना को नही चोदता | मुझे भी कही ऐसी जगह नही मिलती कि मैं उसे चोद पाऊ और उसका घर भी खाली नही रहता कि वो मुझे अपने घर बुलाये और चुदवा ले | हम दोनों बस पार्क में चुम्मा चाटी और दूध दबाना जैसी हरकते कर लेते थे | पर साला हम दोनों ही चुदाई के लिए तड़प तड़प के बेहाल हुए जा रहे थे | मैं उसे चोदना चाहता था और वो भी मुझसे चुदवाना चाहती थी पर हम दोनों की ऐसी फूटी किस्मत की साला चूत है लंड है पर चुदाई करने की जगह नही | एक दिन उनके घर में किसी रिश्तेदार की डेथ हो गई और उस समय फाइनल इयर वालो के एग्जाम चल रहे थे | रीना ने मना कर दिया कि वो नही जा पायगी तो उसका पति ही 15 दिनों के लिए गाँव चला गया | उसके बाद उसने मुझे फ़ोन की और मुझसे कहा कि आज कॉलेज में मेरी ड्यूटी नही लगी है तुम घर आ जाओ | मैं भी किसी भूखे शेर की तरह तुरंत उसके घर के लिए निकला और उसके घर जैसे ही पंहुचा तो हम दोनों एक दूसरे को सीने से लगा लिए और एक दूसरे को रगड़ने लगे | उसके बाद मैंने उसके होंठ में अपने होंठ रख दिए और उसके होंठ को चूसते हुए दूध भी मसलने लगा | वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगी और मेरा लंड को जीन्स के ऊपर से ही मसलने लगी | फिर मैंने उसके गाउन को उतार दिया और ब्रा के ऊपर से जोर जोर से दूध को दबाने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्करिया लेने लगी | फिर मैंने उसके ब्रा को उतार दिया और उसके दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा जोर जोर से मसलते हुए | वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर के बालो को सहलाने लगी | फिर उसने मुझे पूरा नंगा कर दी और अपने घुटनों के बल बैठ कर मुझे सोफे पर बैठा दिया | फिर उसने मेरे लंड को अपने हाँथ से ले कर हिलाने लगी और फिर अपनी जीभ से चाटने लगी तो मेरे मुंह से आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की सिस्करिया निकलने लगी | वो मेरे लंड को चाट चाट कर गीला कर दिया और फिर अपने मुंह में लंड डाल कर ऊपर नीचे करते हुए चूसने लगी और अपने एक हाँथ से मेरी छाती पे हाँथ फेरने लगी | मैं भी आँख बंद कर के आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया ले रहा था | उसके बाद मैंने उसी सोफे पर बैठा दिया उसको और उसकी टाँगे चौड़ी कर के उसकी चूत पर अपनी जीभ से रगड़ते हुए चाटने लगा और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मचलने लगी | मैं उसकी चूत को चाटते हुए चूत के दाने को होंठ से दबा कर खींच खींच कर चूसने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाने लगी | उसके बाद मैंने उसकी चूत को अपनी ऊँगली से चोदना चालू कर दिया तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड मटकाने लगी | फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत पे रगड़ते हुए अन्दर डाल दिया और शॉट लगाते हुए चोदने लगा | वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए चुदवाने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से धक्के मारते हुए चोदने लगा तो वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी | उसके बाद मैंने उसे घोड़ी बना दिया और उसके पीछे जा कर अपने लंड पर थूक कर फिर से उसकी चूत में रगड़ते हुए अन्दर डाल दिया और चोदने लगा आराम से और वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए चुदाई के मजे ले रही थी | फिर मैंने रफ़्तार बढ़ाते हुए जोर जोर से धक्के मारते हुए चोदने लगा तो वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवाने लगी | फिर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में डाला और चूसने लगी | मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके मुंह के अन्दर ही माल झड़ा दिया और उसने पी भी लिया |
उसके बाद मैंने बीस दिन तक उसे खूब चोदा और उसकी गांड भी चोदा | तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि अप सभी को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आई होगी | नही भी आई तो मेरा क्या जाता है मैंने तो बस लिखी है तुम लोगो ने ही पढ़ कर समय बरबाद किया हा हा हा !


Comments are closed.