दिवाली मना के चुदवाई अपनी चूत

Diwali mana ke chudwayi apani chut:
हैल्लो फ्रेंड्स, कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करती हूँ कि आप सभी अच्छे और कुशलमंगल होंगे | कहानी शुरू करने से पहले मैं आप सभी को दिवाली की बहुत बहुत शुभकामनाये देती हूँ और इस त्यौहार में जिसे भारत का सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है कृपया शांति से मनाए | किसी भी तरह से किसी को भी नुकसान ना पंहुचाये और ख़ुशी ख़ुशी त्यौहार का आनंद ले | मेरा नाम सीमा है और मैं रीवा में रहती हूँ | मेरी उम्र 32 साल है और मैं विधवा हूँ इसलिए मैंने अपने नाम की एक शॉप खोली है जिसका नाम सीमा जनरल है | मैं दिखने में गोरी चिट्टी हूँ और मेरा बदन सुडोल है | सभी मुझसे कहते हैं कि तेरा फिगर बहुत सेक्सी लगता है | मैं भी यही मानती हूँ कि मेरा फिगर सेक्सी है | मेरे घर में मैं और मेरे ससुर जी बस हैं | पति और मेरी सास की मौत हो चुकी है तीन साल पहले | मेरे पति से मुझे एक बेटी है जो स्कूल में पढाई करती है | आज जो मैं आप लोगो के समाने अपनी कहानी प्रस्तुत करने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है | मैं अपने जीवन की सच्ची घटना आप लोगो के समाने पेश करने जा रही हूँ और अगर आप लोगो को मेरी इस कहानी में कोई गलती नजर आती है तो मुझे माफ़ करना क्यूंकि मैं जल्दी जल्दी में ये कहानी लिख रही हूँ | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय नही लूंगी और अपनी कहानी शुरू करती हूँ |
ये घटना पिछले दिवाली की है | मेरे पति तो रहे नही जो घर का काम कर सके तो मैं ही घर की साफ सफाई कर रही थी और मेरे ससुर मेरी मदद कर रहे थे | जब पूरे घर की साफ सफाई हो गयी तो मैं अग्रवाल वाले के पास जा कर वहां से पेन्ट और डिस्टेम्पर ले कर आई | सब कुछ तैयार करने के बाद मैं घर की खुद ही पुताई कर रही थी कि तभी मेरी नजर एक लड़के पर पड़ी जो मुझे देखते हुए मुठ मार रहा था | हमारा घर डबल स्टोरी का है और मेरे उपर वाले के रूम के जस्ट सामने एक घर है जहा पर सूरज नाम एक लड़का किराये से रहता है | वो प्राइवेट जॉब करता है और वो दिखने में समार्ट तो है पर मैंने कभी उसके बारे में ये नही सोचा था कि वो लड़का मुझे चोदने के सपने देखता होगा | मैं पेन्ट करते हुए उसके लंड को देखने लगी और वो भी मुझे देखते हुए मुठ मार रहा था | वो शायद मुझे उत्तेजित करने की सोच रहा था और उसका ऐसा सोचना सही भी था क्यूंकि मैं उसका लंड जो कि 9 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा होगा देख कर उत्तेजित हो चुकी थी | मेरी चूत भी गीली हो चुकी थी उसका लंड देख कर | मन तो मेरा भी करने लगा था कि मैं उससे चुदवा लूं क्यूंकि इतना बड़ा लंड मैंने कभी नही देखा था | जब मुझसे रहा नही गया तो मैंने ससुर जी से कहा कि बाबू जी मैं नहाने जा रही हूँ आज बस इतना ही हो पा रहा है मुझसे | बाबू जी ने भी कहा कि ठीक है बहु तुम नहा लो मैं भी जब तक कुछ लाइट का सामान ले कर आता हूँ | फिर मैं नहाने चली गयी और नहाते हुए मुझे उसका लंड याद आ गया और मैं गरम हो गयी तो मैंने ऊँगली से अपनी चूत चोदना चालू कर दिया | कुछ देर ऊँगली से चुदाई के बाद मैं झड़ गयी | फिर नहा कर 15 मिनट के बाद बाहर आई और खाना बनाने चली गयी | अगले दिन मैं फिर से उसी कमरे की पुताई करने लगी जो मैंने पिछले दिन अधूरी छोड़ दी थी | जब मैं पुताई कर रही थी और बार बार उसके घर की तरफ देख रही थी पर वो आ ही नही रहा था | मैं हर 5 मिनट के बाद उसे देखती पर वो दिख नही रहा था | आधे घंटे के बाद मेरी पुताई पूरी हो गयी तो उसके बाद जब मैंने उसके घर की तरफ देखा तो वो मुठ मारते हुए दिखा | उस समय बाबू जी गये हुए थे थोडा सामान लेने | मैं अकेली थी घर में तो सोचा इसे बुला लेती हूँ | जब मैंने उसे इशारे से अपने घर बुलाया तो वो आते ही साथ मुझे अपनी बांहों में भर लिया | तो मैंने उसे दूर करते हुए कहा कि इतनी भी क्या जल्दी राजा अभी नही चुदवाउंगी तुझसे | तो उसने पूछा कि तो बुलाया क्यों ? तो मैंने कहा कि मैंने तुझे ये बोलने के लिए बुलाया कि तू दिवाली में मेरे घर आना उस समय मैं घर में अकेली रहूंगी क्यूंकि दिवाली को पूजा होने के बाद मेरी बेटी और ससुर रिश्तेदार के पास जाते हैं | तो वो राजी हो गया और घर से चला गया | मैं भी अपने काम में लग गई | अब वो इन्तेजार खत्म हो गया था और मेरे बाबू जी और मेरी बेटी दोनों ही चले गये और जैसे ही निकलने तो वो तुरंत ही मेरे घर आ धमका | आते ही साथ उसने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मैं भी उसकी बांहों में खींची चली गई | उसके बाद उसने मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठ को चूसने लगा | मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगी |
करीब 10 मिनट किस करने के बाद उसने मेरे कुर्ते को उतार दिया और मेरी ब्रा के ऊपर से ही दूध को दबाने लगा तो मेरे मुंह से आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की सिस्कारियां निकलने लगी | फिर उसने मेरी ब्रा को उतार दिया और दोनों दूध को अपने मुंह में भर कर जोर जोर से मसलते हुए चूसने लगा | मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | वो मेरे दूध को जोर जोर से दबाते हुए चूस रहा था और निप्पलस को भी होंठ में दबा कर चूस रहा था और मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके सिर पर हाँथ फेर रही थी | उसके बाद मैंने उसके कपडे उतार कर नंगा कर दिया और उसकी अंडरवियर को उतार कर अपने घुटनों के बल बैठ गयी जमीन पर और उसका लंड अपने हाँथ में ले कर जीभ से चाटने लगी तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारियां लेने लगा | मैं उसके लंड अब अपने मुंह में ले कर आगे पीछे करते हुए चूसने लगी तो वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे मुंह को चोदने लगा | फिर उसने मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरे पायजामे को उतार कर पेंटी भी अलग कर दिया | अब मैं भी पूरी नंगी हो चुकी थी तो उसने मेरे दोनों पैरो को फैला दिया और अपनी जीभ मेरी चूत में रख कर चाटने लगा | मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मदहोश होने लगी और मेरी चूत एक बार पानी छोड़ चुकी थी | वो मेरी चूत को चाटते हुए चूत के दाने को भी चूस रहा था और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मचलने लगी | फिर उसने मेरी चूत को ऊँगली से चोदने लगा तो मैंने उससे आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए कहा कि ऊँगली से नही अपने लंड से चोदो | फिर उसने अपना लंड मेरी चूत में टिका कर अन्दर डाल दिया और चोदने लगा और मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपने दूध मसलने लगी | फिर उसने अपनी चुदाई की रफ़्तार बढ़ा दिया और जोर जोर से चोदने लगा तो मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा चुदवाने लगी | कुछ देर चोदने के बाद उसने मेरे ऊपर ही अपना माल निकाल दिया | फिर हम दोनों ने खुद को ठीक किया और किस कर के वो चला गया | अब हमे जब भी मौका मिलता है तो वो मुझे आ कर चोद कर चला जाता है |


Comments are closed.