दोस्त की बहन को चोदा

Dost ki bahan ko choda:

हेल्लो फ्रेंड्स, मेरा नाम राणा है और मैं कटनी का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 21 साल है और मेरा रंग गोरा है | मेरी हाईट 5 फुट 11 इंच है, और फिटनेस बहुत अच्छी है | मेरे लंड का साइज़ 9 इंच लम्बाई और 3 इंच मोटाई है (खुद से नापा गया साइज़) | दोस्तों, ये मेरी पहली कहानी है जो मैं आप लोगो को आज बताने वाला हूँ ये कहानी मेरे और मेरे दोस्त की बहन के बीच की है जिसे मैंने चोदा था, अब मैं ज्यादा वक़्त न लेते हुए सीधा कहानी पे आता हूँ |

ये घटना दो साल पहले की है | उस समय मैं और मेरा दोस्त रोहन एक ही कॉलेज और एक ही क्लास में पढ़ते थे, हमने साथ में कॉलेज में एडमिशन लिया था और किस्मत से हमें एक ही क्लास में एडमिशन मिला तब से हम बहुत अच्छे दोस्त बन गए थे | मैं रोहन साथ में कुछ ज्यादा ही वक़्त बिताते थे ऐसा नहीं था कि हमारे और दोस्त नहीं थे, दोस्त तो बहुत थे पर हम दोनों ज्यादातर साथ में ही रहते थे और क्लास में भी साथ ही बैठते थे | उस समय रोहन की बहन शिखा स्कूल में पढ़ती थी | मेरे घर में मैं और मम्मी पापा रहते हैं और रोहन के परिवार में रोहन, उसकी बहन और उसकी मम्मी रहते हैं | उसके पापा मुंबई में जॉब करते हैं जो कभी कभी ही घर आ पाते थे | मैंने रोहन की बहन शिखा को कभी नहीं देखा था पर रोहन हर बार 1 बजे कॉलेज से निकला जाया करता था क्यूंकि वो अपनी बहन को लेने जाता था स्कूल और फिर वो दोनों घर चले जाते थे |

एक बार कि बात है रोहन को पीलिया हो गया था और वो हॉस्पिटल में एडमिट था और रोहन का दोस्त होने के नाते मुझे अपनी दोस्ती निभानी थी | रोहन के साथ तो उसकी मम्मी हॉस्पिटल में रुक जाती थी पर उसकी बहन को स्कूल से लाने वाला कोई नहीं था तो रोहन ने ये जिम्मेदारी मुझे सौंप दी कि तू स्कूल छूटने के बाद मेरी बहन को स्कूल से घर छोड़ देना और जब तक वो खाना बना के रेडी कर दे तू तब तक तू घर पर ही रुकना और फिर तू खाना ले के मेरी बहन के साथ हॉस्पिटल आ जाना और मम्मी को घर छोड़ देना | ये मेरी जिम्मेदारी थी जो मुझे निभानी थी तो मैंने रोहन को हाँ बोल दिया था | उसे मुझपे बहुत भरोसा था और मैं रोहन के भरोसे को नहीं तोडना चाहता था | फिर मैं अगले दिन रोहन की बहन को स्कूल लेने गया लेकिन मैंने उसे देखा तो था नहीं तो मैं वहीँ वेट करने लगा स्कूल के बाहर, तभी एक लड़की मेरे पास आई और मुझे कहा कि आप राणा है क्या ? तो मैंने कहा हाँ आप कौन ? मैंने आप को पहचाना नहीं ! तो उसने बताया कि मैं शिखा हूँ और भैया ने बताया था कि राणा के पास ब्लैक कलर की पल्सर गाड़ी है जिसमे आगे जय महाकाल लिखा हुआ होगा तो | तभी मैं आपके पास आई तो मैंने कहा अच्छा तो तुम हो उसकी बहन तो उसने जवाब में हाँ कहा (दोस्तों उसकी बहन इतनी गोरी है कि क्या बताऊ, कमर एक दम पतली भारी दूध और अच्छी चौड़ी गांड, और हाईट भी उसकी अच्छी है) |

पर मैं उसके बारे में गलत नहीं सोचता था कि वो वैसी होगी, फिर वो मेरे पीछे बाइक पर बैठ गयी और हम घर की ओर चल पड़े थे, उसे स्कूल के बाद फुलकी खाने की आदत थी और मुझे तभी पता चला जब उसने उस समय फुलकी के ठेले के पास गाड़ी रुकवाई | फिर मैंने उसे फुलकी खिलाई और घर के लिए निकल पड़े | 15 मिनट के बाद हम उसके घर पंहुचे तो उसने कहा कि आप यहीं बैठ जाइये और टीवी देखिये जब तक मैं नहा लेती हूँ तो मैंने कहा ओके और टीवी चालू करके देखने लगा और वो नहाने चली गयी | 10 मिनट के बाद उसने आवाज़ लगायी कि भैया मैं टोवल लाना भूल गयी हूँ तो क्या आप मुझे टोवल लाकर दे सकते हैं तो मैंने पूछा कि कहाँ रखा है टोवल ? तो उसने बताया कि आप मेरे रूम में जाना बेड पर ही मिल जाएगी | तो मैंने कहा ठीक है देता हूँ फिर मैं उसके रूम गया और टोवल उठाई तो उसके नीचे उसके ब्रा और पेंटी रखे हुए थे ये देख के मैं मदहोश हो गया पर मैंने जैसे तैसे काबू किया अपने ऊपर | फिर मैं टोवल ले कर बाथरूम की तरफ गया और उसे कहा कि शिखा ये लो टोवल तो उसने दरवाजा खोला और मुझे भी अन्दर खींच लिया शावर तो चालू ही था जिस वजह से मैं भीग गया था और मैंने उसे नंगी हालत में देखा तो मैं दंग रह गया कि स्कूल में पढने वाली लड़की का फिगर इतना सॉलिड कैसे हो सकता है ? मैंने शिखा से कहा कि तुम ये क्या कर रही हो ? ये सब ठीक नहीं है छोड़ो मुझे तो उसने कहा कि ज्यादा नाटक मत कर मैंने देखा लिया था जब तू मेरे दूध को घूर रहा था और ऊपर से नीचे तक मुझे निहार रहा था | उसकी ये टोन सुनकर मैं दंग रह गया था फिर उसने अपने होंठ मेरे होंठ में रख कर किस करने लगी तो मैंने उसे अपने से अलग किया | तो वो बोली कि ज्यादा नाटक मत कर जो मैं कर रही हूँ मुझे करने दे नहीं तो मैं चिला दूंगी और मम्मी और भाई को बता दूंगी तेरी हरकत के बारे में तो मैं चुप हो गया | फिर उसने मेरी शर्ट उतारी और मेरे बदन पे हाँथ फेरते हुए मुझे किस करने लगी और ना चाहते हुए मुझे भी ऐसा करना पड रहा था | मैं भी उसका साथ किस करने में देने लगा और किस करते करते उसने मेरा हाँथ उठा के अपने दोनों दूध पर रख लिए और खुद ही मेरे हाँथ से अपने दूध दबवाने लगी | उसके दूध दबाते हुए मुझे मजा आ रहा था और मैं अब जोश में आ चुका था |

अब उसे कुछ भी करवाने की जरुरत नहीं थी मैं ही सब कर रहा था | मैं उसके दूध को दबा दबा कर मासल रहा था और उसे किस भी करते जा रहा था | 10 मिनट तक किस करने के बाद मैंने उसके एक दूध को मसल शुरू कर दिया और दूसरे दूध को जोर जोर से चूसने लगा और चुच्चियाँ चाट चाट के चूस रहा था और वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी थी | फिर मैंने उसके दोनों दूध को साथ में ले कर चूसने लगा और वो जोर जोर से आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः सिस्कारियां भर रही थी | मुझे उसके दूध चूसने में बहुत मजा आ रहा था | फिर उसने मेरा पेंट उतार दी और चड्डी भी वो मेरा तम्बू जैसा खड़ा लंड देख के बहुत खुश हुई और कहने लगी कि तेरा लंड तो बहुत बड़ा और मोटा है इसको चूत में लेने में तो मजा ही आ जाएगा | तो मैंने कहा कि तो देर किस बात की है तो उसने बोला कि अभी प्यार तो कर लूं इस लंड को तभी तो चूत में लूंगी | फिर वो अपने घुटने का बल बैठ कर मेरे लंड को चूमने लगी हर जगह और फिर धीरे धीरे करते हुए मेरे लंड के टॉप को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी | मुझे उसका ऐसा करना अच्छा लग रहा था और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगा | फिर वो मेरे लंड को अपने गले तक उतारते हुए पूरा लंड मुंह में डाल कर चूसने लगी और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रहा था | 15 मिनट तक उसने मेरे लंड को खूब चाटा और चूसा था |

फिर वो वहीँ लेट गयी और मुझे अपनी चूत चाटने का इशारा करने लगी मैं समझ गया था उसका इशारा और मैं भी लेट कर उसकी चूत को चाटने लगा जो कि गीली हो चुकी थी | मैं जब उसकी चूत चाट रहा था तब वो लम्बी लम्बी सिकरियां भरते हुए आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही थी | 10 मिनट तक मैंने उसकी चूत चाटी और फिर उसे वहीँ घोड़ी बना के पीछे से चोदने लगा और अपना माल उसकी गांड में गिरा दिया | फिर हम दोनों साथ में नहाये और खाना होटल से पैक करवा के हॉस्पिटल पंहुच गए | फिर मैं उसकी मम्मी को ले कर घर छोड़ दिया और रात में फिर शिखा को घर ले आया और फिर हम दोनों ने सेक्स किया | रोहन हॉस्पिटल में 12 दिन रहा और मैं 12 दिन में 24 बार शिखा को चोद चुका था |


Comments are closed.