भाई के दोस्त से चुदवाई अपनी चूत

Bhai ke dost se chudwai apani chut:

हाय दोस्तों, कैसे हैं आप सभी उम्मीद करती हूँ कि आप सभी खुश होंगे अपनी जिन्दगी में और दुःख में भी होंगे तो कोई बात नहीं जिन्दगी में सुख दुःख का आना जाना तो लगा ही रहता है | मेरा नाम रौशनी है और मैं इंदौर की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 26 साल है और मैं एक शादीशुदा महिला हूँ और मेरी शादी को 6 महीने हो चुके हैं | दोस्तों, ये मेरी पहली कहानी है जो मैं आप लोगों के सामने आज लेकर पेश हुई हूँ | मैं शादी के पहले भी चुदाई की कहानिया पढ़ा करती थी और अभी भी पढ़ती हूँ, क्यूंकि मुझे चुदाई की कहानी पढने में मजा आता है और मैं हमेशा से ये चाहती थी कि मैं भी अपनी एक घटना के बारे में लिखूं | तो आज मुझे ये मौका मिल पाया है अपनी कहानी लिखने का, तो मैं बिना आप लोगों को बोर किये सीधा स्टोरी पे आती हूँ |

मेरा फिगर बहुत अच्छा है और मेरा रंग भी गोरा है, मैं बहुत सेक्सी दिखती हूँ ऐसा मुझे मेरे दोस्त कहते है, मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है साथ ही मेरे दूध का साइज़ भी एक दम परफेक्ट है और मेरी कमर पतली है और मेरी गांड चौड़ी है और आप सभी इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि मै कैसी हूँ |

ये घटना आज से 4 साल पहले की है, वैसे तो मैंने कई लंड खाए हैं अपनी स्कूल लाइफ में भी और कॉलेज लाइफ में भी पर कॉलेज खत्म होने के बाद मुझे लंड नहीं मिल रहा था | तो मैं बहुत दुखी हो गयी थी कि कोई तो मुझे चोद दो, और आप सभी लोग जानते हैं कि जब एक बार चूत को लंड का भोग लगा दिया जाये तो चूत बॉस लंड ही लंड मनागती है, और मेरे साथ भी ऐसा ही था | मेरा भाई उस समय कॉलेज में था जब मेरा कॉलेज हो चूका था, मैं घर में अपने भाई के साथ रहती थी क्यूंकि पापा बाहर जॉब करते थे और मम्मी एक स्कूल टीचर हैं | मेरे भाई का एक दोस्त था जिसका नाम आर्यन था वो दिखने में बहुत ही सेक्सी था और वो बहुत स्मार्ट भी दिखता है | वो अक्सर हमारे घर आया करता था और मुझसे अच्छे से बात करता था और मैं भी | मैंने उसके बारे में कभी भी कोई गलत चीज़ नहीं सोची पर मुझे लंड ना मिलने के कारण मैं अब उसके बारे में सोचने लगी थी | मुझे अब वो अच्छा लगने लगा था और मैं उसके नाम की मुठिया भी मर लेती थी | अब मैं ये सोचने लगी थी कि इसको पटाऊ कैसे क्यूंकि वो मेरे भाई का दोस्त था और अगर मेरे भाई को पता चल जाता तो मेरी तो शामत ही आ जाती और इस बात से मैं बहुत डरती थी, पर मेरी चूत की आग मुझे डर के आगे की जीत का रास्ता दिखाने लगी | तो मैंने सोच लिया था कि अब जो होगा देखा जाएगा पर मैं अपनी चूत की प्यास बुझा कर रहूंगी |

एक दिन जब आर्यन मेरे घर आया तो मैंने एक डीप गले का सूट पहना हुआ था और मैं झाड़ू लगा रही थी | तो वो और मेरा भाई हॉल में ही बैठ कर टीवी देख रहे थे और मैं उसी के सामने झुक झुक कर झाडू लगाने लगा रही थी ताकि वो मेरे दूध की गहरायी नाप सके क्यूंकि मैंने ब्रा नहीं पहनी थी और मैं चाहती थी कि वो मुझे देखे पर वो मेरी तरफ नहीं देख रहा था | तो मुझे अपना ये प्लान असफल नज़र आया और मैं बहुत उदास हो गयी और मुझे लगा मुझे आज भूखे लंड ही सोना पड़ेगा | फिर उन लोगों के एग्जाम चालू हो गए थे और अब वो रोज मेरे घर में मेरे भाई के साथ आकर पढाई करता था और शाम तक रहता था | अगले दिन जब वो आया तब मैं नहा कर निकली थी और मैं खुद बहुत सेक्सी लग रही थी तो मैंने सोचा कि इसे कुछ दिखाया जाये | तो जब ही वो घर पर बैठा था मेरे भाई के साथ और उसका फेस मेरी तरफ था और मेरे भाई का फेस उसकी तरफ था मतलब दोनों आमने सामने बैठे थे | तो मैंने अपना टावल गिरा दिया ताकि वो मुझे नंगी देख ले तो जब उसने मुझे देखा तो मैं ऐसा नाटक करने लगी जैसे मुझसे गलती से टावल गिर गई हो वो मुझे आँख फाडे फाडे देख रहा था | मैं समझ गयी थी कि बकरा फंस रहा है |

अब मैं रोज उसे अपना अंग दिखाने लगी और वो भी मुझे देख कर आन्हे भरने लगा | फिर एक दिन जब वो आया तो मेरा भाई नहा रहा था और मैंने ये मौका बहुत अच्छा समझा और उसे अन्दर आने का इशारा करके मैंने उससे कहा कि मीणा तुमसे प्यार करती हूँ | तो उसने भी मुझसे कहा कि मैं भी तुमसे प्यार करता हूँ रौशनी पर तेरे भाई के कारण मैं तुझसे अपने प्यार का इज़हार नहीं कर पाता था | फिर दोनों मिल के अलग हो गये फिर मैंने उससे कहा कि कोई ऐसा प्लान बनाओ कि हमे दो घंटे का टाइम मिल जाये तो फिर उसने कहा ठीक है और उतने में भईया आ गया तो मैंने कहा भाई आ गए महाशय अपना बोरी और बिस्तर ले कर | तब मेरा भाई बोला कि अबे रौशनी तू इसको परेशान मत किया कर फिर हम तीनो हंसने लगे और फिर वो दोनों पढने लगे और मैं भी अपने घर का काम करने लगी | ऐसे ही तीन दिन बीत गये | मैं अपनी चूत को उँगलियाँ डाल कर ही शांत कर रही थी | फिर एक दिन मेरे भाई ने कहा कि वो किसी काम से जा रहा है और हो सकता है की शाम हो जाये तो अगर आर्यन आएगा तो बता देना कि मैं नहीं हूँ घर में | तो मैंने बोला ओके और फिर वो चला गया था | उसके जाने के ठीक 15 मिनट बाद आर्यन घर आ गया | तो मैंने उसे कहा कि वो तो है नहीं तो फिर उसने कहा कि तुम भी तो यही चाहती थी न कि दो घंटे मिले हमे अब देखो शाम तक का वक़्त मिल गया हमे | इतना बोल कर उसने अपने होंठ मेरे होंठ पर रख दिया और मुझे किस करने लगा और मैं भी किस का जवाब देने लगी | हम दोनों खड़े खड़े एक दूसरे को चूम रहे थे वो मेरी पीठ भी सहला रहा था और मैं उसके सिर को |

10 मिनट की चुम्मा चाटी के बाद उसने मेरा टॉप उतारा और ब्रा मैं घर में पहनती नहीं थी तो उसे कोई दिक्कत नहीं होनी थी ब्रा की, वो मेरे दूध को जोर जोर से पीने लगा और मैं अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ कर रही थी | मुझे बहुत मजा आ रही थी जब वो मेरे दूध को चूस रहा था | वो मेरे दूध को मसल मसल कर जोर जोर से चूस रहा था और मैं बस अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करते हुए मदहोश हो रही थी | फिर उसने मेरी जीन्स भी उतार दी और पेन्टी भी, और मुझे सोफे पर लेटा कर मेरी चूत को चाटने लगा और मैं बहुत गरम हो चुकी थी और अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करते हुए एक बार उसके मुंह में ही झड़ गयी पर उसने अपना मुंह नहीं हटाया और बस मेरी चूत को खाये जा रहा था और मैं लगातार अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ कर रही थी | 10 मिनट तक उसने मेरी चूत को खूब चाटा और अब बारी थी मेरी | मैंने उसे नंगा किया और उसका लंड मेरे मुंह के ही सामने आ गया और मैं उसे मजे ले ले कर चूसने लगी और वो अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करते हुए सिस्कारियां भरने लगा | मैंने उसका लंड 15 मिनिट तक बहुत चूसा और चाटा भी और वो अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ कर रहा था |

फिर उसने मुझे वहीँ सोफे पर लेटाया और एक ही झटके में पूरा लंड मेरी चूत में उतार दिया और मुझे जोर जोर से धक्के मार मार के चोदने लगा | मैं अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ कर रही थी उसके हर एक धक्के में | फिर करीब 20 मिनट तक उसने मुझे चोदा होगा और मेरे पेट पर ही अपना माल छोड़ दिया | उस दिन हम दोनों ने दो बार चुदाई की | अब हमे जब कभी मौका मिलता तो हम दोनों चुदाई कर लिया करते है |


Comments are closed.