डॉक्टर से डॉक्टर की चुदाई

Doctor se doctor ki chudai:
नमस्कार पाठको, मेरा नाम सुमन है और झांसी की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 34 साल है और मैं पेशे से एक डॉ. हूँ | मैं दिखने गोरी हूँ और मेरा फिगर सेक्सी और गदराया हुआ है | मैं रायपुर में जॉब करती हूँ और किराये से रहती हूँ | मुझे कुछ टाइम ही हुआ है डॉक्टर बने हुए | दोस्तों मैं बहुत ही चुदक्कड हूँ और मुझे चुदवाने का बहुत शौक है | मेरा पति मेरा पूरा नही कर पाता इसलिए मैं लंड की प्यासी हूँ | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन में घटित कुछ घटनाओ में से एक है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आयगी और मेरी कहानी पढ़ कर आप लोगो को मजा भी आयगा | मैं चुदाई की कहानी बड़े शौख से पढ़ती हूँ और मुझे चुदाई की कहानिया पढना बहुत अच्छा लगता है | अब मैं आप लोगो का ज्यादा टाइम नही लूंगी और सीधा अपनी कहानी पर आती हूँ |
ये घटना एक महीने पहले की है | मेरे हॉस्पिटल में एक बंदा काम करता है जिसका नाम रोहित है और वो दिखने में गोरा है और काफ़ी हेंडसम भी है | मैं उससे चुदवाना चाहती थी पर चुदवाने से पहलें उससे दोस्ती करनी जरुरी थी | मैं उससे किसी न किसी बहाने से बात करती पर वो मेरी लाइन में नही आ रहा था | जब मैं और वो कभी साथ में बैठते तो मैं कभी अपने दूध पर हाँथ फेरती तो कभी अपनी चूत पर | मैं उसे किसी भी तरीके से उसे पटाना चाहती थी और पटा कर चुदवाना चाहती थी | पर वो थोडा सीधा सादा था | एक दिन की बात है मैं और वो दोनों लिफ्ट ही लिफ्ट में थे तो मैंने एक दम से चक्कर आने का बहाना बनाया और गिरने लगी तो उसने मुझे संभाला और मैं उसकी बांहों में आ गई थोड़ी देर बाद मैं उठ गई और उसने मुझसे पूछा कि क्या हुआ ? तो मैंने उसे बताया कि मैंने सुबह कुछ नही खाया और थोड़ी कमजोरी भी लग रही है इसलिए चक्कर आ गया था | तो उसने कहा कि खाया तो मैंने भी नही है एक काम करते हैं चलो कैंटीन में चल कर कुछ खाते हैं | मैंने हाँ बोल दिया | फिर हम दोनों कैंटीन गए और खाते खाते नॉर्मली ही बात करने लगे | बात करते करते मैंने सोचा कि यही सही मौका है इससे अपने दिल की बात कह देती हूँ | तो मैंने उससे कहा कि रोहित मैं तुमसे एक बात कहना चाहती हूँ | तो उसने कहा कि हाँ बोलो न क्या बोलना है ? तो मैंने उससे क्लियर बोल दिया कि रोहित तुम मुझे बहुत अच्छे लगते हो मैं तुम्हारी दोस्त बने रहना चाहती हूँ | उसने भी कहा ठीक है हम दोस्त बन सकते हैं पर उससे ज्यादा की कोई मुझसे उम्मीद मत रखना क्यूंकि मैं एक शादीशुदा आदमी हूँ | तो मैंने उससे कहा कि तुम मुझ पर भरोसा रखो मैं तुम्हारी बाते समझती हूँ और तुम मन में ये डाउट मत रखना कि मैं तुम्हारी गृहस्ती ख़राब कर दूंगी | फिर ऐसे ही बात करने लगे और खाने के बाद हम दोनों अपने अपने काम में लग गए | एक दिन मैं हॉस्पिटल नही गई और उसे फोन की कि यार मुझे तुम्हारी हेल्प चाहिए है क्या तुम मेरे घर आ सकते हो ? तो उसने कहा कि ठीक है मैं थोड़ी देर से आता हूँ तुम्हारे घर | मैं उस समय गाउन पहने हुई थी और रोहित आधे घंटे के बाद मेरे घर आ पंहुचा |
मैंने उसे अन्दर बुलाया और बैठा दिया | उसने मुझसे पूछा कि क्या हेल्प चाहिए है तुम्हे ? तो मैंने कहा रुको बताती हूँ और सीधा उसके होंठ में अपने होंठ रख दिए और उसके होंठ को चूसते हुए उसके दोनों हाँथ पकड़ लिए | अब वो बेचारा क्या करता ? बदनामी के डर से उसे मेरा साथ तो देना ही था | वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगा | मैंने उसके होंठ को 15 मिनट तक चूसा था | उसके बाद मैंने उसके शर्ट को उतार दिया और फिर बनियान | फिर मैंने उसके पेन्ट को उतारा और फिर अंडरवियर को उतार कर पूरा नंगा कर दिया | उसके बाद मैंने भी अपने गाउन को निकाल दिया और फिर उसी के सामने ब्रा और पेंटी उतार कर खुद भी नंगी हो गई | वो मेरे बड़े बड़े दूध को घूर घूर कर देख रहा था तो मैंने उसके दोनों हाँथ उठा कर अपने दूध पर रख दिया और जब वो मेरे दूध को दबाने लगा तो मेरे मुंह से आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की सिस्करिया निकलने लगी | फिर मैंने उसके मुंह को अपने दूध के पास लाइ तो वो मेरे दोनों दूध को बारी बारी से चूसने लगा | मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके सिर पर हाँथ फेरने लगी | वो मेरे दोनों दूध को जोर जोर से मसलते हुए चूसने लगा और निप्पलस भी खींच कर चूस रहा था और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसे सहला रही थी | मैं नीचे जमीन पर बैठ गई अपने घुटनों के बल और उसके लंड को हाँथ में ले कर हिलाने लगी और फिर अपनी जीभ से चाटने लगी उसके लंड को तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया लेने लगा | मैं उसके लंड को चाट चाट कर अच्छे से गीला कर रही थी और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया ले रहा था | फिर मैंने उसके लंड को अपने मुंह के अन्दर डाल कर उपर नीचे करते हुए चूसने लगी तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे दूध को दबाने लगा | मैं जोर जोर से ऊपर नीचे करते हुए उसके लंड को चूस रही थी और दोनों अन्टोलो को भी होंठ से चूस रही थी और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया ले रहा था | फिर उसने मुझे पलंग पे लेटा दिया और मेरी दोनों टांगो को चौड़ी कर दिया और फिर उसने अपनी जीभ मेरी चूत में लगाते हुए चाटने लगा तो मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मदहोश होने लगी | वो मेरी चूत को चाट रहा था रगड़ रगड़ कर और चूत के दाने को भी चूस रहा था और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए पागल हो रही थी | फिर उसने अपनी ऊँगली डाल कर मेरी चूत की चुदाई चालू कर दिया और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत मिएँ रगड़ते हुए अन्दर डाल दिया और चोदने लगा धक्के मारते हुए मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ कर रही थी और चुदाई का मजा ले रही थी | फिर उसने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर और से मेरी चूत को चोदने लगा | मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी | फिर उसने मुझे कुतिया बना दिया और पीछे से मेरी चूत में लंड डाल कर जोर जोर से चोदने लगा धक्के मारते हुए | मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदाई में साथ दे रही थी | करीब 45 मिनट के बाद वो मेरे ऊपर झड़ गया | उसके बाद उसने अपने आप को ठीक किया और वहां से बिना कुछ बोले चलता बना | फिर उसने मुझसे कभी बात नही की |
तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आई होगी |


Comments are closed.