चुदासी चूत को मिला बूढ़ा लंड

Chudasi chut ko mila budha lund:

desi sex stories

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और इस गर्मी के मौसम में चुदाई का मजा ले रहे होंगे | मेरा नाम नताशा है और मैं मुंबई की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 22 साल है और मैंने हाल ही में अपना ग्रेजुएशन पूरा किया है | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 7 इंच है और मेरा फिगर भी सेक्सी है | मेरे दूध बड़े हैं कमर पतली है और मेरी गांड बड़ी और उठी हुई है | दोस्तों मैं इस साईट की दैनिक पाठक हूँ और मुझे इस साईट पर कहानियां पढना बहुत अच्छा लगता है | मुझे जब भी टाइम मिलता है मैं कहानी जरुर पढ़ती हूँ | पर आज मुझे मौका मिल रहा है कि मैं आप लोगो के कहानी पोस्ट करूँ तो आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पोस्ट करने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की कुछ सच्ची घटना में से एक है | मैं आशा करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी अच्छी लगेगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय नहीं लेते हुए अपनी कहानी पर आती हूँ |

ये घटना कुछ समय पहले की है | मेरे घर में मैं और मम्मी बस रहते हैं | पापा बिज़नस मेन हैं तो वो अक्सर कहीं न कहीं जाते ही रहते हैं | हम लोग के रिच फॅमिली से बीलोंग करते हैं | मेरे फ्रेंड्स भी रिच ही हैं और मैं बहुत ही घमंडी चूत हूँ | मुझे जो चीज़ पसंद होती है तो वो मुझे हर हाल में चाहिए होती है और जो चीज़ मुझे पसंद नहीं आती मैं उसे टट्टी की तरह बहा देती हूँ | मैंने अपनी लाइफ में कई बॉयफ्रेंड बनाये लेकिन कोई भी मेरे नखरे नहीं उठा पाया लेकिन एक चीज़ मैं उनके साथ अच्छी करती थी और वो है कि मैं उन्हें अपनी चूत का स्वाद चखा देती थी | मुझे चुदवाने का बहुत शौक है और मुझे खास कर बड़े और मोटे लंड पसंद आते हैं क्यूंकि उनसे चुदवाने में मजा आता है | लेकिन कुछ समय से मुझे कोई अच्छे लंड वाला लौंडा मिल नहीं रहा था और मेरी बेचारी चूत प्यासी ही रह जा रही थी | मैं हर बार ये सोचती कि काश अब तो लंड मिल जाये लेकिन ऐसा हो नहीं पा रहा था | मैं अक्सर शादी पार्टी में सज धज कर जाती जिससे लड़के मुझे लाइन मारे पर साला कोई लाइन ही नहीं मारा करता था | मैं बहुत उदास हो गई थी कि अब मैं क्या करूँ ? लेकिन तभी एक फ़रिश्ता बन कर मेरी लाइफ में आया और वो थे प्रकाश जी जिनकी उम्र 52 साल है और वो दिखने में नाटे हैं लेकिन वो अभी भी हस्त्पुष्ट हैं | वो चश्मा लगाते हैं और वो क्रेक्स का काम करते हैं | वो बहुत ही अश्लील भी हैं मेरी तरह | मेरी मुलाकात उनसे तब हुई थी जब मैं अपनी कार में हवा डलवा रही थी | वो मुझे घूर घूर कर देख रहे थे | तब मैंने उनको अपने पास बुलाया और पुछा कि आप मुझे ऐसे घू कर क्यूँ देख रहे हो ? तो उन्होंने कहा कि जो चीज़ मैं पा नहीं सकता उसे मैं ऐसे ही देखता हूँ | ये बात सुन कर मैं उनपर फ़िदा हो गई और उन्हें अपना नंबर दे आई | फिर हमारी बात शुरू हो गई और वो हर बार सेक्स की बात ले आते थे तो एक दिन मैंने उसे अपने घर आने को कहा और उसने कहा कि ठीक है मैं जरुर आऊंगा |

वो मेरे घर आया और दरवाजा खटखटाया और जब मैंने दरवाजा खोला तो उसे देख कर खुश हो गई क्यूंकि मैं काफी समय से चुदासी थी | मैंने दरवाजा बंद किया और उसके गले में हाँथ डाल कर उसे अपने कमरे में ले कर गई | वहां पंहुच कर मैंने उससे पुछा कि आज मैं कैसी लग रही हूँ ? तो उसने मेरा हाँथ पकड़ कर अपनी गोद में बैठा लिया और मेरी जांघो को सहलाने लगा और कहा कि मेरी जान तो सबसे सुन्दर हस्ती है | मैं मुस्कुरा कर उसकी गोद से उठी और अपना हाँथ छुड़ाने लगी पर उसकी पकड़ मजबूत थी तो मैं नाकामयाब हुई | फिर से उसने मुझे अपनी गोद में बैठा लिया और मेरी गर्दन पर चूमने लगा और उसके ऐसा करने से मेरी आँखे बंद होने लगी | फिर उसने अपने दोनों हाँथ आगे कर के मेरे दूध को दबाने लगा तो मेरे मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | उसके बाद हम दोनों खड़े हुए आमने सामने और उसने अपने होठ मेरे होंठ में रख कर किस करने लगा | मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को किस करने लगी | वो मेरे होंठ को किस करते हुए मेरी गांड को सहला रहा था और मैं उसके होंठ को किस करते हुए उसके बदन को सहला रही थी | हम दोनों ने एक दूसरे को काफी देर तक किस किया | उसके बाद उसने मेरे टॉप को निकाल दिया और मेरे ब्रा को भी उतार कर ऊपर से पूरा नंगी कर दिया | मेरे दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो मेरे मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे दोनों दूध को बारी बारी से जोर जोर से मसलते हुए चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी | उसके बाद उसने मेरी जीन्स को भी उतार दिया और मेरी पेंटी को भी उतार दिया | अब मैं उसके सामने पूरी नंगी खड़ी थी और फिर उसने मुझे मेरे बेड पर लेटा दिया और मेरी टांगो को खो कर मेरी चूत पर अपनी जीभ से सहलाने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मदहोश होने लगी | वो मेरी चूत को चाटते हुए चूत के दाने को भी होंठ से दबा कर चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रही थी | फिर वो मेरी चूत को ऊँगली से चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपने दूध को मसल रही थी | फिर उसने भी अपने कपड़े उतार दिए और नंगा हो गया | फिर मैंने उसके लंड को अपने हाँथ में लिया और चाटने लगी तो उसके मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह  की सिस्कारियां निकलने लगी | मैं उसके लंड को हर तरफ से चाट चाट कर गीला कर रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कैर्याँ ले रहा था | उसके बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे दूध को दबाने लगा |

मैं उसके लंड को जोर जोर से ऊपर नीचे करते हुए चूस रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मुंह की चुदाई कर रहा था | उसके बाद मैंने उसके दोनों अन्टोलो को भी चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मुट्ठ मारने लगा | फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत में फंसाया और चोदने लगा शॉट मारते हुए और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए चुदाई के मजे लेने लगी | वो जोर जोर से मेरी चूत को शॉट मारते हुए चोद रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड उचका उचका कर चुदवा रही थी | उसके बाद उसने मुझे पलटा दिया और अपने लंड को मेरी चूत में घुसेड कर चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए | करीब बीस मिनट की चुदाई के बाद उसने अपना वीर्य मेरी गांड के ऊपर ही निकाल दिया |

तो दोस्तों, ये थी मेरी कहानी | मैं आशा करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी जरुर पसंद आई होगी | आप सभी का मेरी कहानी पढने के लिए धन्यवाद |


Comments are closed.