चलो घर में चुदाई करते हैं

Antarvasna, desi sex kahani:

Chalo ghar me chudai karte hain मैंने एक दिन अपने पुराने दोस्त कपिल को फोन किया कपिल उस दिन घर पर ही था तो मैंने कपिल को कहा मैं तुमसे मिलने के लिए तुम्हारे घर पर आ रहा हूं वह मुझे कहने लगा कि ठीक है रमेश तुम घर पर आ जाओ मैं तुम्हारा इंतजार कर रहा हूं। मैं थोड़ी देर बाद कपिल को मिलने के लिए उसके घर पर चला गया मैं जब कपिल को मिलने के लिए उसके घर पर गया तो वह मुझे कहने लगा कि तुम काफी समय बाद मुझसे मिलने के लिए घर पर आए हो। मैंने उसे कहा हां कपिल मैं आजकल अपने काम में कुछ ज्यादा ही बिजी था इसलिए तुमसे मुलाकात नहीं हो पाई मैं उस दिन कपिल के साथ काफी देर तक उसके घर पर रहा और उसके बाद मैं अपने घर वापस लौट आया। मैं जब अपने घर वापस लौट रहा था तो मेरे फोन पर एक अननोन नंबर से कॉल आ रहा था मैंने उस वक्त तो फोन नहीं उठाया लेकिन जब मैं घर पहुंचा तो मैंने उसी नंबर पर कॉल बैक की और सामने से एक लड़की ने मुझे पूछा क्या यह गौरव का नंबर है।

मैंने उस लड़की को कहा कि नहीं यह गौरव का नंबर नहीं है मैंने उसके बाद फोन रख दिया उसके काफी समय बाद मुझे उसी नंबर से दोबारा कॉल आया और वह मुझसे दोबारा से पूछने लगी कि क्या यह गौरव का नंबर है। मैंने उस लड़की से कहा कि आपको गौरव से क्या काम था तो उसने मुझे गौरव के बारे में बताया कि गौरव ने किस प्रकार से उसके परिवार को धोखा दिया। मैंने जब उस लड़की का नाम पूछा तो उसने मुझे कहा मेरा नाम कावेरी है कावेरी ने मुझे बताया कि उसके पापा को गौरव ने यह कहकर ठग लिया कि वह उनके पैसे कहीं इन्वेस्टमेंट करना चाहता है और उसके बाद वह फोन नहीं उठा रहा था उसने तुम्हारा ही नंबर हमें दिया था क्योंकि उसकी जिस नंबर पर पापा से उसकी बात होती थी वह नंबर बंद आ रहा था। मैंने कावेरी से कहा कि लेकिन तुमने गौरव पर ऐसे ही कैसे भरोसा कर लिया, कावेरी ने बताया कि वह हमारे पड़ोस में ही काफी सालों से रह रहा था और आस पड़ोस में सब लोग उसे जानते हैं उसने ना जाने कितने ही लोगों को यहां पर धोखा दिया है और उनके पैसे लेकर वह फरार हो चुका है।

जब कावेरी ने मुझे अपने घर के बारे में बताया तो मुझे भी यह बात काफी बुरी लगी मैंने कावेरी से कहा कि यह गौरव का नंबर नहीं है लेकिन उसके बाद भी हम लोगों की फोन पर बातें होने लगी। एक दिन मैंने कावेरी से मिलने का फैसला किया और जब पहली बार मैं कावेरी से मिलने के लिए उसके घर के पास ही एक छोटा से पार्क पर गया तो वहां पर हम दोनों एक दूसरे के साथ काफी देर तक बैठे रहे। मैंने कावेरी के साथ बातें की और कावेरी ने मुझे उस दिन बताया कि किस प्रकार से गौरव ने उसके पापा को धोखा दिया था और उनकी जिंदगी भर की जमा पूंजी को लेकर वह भाग गया। कावेरी इस बात से काफी हताश थी और उसके पिताजी भी इस बात से बहुत ज्यादा परेशान थे वह इस परेशानी से अभी तक उबर नहीं पाए थे। कावेरी के चेहरे पर भी इस बात की चिंता साफ दिखाई दे रही थी उस दिन कावेरी के साथ मैं ज्यादा देर तक तो नहीं बैठ पाया लेकिन उसके बाद भी कावेरी और मेरी फोन पर अक्सर बातें होती थी अब हम दोनों की बातें काफी आगे बढ़ने लगी थी और हम दोनों के बीच अच्छी दोस्ती होने लगी थी। कावेरी भी एक कम्पनी में जॉब करती है जिस कंपनी में वह जॉब करती हैं वहां पर वह रिसेप्शनिस्ट की जॉब करती है। कावेरी से कुछ दिनों तक मैं बात नहीं कर पाया क्योंकि मैं घर के ही कुछ कामों में इतना ज्यादा बिजी हो गया था कि काफी दिनों तक मेरी कावेरी से फोन पर बात नहीं हो पा रही थी। एक दिन मुझे कावेरी का फोन आया तो वह मुझसे कहने लगी कि रमेश आजकल तुम मुझसे बात नहीं कर रहे हो मैंने कावेरी से कहा कि कावेरी आजकल मैं घर के किसी जरूरी काम में बिजी था इसलिए तुमसे बात नहीं कर पाया। कावेरी ने मुझसे मिलने की बात कही तो मैं भी कावेरी को मिलने के लिए उसके ऑफिस के पास के रेस्टोरेंट में चला गया वहां पर हम दोनों साथ में बैठे रहे। उस दिन मुझे कावेरी ने बताया कि गौरव को पुलिस ने पकड़ लिया है और उसने हमारे पैसे भी वापस लौटा दिए हैं मैंने कावेरी से कहा चलो यह तो बड़ी अच्छी बात है। कावेरी कहने लगी कि पापा भी अब काफी खुश हैं और गौरव ने तो ना जाने कितने ही लोगों को हमारे आस पड़ोस में धोखा दिया था। कावेरी और मैं काफी देर तक साथ में बैठे रहे फिर मैंने को उसके घर तक ड्रॉप किया और मैं वहां से अपने घर वापस लौट आया।

कावेरी कुछ दिनों के लिए अपनी सहेली के घर जयपुर जाने वाली थी और कुछ दिनों के लिए वह जयपुर चली गई कावेरी से मेरी इस बीच फोन पर बातें नहीं हो पाई तो मुझे भी लगने लगा कि मुझे कावेरी को मैसेज ड्रॉप कर देना चाहिए। मैंने कावेरी को एक मैसेज ड्रॉप कर दिया उसके बाद कावेरी ने मुझे फोन किया और कहा कि मैं अपनी सहेली के घर आई हुई हूं। काबिल ने यह बात मुझे पहले ही बता दी थी लेकिन मैंने कावेरी से कहा कि तुम वापस कब लौटोगी तो उसने मुझे कहा कि मैं कुछ दिनों में जयपुर से वापस लौट आऊंगी और कुछ दिनों बाद कावेरी जयपुर से वापस लौट आई थी। जब कावेरी वापस लौटी तो मैं उस दिन कावेरी से मिलने के लिए जाना चाहता था मैंने कावेरी से कहा कि क्या मैं तुमसे आज मिल सकता हूं तो कावेरी ने कहा ठीक है रमेश हम लोग आज मुलाकात कर लेते हैं।

कावेरी और मैं उस दिन एक दूसरे को उसके घर के पास के ही पार्क में मिले। हम दोनों उस दिन पार्क में ही बैठे हुए थे मैंने कावेरी का हाथ पकड़ लिया तो कावेरी मेरी तरफ देखने लगी। मैं कावेरी की तरफ देख रहा था मुझे बहुत अच्छा लग रहा था मैंने उसकी तरफ देखा और उसके होठों को चूम लिया आस-पास कोई भी नजर नहीं आ रहा था। कावेरी मुझे कहने लगी रमेश यहां पर यह सब करना ठीक नहीं है हम लोग घर पर चलते हैं। मैंने इस बात का अंदाजा लगा लिया था कि कावेरी भी पूरी तरीके से तड़प रही है और मैं उसकी चूत मारकर उसकी इच्छा को पूरा करना चाहता था मैंने ऐसा ही किया। मैं और कावेरी उसके घर पर चले गए जब हम लोग कावेरी के घर पर गए तो कावेरी के घर पर उस वक्त कोई भी नहीं था मैं अपनी गर्मी को बिल्कुल भी रोक ना सका। मैंने कावेरी को दीवार के सहारे खड़ा कर दिया और उसके होठों को चूमने लगा मैं जब उसके होंठों को मसल रहा था तो वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। मैंने अपने लंड को बाहर निकाला जब मैंने ऐसा किया तो कावेरी भी नहीं रह पाई और उसने अपने हाथों में ले लंड लिया जब उसने अपने मुंह के अंदर मेरे मोटे लंड को लिया तो मुझे ऐसा लगा वह मेरे लंड से पूरी तरीके से जूस निकाल कर ही मानेगी। उसने ऐसा ही किया उसने मेरे लंड से पूरी तरीके से पानी बाहर निकाल कर रख दिया था उसने अपने गले के अंदर तक मेरे मोटे लंड को ले लिया था। जब वह ऐसा कर रही थी तो मेरी गर्मी लगातार बढ़ती जा रही थी मेरी गर्मी इतनी अधिक बढ़ चुकी थी कि मैंने उसे कहा मैं बिल्कुल भी नहीं रह पा रही हूं। मैंने उसके कपड़े उतारे और उसके गोरे बदन को जब मैंने देखा तो मैं उसके बदन को अपने हाथों में लेकर सहलाने लगा मुझे बहुत अच्छा लग रहा था मैं जब उसके स्तनों को सहला रहा था। हम दोनों अब अपने आपको नहीं रोक पा रहे थे मैंने अपने लंड को कावेरी कि चूत पर सटाया जब मैंने उसकी चूत पर अपने लंड को सटाया तो उसकी चूत से काफी गर्म पानी बाहर निकल रहा था।

वह मुझे कहने लगी तुम अपने लंड को मेरी चूत मे डाल दो मैंने भी अपने लंड को धकेलते हुए उसकी चूत के अंदर घुसा दिया और धीरे-धीरे मेरा लंड उसकी योनि के अंदर तक पूरी तरीके से प्रवेश हो चुका था। जब मेरा मोटा लंड उसकी योनि के अंदर प्रवेश हुआ तो वह जोर से चिल्लाई और मुझे कहने लगी मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। अब कावेरी अपने पैरों को खोलने लगी थी जिससे कि मेरा लंड उसकी चूत के अंदर आसानी से जा रहा था उसकी योनि की चिकनाई में भी बढ़ोतरी हो जाती। मुझे बहुत ही अच्छा लगता जब मैं उसके अंदर लंड डाल रहा था उसने मुझे कहा तुम ऐसे ही करते रहो मैं बहुत ज्यादा खुश हूं। मैने उसके पैरों को चोडा कर लिया था जिससे कि उसकी चूत के अंदर बाहर लंड आसानी से हो रहा था और वह काफी तेज आवाज में सिसकियां ले रही थी। उसकी गर्मी बढ़ती ही जा रही थी उसने मुझे कहा मेरी गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ चुकी है मैंने उसकी चूत के अंदर अपने वीर्य को गिरा दिया। जब मैंने ऐसा किया तो वह कहने लगी तुमने मेरी चूत मे ही अपने माल को गिरा दिया है।

मैंने उसे अपना रूमाल दिया और उसने अपनी चूत को साफ किया। मेरा वीर्य  उसकी चूत से साफ हो चुका था लेकिन मैंने उसके पैरों को चौड़ा कर दिया और उसके बाद मैंने उसकी चूत के अंदर दोबारा से अपने लंड को घुसा दिया मेरा लंड उसकी योनि मे जाते ही वह चिल्लाई और मुझे कहने लगी मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। मैंने उसकी चूत के अंदर बाहर अपने लंड को धक्के दिए मेरी गर्मी बढ़ने लगी थी। मेरी गर्मी बढ़ चुकी थी मै बिल्कुल भी नहीं रह पा रहा था और वह भी रह नहीं पा रही थी। उसने मुझे कहा तुम अपने वीर्य को मेरी चूत के अंदर गिरा दो मैंने उसे कहा हां मैं तुम्हारी चूत के अंदर ही अपने वीर्य को गिराना चाहता हूं और मैंने उसकी चूत के अंदर अपने वीर्य को गिरा दिया। हम दोनो एक दूसरे के साथ संभोग कर के बहुत खुश थे।


Comments are closed.