दोस्त की गर्लफ्रेंड की मस्त चुदाई

Dost ki girlfriend ki mast chudai:
indian sex stories नमस्कार पाठको,कैसे हो आप सभी लोग ? मैं आशा करता हूँ की आप सभी ठीक ही होगे | तो दोस्तों आप लोगो को चुदाई करने का समय मिला रहा है या नही या दोस्तों चुदाई करने के लिए लड़की नहीं मिलती है ? जिन दोस्तों के पास लड़की है वो मेरे दोस्त तो चुदाई का पूरा मज़ा ले रहे ही होंगे अगर नहीं ले रहे हो तो मैं आप लोगो को बताना चाहता हूँ की चुदाई का मज़ा लेते रहो और अपनी गर्लफ्रेंड को चुदाई का मज़ा देते रहो अगर वो तुम्हारा लंड नहीं पायेगी तो तुम्हारे दोस्त का लंड अपनी चूत में लेगी | इससे अच्छा है की तुम ही मस्त चुदाई करते रहो | अब दोस्तों में तुमको अपने बारे में बता देता हूँ | मेरा नाम मनोज है | मैं रहने वाला कोलकाता का हूँ | मैं बी ऐ फस्ट इयर में पढता हूँ | मेरी उम्र 19 साल हैं | मैं दिखने में बहुत गोरा हूँ | मेरी हाईट 6 फुट 10 इंच है | मेरे लंड का साइज़ 8 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है | मैं अपने मम्मी और पापा की इकलोती संतान हूँ इसलिए मेरे मम्मी पापा मुझे बहुत प्यार करते हैं | मेरे मम्मी घर काम करती हैं और मेरे पापा एक साफ्टवेयर कम्पनी में जॉब करते हैं | मुझे सेक्सी कहानियाँ पढना बहुत पसंद है | मैं जब भी सेक्सी कहानी पढता था तो मेरा भी मन करता की मैं भी एक कहानी लिखूं और मैं आज एक कहानी को लेकर आया हूँ | ये मेरी पहली कहानी है तो इस कहानी में कोई भी गलती आप लोगो को नजर आ सकती है | दोस्तों अगर आप लोगो को कहानी में कोई गलती नजर आती है तो मुझे माफ़ करना | मैं आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी और पढने में मज़ा भी आएगा | मैं आप लोगो का ज्यादा समय ने लेते हुए सीधे अपनी कहानी पर आता हूँ |

ये कहानी कुछ दिन पहले की है | मेरा एक दोस्त है जिसका नाम विक्रम है | मेरे दोस्त की एक गर्लफ्रेंड थी | उसका नाम माधुरी है | वो दिखने में बहुत सेक्सी है और वो दिखने में दूध की तरह गोरी है | उसका मस्त फिगर है | उसके बड़े बड़े बूब्स और उसकी बड़ी चौड़ी गांड जिसको देख कर किसी बूढ़े आदमी का भी लंड खड़ा हो जाये | मेरा भी यही हाल होता था जब मैं उसकी मटकती गांड को देख लेटा था | वो मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड थी इसलिए मैं कभी उसको टच नही करता था | पर मुझे नही पता था वो मुझे पसंद करती है और वो मुझसे कभी कभी मजाक में मेरे लंड को भी टच कर देती थी | एक दिन की बात है जब मेरा दोस्त नहीं था | तब वो मेरे साथ बैठ कर बाते कर रही थी और मुझे बार बार टच कर रही थी जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया | जब मेरा लंड खड़ा हो गया | तो वो मेरे लंड की तरफ देख कर बोली कितना बड़ा है | तब मैंने कहा देखोगी और उसने कहा दिखाओ | तब मैंने उससे कहा यहाँ नहीं घर चलते हैं वहाँ दिखता हूँ |

जब मैं घर पर आया तो मैंने उसको बाँहों में भर लिया और उसकी होठो पर अपने होठ रख कर उसके होठो को चूसने लगा | वो मेरा साथ देती हुई मेरी होठो को चूसने लगी | मैं उसके होठो को चूसने के साथ में उसके बूब्स को दबा रहा था | मैं उसको कुछ देर तक किस करने के बाद मैंने उसके कपडे निकाल दिए | वो ब्रा और पेंटी में थी | मैं उसके एक दूध को पकड कर ब्रा के ऊपर से दबाने लगा | तो वो उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह करने लगी | मैं उसके बूब्स को दबाते दबते उसकी ब्रा भी खोल दी और उसके एक दूध को मुंह में भर कर चूसने लगा दुसरे को हाथ से दबाने लगा | तो उसके मुंह से हलकी हलकी आवाज में उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अहह करती हुई अपनी चूत को सहलाने लगी | मैं उसके दूध को मुंह में रख कर चूस रहा था | वो अपनी चूत को सहलाती हुई उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह कर रही थी | मैं उसके पहले वाले दूध को छोड़ कर दुसरे वाले को मुंह में रख कर चूसने लगा और पहले वाले को हाथ से दबाने लगा | तो वो उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह करने लगी | मैं उसको बूब्स को कुछ देर तक ऐसे ही एक एक करके चूसता रहा | वो अपनी चूत को सहलाती हुई उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह करती रही | फिर मैंने उसके बूब्स को छोड़ कर उसकी टांगो को थोडा सा फेला कर उसकी चूत में अपना मुंह घुसा कर उसकी चूत को चाटने लगा | वो उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह करती हुई अपने बूब्स को मसलने लगी | मैं उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर अन्दर बाहर करते हुए चूत को चाटने लगा | वो उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह करती जी अपने बूब्स को जोर जोर से मसलने लगी | फिर मैंने उसकी चूत में अपनी ऊँगली घुसा कर ऊँगली को अन्दर बाहर करते हुए उसकी चूत को अपनी ऊँगली से चोदने लगा | तो उसके मुंह से उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह की सिसिकियाँ निकल गयी | मैं उसकी चूत को ऐसे ही कुछ देर तक चोदता रहा | फिर मैंने अपने कपडे निकाल दिए और अपने लंड को उसके हाथ में पकड़ा दिया | वो मेरे लंड को हिलाती हुई अपने मुंह में रख कर चूसने लगी | तो मेरे मुंह से उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह की सिसिकियाँ निकल ही गयी | वो मेरे लंड को अपने मुंह में अन्दर बाहर करतती हुई चूस रही थी और मैं उसके मुंह को धीरे धीरे धक्को के साथ चोदने लगा साथ में उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह करने लगा | मैं अपने लंड को कुछ देर तक ऐसे ही चूसाता रहा | फिर मैंने उसकी टांगो को थोडा सा फेला कर चूत के मुंह पर लंड को रख कर घुसा दिया | तो उसके मुंह से उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह्ह करती हुई चुदने लगी | मैं उसकी चूत में धीरे धीरे धक्को के साथ उसको चोदने लगा | फिर मैंने उसकी चूत में धक्को की स्पीड तेज कर दी | तो वो उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह करती हुई अपनी चूत को सहलाने लगी | मैं उसको जोरदार धक्को के साथ चोदने लगा | मैं उसकी चूत में लंड को अन्दर बाहर करते हुए जोर जोर से चोदने लगा | वो उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह करती हुई अपने चूत को हिला हिला कर चुदने लगी | मैं उसकी चूत में लंड जोर से अन्दर बाहर करने लगा | वो अपने बूब्स को मसलती हुई उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह कर रही थी | मैं चूत में फुल स्पीड से चोदने लगा | मैं चूत में जोर जोर से लंड को अन्दर बाहर करने लगा | वो अपनी चूत को आगे पीछे करती हुई चोदने लगी साथ में उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह फ्फ्फ ह्ह्ह फ्फ्फ्हह्ह उह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह करती हुई चुद रही थी | मैं उसको जोरदार धक्को के साथ 35 मिनट तक चोदने के बाद मेरे लंड ने सारा माल उसकी चूत के ऊपर निकाल दिया और मैं झड गया | इस तरह से मैंने अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड की मस्त चुदाई की अब वो मुझसे अक्सर चुदती रहती है |

ये थी मेरी कहानी | मैं आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी और पढने में मज़ा भी आया होगा | मेरी कहानी पढने के लिए धन्यवाद |


Comments are closed.