आंटी की चूत का भरता भाग १

Aunty Ki Choot Ka Bharta Part 1 :

मै हेमंत आज पहली बार आप लोगो के सामने हाजिर हूँ अपनी जीवन की सच्ची कहानी लेकर जिसने पहली बार मुझे चुदाई का मज़ा दिया, इस घटना के बाद मै सेक्स के लिए पागल हो गया हूँ इसलिए यह कहानी आपलोगों के सामने पेश कर रहा हूँ| बात उन दिनों की है जब मै एक बार कुछ दिनों के लिए जम्मू गया हुआ था, जम्मू में मेरी एक दूर के रिलेशन की आंटी रहती थी, खैर उनके बारे में मुझे कुछ ज्यादा पता नहीं था जब घरवालो ने मुझे बताया की मुझे उनके पास जाना है फिर जाकर मुझे पता चला|

मै पहली बार जम्मू जा रहा था तो मुझे भी ठीक लगा की उनसे भी मिल लूँगा, मैंने उनसे एक बार फ़ोन पर बात की और जम्मू के लिए निकल गया| मै पहली बार जम्मू गया था तो जब मै स्टेशन पर उतरा तो आंटी मुझे लेने के लिए आई हुई थी, मै जैसे ही उनसे मिला उन्होंने मुझे गले लगा लिया| मेरा सर उनकी बड़ी चुचियों के बीच धंस गया था, अजीब लगा की पहली बार में कोई ऐसा करती है क्या? फिर मैंने उन्हें ध्यान से देखा तो पता चला वो गज़ब की सेक्सी थी|

दुबली पतली सी थी और उनकी गांड और चूचियां और भी मस्त थी, लेडीज या लड़कियों में सबसे पहले मै यही देखता हूँ, इसलिए मुझे आंटी बड़ी मस्त लगी और उनका गले लगाना मुझे और भी रोमांचित कर रहा था|

खैर उनकी कार में बैठकर हमलोग घर आये, आंटी ने कहा तुम्हारे अंकल कुछ दिनों के लिए बाहर गए है इसलिए हम दोनों ही है यहाँ! मैंने कहा कोई बात नहीं आंटी वैसे भी मै यहाँ जम्मू घुमने आया हूँ, आप ही घुमा देना, उन्होंने कहा हाँ यही ठीक रहेगा! आंटी ने मुझे फ्रेश होने के लिए कहा! मैंने पहली बार इतना बड़ा बाथरूम देखा था और उसमे आंटी की एक पैंटी भी थी शायद आज ही सुबह उन्होंने चेंज किया होगा| मै मौका देखकर उसको सूंघने लगा और मेरा लंड खड़ा हो रहा था लेकिन मैंने कण्ट्रोल कर लिया| फिर मै खाना खाने के बाद सो गया क्यूंकि शाम को हमलोगों को घुमने के लिए जाना था|

हमलोगों ने शाम को पूरी सैर करी और रात ९ बजे तक घर वापस आ गए! घर आकर खाना खाने के बाद उन्होंने मुझे एक टेबलेट दिया और कहा इसे खा लो, बहुत थक गए होगे इस से नींद अच्छी आएगी! मैंने उसे खा लिया थोड़ी देर में मेरे बॉडी में गर्मी होने लगी और मेरा लंड खड़ा होने लगा, शायद उन्होंने मुझे सेक्स की गोली खिला दी थी| मै सिर्फ अंडरवियर पहने हुए था! मेरा लंड धीरे धीरे काफी टाइट हो रहा था|

मै सोने की नाकाम कोशिश करने लगा, कुछ देर ऐसे गुजारने के बाद मै चुप चाप आंटी के रूम की तरफ बढ़ गया, मैंने अंदर झांक कर देखा तो आंटी सो रही थी, ये देख कर मै उदास हो गया और सोचने लगा की अब क्या करू मै? उनके पास जाने की मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी और लंड भी बहुत टाइट हो गया था इसलिए मै बाथरूम में गया और अपना अंडरवियर उतारकर मुठ मारने लगा, मुझे नहीं पता था की सेक्स की गोली का असर इतना होता है, मेरा लंड गरम हो गया था और जल रहा था, मै अपना लंड हाथ में लेकर आंटी के बारे में सोचते हुए दनादन मुठ मारने लगा, तभी मुझे अपने पीछे किसी की आहट सुनाई दी, मै चौक गया और पीछे घूमकर देखा तो वहां आंटी थी|

मै डर गया और अपने हाथों से अपने लंड को छुपाने की नाकाम कोशिश करने लगा, आंटी ने पूछा क्या हो रहा है यह सब? मै बोला कुछ नहीं आंटी….उन्होंने कहा क्या कुछ नहीं? मैंने बोला वो नींद नहीं आ रही थी… आंटी ने कहा “तो” नींद नहीं आती है तो यही सब करते हो? मै शर्म के मारे कुछ नहीं बोल नहीं पा रहा था….

कहानी जारी रहेगी……


Comments are closed.