भाभी की मचलती चूत को चोदकर शांत किया

Bhabhi ki machalti chut ko chodkar shaant kia:

desi bhabhi

हाय दोस्तों मैं आज फिर से एक बार आप लोगो की सेवा में हाज़िर हूँ | मैं आज फिर से एक कहानी को लेकर आया हूँ और ये कहानी आप लोगो को पसंद तो आयेगी ही पर इस कहानी को पढने में आप लोगो के लंड का पानी तो निकल ही जायेगा | दोस्तों मैं कहानी शुरू करने से पहले अपने बारे में बता देता हूँ | मेरा नाम सुमित है और मेरी उम्र 24 साल है | मैं दिखने में काफी हट्टा कट्टा हूँ | मेरी हाईट 6 फुट 2 इंच है और मेरा रंग गोरा हैं जिससे मैं दिखने में काफी अच्छा लगता हूँ | मैं अभी पढाई करता हूँ और पढाई के साथ एक छोटी सी जनरल स्टोर की शॉप चलता हूँ जिससे मैं अपना खर्चा और घर भी चलता हूँ | दोस्तों मैं रहने वाला गुजरात के पास एक गाँव से हूँ और मैं जहाँ रहता हूँ वहीँ से 40 किलोमीटर की दुरी पर मेरे पापा की बहन का बेटा रहता हैं | वो रिश्ते में तो मेरा भाई हुआ और उसकी शादी अभी कुछ महीनो पहले हुई है | मैं कभी कभी उसके घर जाया करता हूँ | दोस्तों मेरी भाभी जो हैं वो बहुत सेक्सी हैं | मैं आप लोगो को उसने फिगर के बारे में बता देता हूँ | मेरी भाभी के बूब्स काफी बड़े हैं और उनकी गांड ज्यादा बड़ी तो नही है पर एकदम सेक्सी गांड है जिसको देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता है | दोस्तों तो मैं अब आप लोगो का ज्यादा टाइम न लेते होए सीधे कहानी पर आता हूँ |

दोस्तों मैंने उनको पहली बार अमित भाई की शादी में देखा था पर उस दिन मैंने उसको कुछ ठीक से नही देखा था | मैं उस रात शादी के सभी गेस्ट को देख भाल रहा था जिसकी वजह से मैं भाभी की ठीक से नही देख पाया था | जब उनकी शादी हो गयी तो मैं वो अमित भाई के साथ घर चली आई उसके दुसरे दिन जब मैं देखने के लिए गया तो उनके भाई लोग लेने के लिए आये थे जिसकी वजह से मैं उनको नही देख सका था | फिर मैं अपने काम में बिजी हो गया जिसकी वजह से बुआ के घर नही जा सका | मैं उसके कुछ दिन बाद पापा के काम से बुआ के घर गया | जब मैं वहां गया तो बैठ कर बुआ से पापा के काम के बारे में बताया | उसके कुछ देर बाद भाभी चाय लेकर आई | दोस्तों मेरी भाभी का नाम नीलम है और मैं उनके बारे में बता ही चूका हूँ | जब वो मुझे चाय देने आई तो मुझे इतनी अच्छी लगी की मेरी नज़र उन पर से हट ही नही रही थी | मैं उनको घुर घुर कर देख रहा था | जब मैं उनको देख रहा था तो बुआ ने पूछा क्या देख रहे हो | मैंने भी बुआ से कहा मैं इस लड़की को पहली बार देख रहा हूँ इसलिए समझ नही आ रहा ये कौन है | तब बुआ हँसती हुई बोली तुम्हे नही पता ये कौन है | मैंने भी कह दिया नही मुझे नही पता कौन है अगर कभी देखा होता तो बता सकता था कौन है पर मैं तो इनको पहली बार देख रहा हूँ | तब बुआ ने कहा नीलम बेटा यहाँ आना और वो आई | तब मैंने उनको पास से देखा और कहा की कौन हैं तो बुआ ने कहा नीलम बेटा तुम इसको जानती हो | वो बोली हाँ इनको फोटो में देखा था | वो बता रहे थे की ये मेरे मामा का लकड़ा है |

 

दोस्तों तब मैं समझ गया और बोला हाँ याद आया शादी में देखा था | पर बुआ उस दिन मैंने भाभी को ठीक से नही देखा था न इसलिए पहचान नही पाया | फिर बुआ ने मुझे और भाभी की अच्छे से पहचान करवाई | जब मैं भाभी को इतने पास से देखा तो मेरे दिल में उनके प्यार की घंटी बज गयी | अब मैं किसी न किसी काम से उनके पास जाने की कोशिश करता और मैं जितने ही उनके पास जाता वो मुझसे उतनी ही दूर चली जाती | मैं उस दिन उनसे कुछ देर तक बाते की फिर अपने घर के लिए निकल आया | जब मैं अपने घर आ गया तो मैं नीलम भाभी के बारे में ही सोच रहा था | मैं उनके बारे में सोचता हुआ लेट गया और अपने मन में पक्का इरादा कर लिया की मैं उनको बिस्तर पर नंगा करके चोदुंगा | फिर मैं उनके चोदने के बारे में सोचने लगा | एक दिन की बात है जब वो मेरे घर आई और मैंने उनको देख लिया था पर वो मुझे नही देख पाई थी | जब वो मेरे घर के कमरे में खड़ी थी तो मैं उनके पीछे जाकर उनकी दोनों आँखों पर अपने हाथ को रख लिया | जब मैंने उनकी दोनों आँखों को बंद कर दिया तो वो मुझ पर पीछे की और गिर गई | जब वो मेरे से सेट गयी तो मेरा लंड उनको हाथ लगते ही खड़ा हो गया था | वो जब मेरे शरीर से सेती हुई थी तो मेरा लंड उनके गांड से रगड रहा था | फिर वो मेरे हाथो को अपने हाथो से हटा कर मुड कर देखा तो बोली तुम हो और मेरा हाल चाल लिया | मैंने उनका हाल चाल लिया | अब भाभी मुझसे कुछ ज्यादा ही ठीक से बात कर रही थी और मजाक भी कर देती | जब वो मुझसे मजाक करती तो मैं उनसे भी मजाक कर देता था | फिर भाभी जाते टाइम मुझसे मेरा नम्बर लिया और अपना मुझे दे दिया | भाभी जाते जाते मुझसे फ़ोन करने को भी कहा | दोस्तों जब भाभी ने मुझसे फ़ोन करने को कहा तब मैं समझ गया की भाभी मेरे जाल में फंस गयी है |

अब मैं और वो बात भी करते और कभी कभी सेक्सी बाते भी करते थे | एक दिन की बात है जब मैं बुआ के घर गया | जब बुआ के घर गया तो वो मुझे देख कर बहुत खुश हुई और मेरे लिए चाय बना कर लाई | मैं चाय पीने के बाद चाय की तारीफ की | जब वो कमरे में अन्दर चली गयी तो मैं भी पीछे से पहुच गया | जब मैं कमरे में गया तो उसने दरवाजे को बंद कर लिया और मुझसे लिपट गयी वो मेरे लिपट कर पागलो की तरह मुझे चूमने चाटने लगी और मेरी होठो पर अपनी होठो को रख कर चूसने लगी | वो मेरी होठो को चूसने के साथ मुझसे लिपटी हुई थी जिससे उसके बूब्स दब रहे थे | हम दोनों एक दुसरे से ऐसे ही 4 -5 मिनट कर करने के बाद बाहर चला आया क्यूंकि बुआ घर में ही थी | उसके दुसरे दिन बुआ को काम था जिसकी वजह से बुआ मुझसे बोल कर गयी की मैं कुछ काम से जा रही हूँ और आते आते रात हो जाएगी | उस दिन मुझे और नीलम को चुदाई करने के पूरा मौका था | तब मैं और वो दोनों ही कमरे में चले गए | फिर नीलम मुझसे लिपट गयी और मेरी होठो को चूसने लगी | वो मेरी होठो को चूसने के साथ मेरे लंड को पैंट के ऊपर से सहला रही थी | मैं उसकी होठो को चूस रहा था और साथ में उसके बूब्स को दबा रहा था | वो मेरी होठो को चूस रही थी | हम दोनों ऐसे ही एक दुसरे की होठो को 5 मिनट तक चूसते रहे | फिर मैंने उसके सारे कपडे निकाल दिए जिससे वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गयी | दोस्तों वो ब्रा और पैंटी में बहुत सेक्सी लग रही थी | मैं उसके लिपट गया और उसकी कमर में किस करने के साथ उसकी ब्रा को खोल दिया | मैं उसकी ब्रा को खोलने के बाद उसके दोनों दूधो को हाथ में पकड कर दबाने लगा | मैं उसके बूब्स को दबाने के साथ मुंह में रख कर जोर जोर से चूस रहा था | वो आ आ आ.. ऊ ऊ ऊ…. सी सी सी… की सिसकियाँ ले रही थी | मैं उसके बूब्स को ऐसे ही कुछ देर तक चूसने के बाद मैंने अपने कपडे निकाल दिए | मैं उसके सामने बिना कपड़ो के आ गया था | वो मेरे लंड को देखकर पागलो की तरह मुंह में रख कर चूसने लगी | वो मेरे लंड को मुंह में रख कर जोर जोर से अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी |

मैं अपने लंड को ऐसे ही कुछ देर तक चुसाने के बाद उसके मुंह से लंड को निकाल कर उसकी चूत में घुसा दिया | मैं उसकी चूत में लंड को घुसा कर जोरदार धक्के मारने लगा | वो बिस्तर पर लेट कर जोर जोर से आ आ आ… ऊ ऊ ऊ ऊ… सी सी सी सी…. ह ह ह ह… की सिसकियाँ ले रही थी | मैं उसके दोनों बूब्स को हाथ में पकड कर जोरदार धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए चोद रहा था | वो मस्त होकर चुदाई का मज़ा लेती हुई चुद रही थी | मैं उसको ऐसे ही कुछ देर तक जोर जोर के धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए चोदता रहा | फिर उसकी चूत से लंड को निकाल कर बेड पर लेट गया और नीलम मेरे लंड पर बैठ कर ऊपर नीचे होती हुई चुदने लगी | जब वो मेरे लंड पर बैठ कर ऊपर नीचे होती हुई चुद रही थी तो उसके बड़े बड़े बूब्स जोर जोर से हिल रहे थे | वो मस्त सेक्सी आवाजे करती हुई चुद रही थी | मैं उसकी कमर को पकड कर जोर जोर के धक्के मार रहा था | मैं उसको ऐसे ही 15 मिनट तक चोदने के बाद झड़ गया | फिर हम दोनों ने अपने अपने कपडे पहन लिए | फिर कमरे से बाहर निकल आये हम दोनों बाहर बैठ कर बात करने लगे | उसके 1 घंटे बाद मेरी बुआ भी आ गयी | तब हम लोगो ने खाना खाया और सब लेट कर सो गए | मैं और नीलम फ़ोन पर एक दुसरे से बात करने के बाद सो गए |

दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ की आप लोगो को कहानी पसंद आई होगी | धन्यवाद……..


Comments are closed.