दूसरे की गर्लफ्रेंड को चोदने का मजा

Dusre ki girlfriend ko chodne ka maja:

Antarvasna, hindi sex story

मेरा नाम नीरज है, मैं रोहतक का रहने वाला हूं। मेरे पिताजी एक बिल्डर हैं और वह काफी वर्षों से यही काम कर रहे हैं। मैं भी उनके साथ अब काम सीख रहा हूं। मुझे उनके साथ काम सीखते हुए ज्यादा समय नहीं हुआ है। मैंने अपनी कॉलेज की पढ़ाई के बाद ही उनके साथ काम करना शुरू कर दिया। एक दिन हम लोग घर में बैठे हुए थे। मेरे पिता जी कहने लगे कि तुम्हारी मौसी की लड़की की शादी है हमें वहां कब जाना है। मैंने पिताजी से कहा मुझे इस बारे में जानकारी नहीं है आप मम्मी से ही इस बारे में पूछ लीजिए। जब मम्मी से पापा ने इस बारे में पूछा तो मम्मी कहने लगी कि उसकी शादी अगले महीने हैं। पापा कहने लगे  मैं वहां की टिकट बुक करवा देता हूं। मेरी मौसी लोग मुंबई में रहते हैं और मेरी मौसी की लड़की का नाम काजल है। मेरे पापा ने फ्लाइट की टिकट बुक करवा दी।  जब हम लोग मुंबई पहुंचे तो मैंने मुंबई पहुंचते ही अपने कॉलेज के दोस्त को फोन कर दिया और उसे कहा कि मैं मुंबई आया हूं। वह अब मुंबई में ही रहने लगा था।

उसने मुझे कहा कि तुम पहले अपनी मौसी के घर चले जाओ उसके बाद मैं तुम्हें वहीं लेने आता हूं। हम लोग वहां से अपनी मौसी के घर चले गए। उनके घर पर काफी भीड़ थी। उनका घर 2बी.एच.के  का है उनके रिश्तेदार उनके घर पर आए हुए थे हालांकि उन्होंने होटल में बुकिंग की हुई थी लेकिन उनके घर वह लोग उनसे मिलने के लिए लोग आ ही रहे थे। मैंने भी अपनी मौसी से कहा कि मैं अपने दोस्त के साथ जा रहा हूं। मेरे पापा कहने लगे कि कुछ देर तो तुम घर पर बैठ जाओ तुम्हें भी बिल्कुल चैन नहीं है। मेरी मम्मी कहने लगी कोई बात नहीं उसे जाने दो। उसके कुछ देर बाद मेरा दोस्त रजत भी आ चुका था। जब रजत मुझसे मिला तो वह बहुत खुश हुआ। रजत और मैं कार में थे लेकिन मुंबई में बहुत ट्रैफिक होता है।  रजत मुझे कहने लगा कि यहां पर ट्रैफिक से बुरा हाल है। मैंने रजत से कहां अब तो तुम यहीं मजे ले रहे हो। हम तो वहीं पड़े हुए हैं। रजत कहने लगा कहां मजे। यहां अपने लिए ही टाइम नहीं निकल पाता और तुम मजे की बात कर रहे हो। मैंने रजत से पूछा तुमने यहां भी अब गर्लफ्रेंड बना ली होगी। वह कहने लगा नहीं दोस्त यहां मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है। हां मेरे कुछ अच्छे दोस्त हैं। उनमें से कुछ लड़कियां भी हैं लेकिन वह सिर्फ मेरे दोस्त तक ही सीमित है।

मैंने रजत से कहा कि अब हम लोग कहां चल रहे हैं। वह मुझे कहने लगा कि मैं तुम्हें एक बढ़िया जगह लेकर चलता हूं। वह मुझे अपने साथ अपने एक दोस्त के  पब मैं ले गया। मैंने उसे कहा कि अभी तो यहां पर कोई आया भी नहीं है। वह कहने लगा कोई बात नहीं यहां कब शाम हो जाएगी तुम्हें पता ही नहीं चलेगा। हम लोग दोपहर से वहीं बैठे हुए थे और दोपहर से हम लोग ड्रिंक करने लगे। मुझे नशा भी हो रहा था लेकिन मुझे मजा भी आ रहा था। रजत की कंपनी मैं पहले से ही पसंद करता हूं और वह मेरा बहुत अच्छा भी दोस्त है। शाम के वक्त उसके दोस्ती आ गए।  रजत ने मुझे उनसे मिलवाया तो वह लोग भी मुझसे मिलकर बहुत खुश हुए और सब मुझसे पूछने लगे तुम कितने दिनों तक यहां रुकने वाले हो। मैंने उन्हें कहा कि अभी तो हम लोग काफी दिनों तक यहां रुकने वाले हैं। उस दिन मैंने उसके साथ पूरा इंजॉय किया। काफी समय बाद मैंने इतना इंजॉय किया था। रात के वक्त रजत ने मुझे घर छोड़ दिया। मैं अपनी मौसी के घर गया। वहां पर उनके कुछ रिश्तेदार आए हुए थे। मैं अपने आप को जैसे कैसे कंट्रोल कर रहा था। मैं कोशिश कर रहा था कि किसी को पता ना चले कि मैंने ड्रिंक की हुई है। मैं जब काजल के साथ बैठा तो काजल को यह बात पता चल गई कि मैंने ड्रिंक की है लेकिन मैंने उसे कहा कि तुम यह बात किसी को मत बताना।  वह कहने लगी ठीक है मैं किसी को नहीं बताऊंगी। उस दिन तो मैं सो गया लेकिन अगले दिन जब मेरी मुलाकात काजल ने स्वरा से करवाई तो मैं उसे देखकर अपने दिल पर काबू नहीं कर पाया। मैंने काजल से कहा कि तुम स्वरा से मेरी बात करवा दो। वह मुझे बहुत अच्छी लगी। काजल कहने लगी कि उसका पहले से ही एक बॉयफ्रेंड है लेकिन मैं तुम्हें उसका नंबर दे देती हूं यदि तुम्हारा चांस लग गया तो वह तुम्हारी किस्मत है।

मैंने स्वरा का नंबर ले लिया। मैं जब भी स्वरा को देखता तो मैं उस पर लाइन मारने लग जाता। उस पर मैं इतनी ज्यादा लाइन मार रहा था कि उसने मुझसे आकर बात कर ली और मुझे कहने लगी कि लगता है तुम मुझे ही देख रहे हो। मैंने उसे कहा हां मैं तुम्हें ही देख रहा हूं। वह मुझे कहने लगी कि मेरा पहले से ही बॉयफ्रेंड है। मैंने उसे कहा कोई बात नहीं तुम्हारा बॉयफ्रेंड है तो मुझे उस से क्या लेना देना। मेरे दिल में तुम्हारे लिए घंटी बजी तो मैंने सोचा तुमसे बात कर लूं लेकिन तुमसे मेरी इतनी बात नहीं हो पा रही थी फिर तुम ही मेरे पास बात करने आ गई। मैंने उससे थोड़ा बहुत अपनी बातों से इंप्रेस तो कर ही दिया था और मैं अब स्वरा को फोन भी करने लगा था। ज्यादातर समय वह मेरी मौसी के घर पर ही बिताती इसलिए मुझे भी अच्छा मौका मिल गया कि मैं उसके साथ ही ज्यादा टाइम बिता पाऊँ। मैं स्वरा के साथ टाइम बिता कर बहुत खुश था। मैंने स्वरा को अपनी बातों से इंप्रेस कर लिया था। वह मुझसे इतनी ज्यादा इंप्रेस हो गई कि उसके दिमाग से कुछ दिनों के लिए उसके बॉयफ्रेंड का ख्याल ही उतर गया। वह मुझे अपना बॉयफ्रेंड समझने लगी।

मैंने उसे पूरी तरीके से पटा लिया था। वह मेरे साथ बहुत खुश थी जितने दिन मैं वहां पर रुका उतने दिनों तक मैंने उसे चोदा लेकिन जब मैंने उसे पहली बार चोदा तो मैं उसके बदन को देख कर अपने आपको रोक नहीं पा रहा था। मैंने उसके हाथों को पकड़ लिया। उसने मेरे हाथों को पकड़ते हुए सहलाना शुरू किया तो मेरा लंड खड़ा हो चुका था और मेरे अंदर सेक्स की भूख जाग गई। मैंने उसकी मुलायम जांघ पर अपने हाथ को रखा तो वह पूरी तरीके से उत्तेजित हो गई थी। वह मुझे कहने लगी चलो हम लोग कहीं अकेले में बैठते हैं। मैं समझ गया कि इसका अकेले में बैठने का मतलब क्या है। वह मुझे अपने घर पर ले गई। वह बड़ी शरीफ बन रही थी। मैंने उसके होठों को किस करते हुए उसे वहीं नीचे लेटा दिया। जब मैंने उसके स्तनों को दबाया तो वह खुश हो गई। वह अपने कंट्रोल से बाहर हो चुकी थी और मेरे अंदर भी सेक्स की भावना पूरे तरीके से जाग गई। मैंने जब स्वरा के कपड़े उतारे तो उसके नरम और मुलायम स्तन मुझे अपनी और खींच रहे थे। मैंने जैसे ही अपनी नर्म जीभ को उसके निप्पल के ऊपर लगाया तो वह मुझे कहने लगी तुम बड़े अच्छे से मेरे बदन का रसपान कर रहे हो। मैंने उसके पूरे बदन को ऊपर से लेकर नीचे तक चाटा। जब मेरे अंदर की गर्मी बढ़ने लगी तो मैंने अपने लंड को बाहर निकाल दिया। मैंने स्वरा को कहा तुम मेरे लंड को चूस कर मेरी इच्छा पूरी कर दो। वह कहने लगी मुझे लंड चूसना अच्छा नहीं लगता लेकिन मैंने उसे जीद करते हुए कहा। मैने उसके मुंह में लंड को डाल दिया। पहले वह बड़े नखरे कर रही थी और कह रही थी मैं तुम्हारे लंड को नहीं सकिंग करूगी लेकिन जब वह मेरे लंड को चूसने लगी तो उसे भी अच्छा लगने लगा। उसने मेरे लंड को गले तक लेकर चूसना शुरू किया। काफी देर तक उसने सकिंग किया। उसके बाद मैंने उसकी चिकनी चूत के अंदर अपने लंड को डालने की कोशिश की लेकिन उसकी योनि बड़ी टाइट थी। मेरा लंड उसकी चूत में नहीं जा रहा था। मैंने भी ताकत लगाते हुए उसकी चूत के अंदर अपने लंड को डाल दिया। जैसे ही मेरा लंड उसकी योनि के अंदर घुसा तो वह चिल्ला उठी। मैं उसकी चूत के अंदर बाहर अपने लंड को करने लगा। मैने उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख लिया। उसकी योनि से पानी निकल रहा था और खून भी निकल रहा था। उसके बॉयफ्रेंड ने उसे कभी नहीं चोदा था। मैने ही उसकी सील तोड़ी थी। मैं अपने आप को बहुत गौरवान्वित महसूस कर रहा था। मैंने स्वरा को बहुत देर तक चोदा। जब मेरे लंड ने वीर्य को बाहर की तरफ निकाल दिया तो उसके बाद मैंने उसे कहा हम दोनो अपने कपडे पहन लेते है।


Comments are closed.


error: