चाची की बहन की चूत का तिल

Chachi ki bahan ki chut ka til:

antarvasna, hindi chudai ki kahani मेरा नाम सुरेश है, मैं गाजियाबाद का रहने वाला हूं मेरे पिताजी स्कूल में अध्यापक हैं और मेरी मां घर का काम संभालती हैं, हमारा घर बहुत ही बड़ा है, मेरे चाचा चाची पहले हमारे साथ ही रहते थे लेकिन मेरी चाची की वजह से चाचा को अलग रहने जाना पड़ा और वह अब अलग रहते हैं लेकिन अब भी उनका प्यार और प्रेम हमारे लिए पहले जैसा ही है परंतु मेरी चाची हमारे घर पर कम ही आती है जब कोई काम होता है तो उसी वक्त उनका हमारे घर आना होता है लेकिन मेरे चाचा हमारे घर पर एक हफ्ते में तो एक चक्कर मार ही लेते हैं परंतु मेरा तो मेरे चाचा के घर पर हमेशा ही जाना होता है, उनका घर हमारी अगली गली में ही है। मैं कॉलेज में पढ़ता हूं और मेरे चाची की बहन भी मेरे साथ कॉलेज में ही पड़ती है वह मेरी क्लासमेट है हम दोनों की खूब जमती है और उसका नाम काजल है लेकिन रिश्ते में वह मेरी मौसी है इसलिए मैं उसे मौसी जी कहता हूं, वह मुझे हमेशा कहती है कि तुम मुझे मौसी क्यों बोलते हो? मैं तो तुम्हारी उम्र की ही हूं, लेकिन मैं उससे कहता हूं तुम रिश्ते में तो मेरी मौसी ही लगती हो वह कहने लगी हां मैं तुम्हारी मौसी लगती हूं लेकिन इसका मतलब यह तो नहीं कि तुम बार-बार मुझे इसी बात को लेकर चिढ़ाते रहोगे।

काजल और मेरे बीच में खूब झगड़े भी होते हैं और हम दोनों के बीच अच्छी दोस्ती भी है, वह जब भी मेरी चाची के घर आती हैं तो उसका हमारे घर पर भी आना होता है उसका व्यवहार बड़ा ही अच्छा है लेकिन मेरी चाची उसे हमेशा कहती है कि वह हमारे घर ना आया करें, यह बात उसने ही मुझे खुद अपने मुंह से बताई। एक दिन हम लोग कॉलेज में ही बैठे हुए थे तो मैंने उससे इस बारे में कहा कि चाची ना जाने हमें देख कर क्यों इतना नफरत करती हैं जबकि मेरे माता-पिता तो बहुत अच्छे हैं, काजल कहने लगी मुझे भी नहीं पता कि उनके दिल में तुम्हारे लिए या तुम्हारे परिवार वालों के लिए इतनी नफरत क्यों है, मैं भी तुम्हारे घर आती हूं और मुझे तुम्हारे घर पर आना भी अच्छा लगता है, तुम्हारे माता-पिता का जिस प्रकार का व्यवहार है वह मुझे बहुत अच्छा लगता है मैंने कई बार दीदी को इस बारे में समझाया भी लेकिन उनके दिमाग में अब तुम लोगों के लिए नफरत भर चुकी है और वह अपने इस नजरिए को बिल्कुल भी बदलना नहीं चाहती, मैंने उनसे कहा तुम उन्हें इस बारे में समझाओ।

वह कहने लगी मैंने तो उन्हें कई बार इस बारे में समझाया कि प्यार मोहब्बत से आप रहेंगे तो अच्छा रहेगा लेकिन वह बिल्कुल भी बदलने को तैयार नहीं है। काजल मुझे कहने लगी हम लोग कहीं घूमने का प्लान बनाते हैं, मैंने उसे कहा लेकिन हम लोग घूमने कहां जाएंगे? वह कहने लगी मेरे दोस्त का रिजॉर्ट है हम लोग वहीं घूमने का प्लान बनाते हैं। मैंने उसे कहा हमारे साथ और कौन आने वाले हैं? वह कहने लगी हमारे साथ हमारी क्लास के लड़कियां और लड़के भी आएंगे, तुम भी अपने दोस्तों से इस बारे में बात करो। मैंने भी अपने दोस्तों से बात की तो वह लोग कहने लगे हम आने के लिए तैयार हैं, सब लोगों ने पैसे मिला लिए और जब हम लोग रिजॉर्ट में घूमने गए तो वहां पर बड़ा ही अच्छा माहौल था वह काफी बड़ा रिसोर्ट था वहां खाने की पूरी सुविधा थी और उनका स्विमिंग पूल तो इतना बडा था कि हम लोगो को लग रहा था कि सब के सब समंदर में उतर गए, गर्मी इतनी ज्यादा थी कि स्विमिंग पूल में भी पानी ऐसा लग रहा था जैसे कि कितना गर्म हो पर हम लोगों को एक साथ एंजॉय करना बहुत अच्छा लग रहा था, हमारे साथ के कुछ लड़के थे जो कि ड्रिंक करने जाते, वह लोग तो रेस्टोरेंट के कोने में जाकर अपना मजा ले रहे थे और हम लोग पानी में इंजॉय कर रहे थे, मैं भी काजल के ऊपर अपने हाथों से पानी फेंक रहा था और वह भी मेरे ऊपर अपने हाथों से पानी फेंक रही थी हम लोग खूब मजाक और मस्ती कर रहे थे, मेरा तो पानी से बाहर निकलने का मन ही नहीं हो रहा था। काजल मुझे कहने लगी चलो अब हम लोग बाहर चलते हैं, मैंने उसे कहा थोड़ी देर यहीं रुक जाते हैं, वह कहने लगी मुझे तो अब यहां ठंड लगने लगी है, मैंने उसे कहा तुम थोड़ी देर तो मेरे साथ बैठ जाओ, हम दोनो ट्यूब के ऊपर आराम से बैठ गए और हम धूप का मजा भी ले रहे थे, पानी में भी काफी अच्छा लग रहा था।

वह कहने लगी अब कॉलेज भी खत्म होने वाला है इसके बाद तुम क्या करने वाले हो? मैंने उसे कहा अभी तो कुछ समय बचा है उसके बाद ही सोचेंगे कि कॉलेज खत्म होने के बाद क्या किया जाएगा, फिलहाल मैंने तो इस बारे में अभी तक कुछ भी नहीं सोचा है। काजल मुझे कहने लगी चलो अब तो तुम चलो, हमें यहां काफी देर हो चुकी है, मैंने उसे कहा सिर्फ 5 मिनट तुम रुक जाओ उसके बाद हम लोग चलते हैं,  वह कहने लगी मैं अपनी घड़ी में समय देख रही हूं जैसे ही 5 मिनट हुआ हम लोग यहां से चल पड़ेंगे, मैंने उसे कहा ठीक है तुम देख लो जैसे ही 5 मिनट होते हैं हम लोग यहां से बाहर निकल जाएंगे। जब हम लोग पानी से बाहर निकले तो मैंने देखा उसकी गांड के नीचे तिल है। मैंने काजल के तिल को हाथ लगाते हुए कहा तुम्हारे तो हिप्स के नीचे तिल है। वह कहने लगी तुमने यह सब कैसे देखा मैंने उसे कहा तुम्हारा फिगर इतना सेक्सी लग रहा है तुम्हारी गांड देखकर मुझे अपनी नजरे हटाने का मन ही नहीं कर रहा। वह मुझे कहने लगी तुम ऐसी बातें मत करो मैंने उसे कहा हम लोग आज इतने रोमांटिक मूड में हैं और ऐसी बातें ना करे ऐसा हो ही नहीं सकता।

उसके साथ मुझे उस दिन अच्छा लग रहा था जब हम दोनों साथ में बैठकर बनाना शेक पी रहे थे, मैंने उसे कहा तुमने कभी बनाना अपनी चूत में लिया है। वह कहने लगी मैंने आज तक कभी भी ऐसे काम नहीं किए लेकिन इस बात से वह भी मूड मे होने लगी। जब हम दोनों रूम में गए तो मैंने उसे किस कर लिया उसके होठों को मैं चूसता रहा, हम दोनो को बहुत अच्छा महसूस होता। काजल मुझे कहने लगी हम दोनों कहीं अपनी मर्यादाओं को लंघ तो नहीं रहे हैं। मैंने उसे कहा ऐसा कुछ भी नहीं है तुम एक बहुत ही अच्छी लड़की हो तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो। उसने मुझे किस करना शुरू कर दिया वह मेरे होठों को किस कर रही थी मुझे बहुत अच्छा महसूस होता। जब मैने अपने लंड को निकाला तो मैंने उसे अपने लंड को चूसने के लिए कहा लेकिन उसने मना कर दिया। वह कहने लगी मैंने आज तक कभी भी यह सब नहीं किया परंतु मैंने उसके मुंह में अपने लंड को डाल दिया। जब उसके मुंह के अंदर मेरा लंड प्रवेश हुआ तो वह बडे अच्छे से लंड को सकिंग करने लगी उसकी योनि पूरी गीली हो चुकी थी। जब मैंने उसकी योनि को देखा तो उस पर एक छोटा सा तिल था मैंने उसके तिल पर अपनी जीभ को लगाते हुए उसकी योनि का पूरा पानी बाहर निकाल दिया। जब मैंने अपने लंड को उसकी योनि पर लगाया तो उसकी योनि से पानी बाहर निकल रहा था। मैंने उसकी योनि के अंदर अपने लंड को प्रवेश करवा दिया, मेरा लंड उसकी योनि में प्रवेश हुआ तो वह चिल्लाने लगी, मैं उसे लगातार तेज गति से धक्के मार रहा था। मुझे उसे धक्के मारने में बहुत अच्छा लगता जब मैंने अपने लंड को देखा तो उस पर खून लगा हुआ था। मैंने उसे कहा तुम तो एकदम फ्रेश माल हो वह कहने लगी हां मैंने आज तक कभी भी किसी के साथ सेक्स नहीं किया है यह मेरा पहला ही अनुभव है। उसके साथ मुझे उस दिन सेक्स करने मे बहुत अच्छा लग रहा था मैंने उस दिन उसके यौवन का जाम 10 मिनट तक पिया, उसकी योनि में बहुत ज्यादा दर्द होने लगा था वह मुझसे कहने लगी तुमने तो आज मेरी योनि को पूरी तरीके से दर्द कर दिया है। जब मेरा वीर्य उसकी योनि के अंदर गिरा तो उसे बहुत ही अच्छा महसूस हुआ, हम दोनों एक दूसरे को पकड़कर लेटे थे। मैं जब उसकी चूत का तिल देखता तो उसे देखकर मेरी उत्तेजना और भी बढ़ने लगती लेकिन मेरे अंदर हिम्मत नहीं बची थी क्योंकि मेरा लंड बुरी तरीके से छिल चुका था मेरे लंड से भी खून निकल रहा था। मैंने काजल से कहा आज तो तुम्हारे साथ मुझे मजा आ गया।


Comments are closed.


error: