भतीजे की मैडम को पटा कर चोदा

Bhatije ki madam ko pata kar choda:

sex stories in hindi

आप सभी को अमन की तरफ से प्यार भरा सादर प्रणाम कैसे हो लंड और चूत वालो बारिश का मौसम आ चुका है मतलब समझते हो न ये चुदाई का मौसम है | इस मौसम में मस्त चुदाई करो और खुश रहो | मैं तो इतना किस्मत वाला नहीं रहा फ़िलहाल कि मुझे ऐसे मौसम में चुदाई करने का मौका मिले | पर खैर कोई बात नहीं जब चुदाई मिले मौसम भी तब ही बना देंगे इसमें कौन सी बात है हैं कि नहीं दोस्तों | आप सभी को मेरा नाम तो पता ही चल गया है अब मैं आगे की बात बताता हूँ | मेरी उम्र 26 साल है और मैं बहुत बड़ा वाला ठरकी हूँ | मेरा बस चले तो मैं सुबह उठू भी तो चूत के साथ और सोने जून भी तो चूत के साथ | मेरा चुदाई के प्रति इतना रोचक है कि मैं क्या बताऊं तो दोस्तों बस इतना समझ लो कि चुदाई मेरे लिए सबसे दिल्लगी वाली चीज़ है | मेरी हाईट 5 फुट 9 इंच हाईट है और मेरा बदन गठीला है | मैं दिखने में थिठाक हूँ और मेरा रंग सांवला है |

दोस्तों वैसे एक बात पूछना है आप लोगो से कि इस दुनिया में मैं ही बस अकेला इतना बड़ा ठरकी हूँ या मेरे जैसे और भी हैं | अब लड़के मेरे जैसे हों तो मुझे फर्क नहीं पड़ता लेकिन अगर लड़कियां ऐसी हैं तो मुझसे जरुर कांटेक्ट करना | चलो अब मैं कहानी लिखता हूँ तो सभी अपने लंड और चूत ओ थाम कर बैठना कहीं माल न झड़ जाए |

मेरे घर में मेरे पापा ( अर्जुन ) आर्मी में जॉब करते हैं और हम लोचल ही पठानकोट में रहते हैं | मेरे पापा की पर्सनालिटी एक दम घटक है लगता है जैसे सामने से कोई बब्बर शेर चला आ रहा हो | मेरी मम्मी ( अनुपमा ) बहुत ही सुन्दर माँ है मेरी और वो शादी से पहले जॉब करती थी और शादी के बाद उन्होंने जॉब छोड़ दी क्यूंकि मेरे दादा दादी पुराने ख्यालात वाले थे इसलिए उन्हें पसंद नहीं था कि उनकी बहु जॉब करे | इसीलिए मम्मी को जॉब छोड़ना पड़ा | मेरा एक बाद भाई ( नकुल ) जिसकी शादी हो चुकी है और वो पुलिस में नौकरी करता है फिलहाल हवालदार है लेकिन बाद में उसकी पोस्ट बढ़ जायेगी | मेरी भाभी जिनका नाम अंजली है वो दिखने में बहुँत सुन्दर हैं और उनका नेचर भी बहुत अच्छा है | वो हमसे एक दोस्त के जैसे ही व्यवहार करती हैं | भाभी एक प्रकार से मेरी सबसे अच्छी दोस्त भी हैं और हम सबका एक लाड़ला मनोज मेरा भतीजा अभी वो बहुत छोटा है और नर्सरी में पढता है | ज्यादातर मैं ही उसके लेने जाता हूँ और ले कर आता हूँ | दोस्तों ये था मेरे परिवार के बारे में | अब बताता हूँ कि कैसे मैंने अपने भतीजे की मैडम को चोदा |

मनोज का स्कूल सुबह 8 बजे लगता है और 12 बजे छूट जाता है | मैं ही उसे लेने जाता हूँ और छोड़ने क्यूंकि भाभी और मम्मी घर का काम करती हैं और पापा और बड़ा भाई ऑफिस चले जाते हैं | अब बचा मैं ही घर में जो फ्री टाइम में चुदाई की कहानियां पढता हूँ या ब्लू फिल्म देखता रहता हूँ इसलिए मेरे दिमाग में बस चुदाई और चूत ही बसी हुइ८ है | सुबह सुबह मैं तो ऐसे ही बिना तैयार हुए मनोज को स्कूल छोड़ने चला जाता हूँ और जब उसको लेने जाता हूँ तो तब एक दम हेंडसम बन कर जाता हूँ | मनोज की एक क्लास टीचर है जिसका नाम नीलिमा है और उसकी उम्र भी ज्यादा नहीं है महज 30 साल की है और वो शादीशुदा है | उसकी हाईट भी अच्छी खासी है और मैं तो उसके बड़े दूध और उसकी बड़ी गांड पर फ़िदा हूँ | मैं जब भी मनोज को लेने जाता था तो वो मुझे प्यार से देखा करती थी और मैं भी उसके बड़े ही प्यार से देख कर नमस्ते किया करता था | एक दिन मीटिंग थी तो मैं मनोज के स्कूल गया हुआ था और वहां पर और भी अभिभावक थे तो मैडम को ज्यादा टाइम लग रहा था या यूँ कहूँ कि मैडम को मुझसे कुछ जरुरी काम था इसलिए उन्होंने सबसे आखिर में ही बुलाया और उतने में मनोज को बाथरूम आ गई तो मैडम ने आया को बुलाया और उसे बाथरूम ले जाने को कहा | मैडम ने मुझसे मेरा नाम पूछा और क्या करते हो पूछ कर पूछा कि क्या तुम्हारी शादी हो गई है ? मैंने उनके सवाल के जवाब देते हुए कहा नहीं मैडम अभी मेरी शादी नहीं हुई हो मनोज तो मेरे बड़े भैया का बच्चा है | तो उसने कहा ओह अच्छा ऐसा | फिर उन्होंने मुझसे कहा कि क्या तुइम मेरे साथ सेक्स करोगे तो मैंने झट से हाँ कर दी और फिर उन्होंने मुझे अपना नंबर दे दी |

मैं भी नंबर ले कर मैडम से थोड़ी बात कर के मनोज को ले कर घर आ गया | उसके बाद मैंने उसको कॉल किया तो उसने कहा कि मैं घर जा रही हूँ तो तुम भी जल्दी से इस पते पर पंहुच कर जल्दी मिलो | मैंने भी कहा ठीक है और जल्दी से अपन इ गाड़ी उठा कर उसके घर के लिए रवाना हो गया | जब मैं उसके घर गया तो दरवाजा खुला ही था और वो सोफे पर बैठी हुई थी | उसने कहा मैं तुम्हारा ही इन्तेजार कर रही थी चलो गेट लगा दो | मैंने जैसे ही उसके गेट को बंद किया तो उसने तुरंत ही मुझे अपनी बांहों में कस ली और मेरे होंठ से होंठ लगा कर किस करने लगी | मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ पर किस करने लगा | वो मेरे होंठ को किस करते हुए मेरे बदन को अच्छे से दबा कर सहला रही थी और मैं उसके होंठ पर किस करते हुए उसके मम्मों को दबा रहा था | हम दोनों ने काफी देर तक किस किया और फिर उसने अपने कपडे उतार दी और मेरे सामने बस दो पीस कपडे में खड़ी थी | मैंने भी देर नहीं किया और जल्दी से नंगा हो गया | मैंने उसके मम्मों को अपने मुंह में भर कर चूसने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | मैं उसके मम्मों को अच्छा दबा दबा कर चूस रहा था और निप्पलस को होंठ से दबा कर खींच कर चूस रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे चेहरे को सहला रही थी | उसके बाद उसने मेरे लंड को अपने मुंह में ले कर चाटने लगी तो मेरे मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे लंड पर अपनी जीभ गोल गोल घुमा कर चाट रही थी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके मम्मों से खेल रहा था | फिर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में पूरा भर ली और चूसने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मदहोश होने लगा | वो मेरे लंड को गले तक अन्दर बाहर करते हुए चूसने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके मुंह को चोदने लगा | उसने मेरे लंड को दस मिनट तक चूसी और फिर अपनी टांगो को फैला कर लेट गई |

मैं भी उसका इशारा समझ गया और उसकि चूत को चाटने लगा जीभ से सहलाते हुए और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | मैं उसकी चूत को अपनी जीभ से चाट कर गीला कर कर के चाट रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे सिर को अपनी चूत में दबा रही थी | फिर मैंने उसकी चूत में अपना लंड सेट किया और अन्दर पेल कर चोदने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए चुदाई का मजा लेने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई तेज कर जोर जोर से शॉट मारते हुए चोदने लगा तो वो अपनी कमर हिला हिला कर चुदवाने लगी | फिर मैंने उसे घोड़ी बना दिया और उसके पीछे जा कर अपने लंड को घुसेड कर चोदने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवा रही थी | कुछ देर की चुदाई के बाद मैंने अपना माल उसकी चूत में ही छोड़ दिया |


Comments are closed.