आंटी की गान्ड का नज़ारा

क्या मस्त गान्ड है ना! मेरी आंटी की है दोस्तो. 40 की पंजाबी गान्ड को देख कर किसी का भी लंड एकदम से कड़क होने लगता था. मैने कभी ढयन नही दिया था. लेकिन, जब मैने देखा. की मेरे सारे दोस्त घर पर फालतू मे आ कर बेठे रहते है ओर आंटी की बाहर उभरी हुई गान्ड को घूराते है. मेी उनको कुछ बोलता तो नही था. लेकिन जब मैने देखा, की आंटी भी उन के इशारो को समझ कर मुस्कुरा देती थी. मुझे समझ आ गया था, की बुड्दे बदन मे जवान लंड के लिए आग लगी है.

वो दिन मे आराम कर रही थी. मेी उसी रूम मे पड़ाई कर रहा था. कूलर चल रहा था. मेरी नज़र उनकी गान्ड पर पड़ी, तो उनके मस्त उभर को देख कर मेरे लंड मे बेचेनी होने लगी. मैने कूलर को घुमा दिया ओर उनका कुर्ता उसने लगा. मुझे उनकी गान्ड का उभर ओर उनकी गान्ड की लकीर नज़र आने लगी.

मेरा लंड तो एकदम से तंन गया ओर जीन मे तंबबू बना रहा था. मैने उनकी गान्ड को हल्के से टच कर के देखा, तो मेरे लंड मे करेंट लग गया. क्या मस्त फदाक रहा था. मैने आपने लंड को बाहर निकाल लिया ओर आंटी की गान्ड को देख कर मूठ माने का मज़ा लिया. क्या आप मे है इतनी सेक्स की तारक.


Comments are closed.