आओ रानी हम खेलेंगे और आपकी प्यारी सी गांड को पेलेंगे

Aao rani ham khelenge aur aapki pyari si gaand ko pelenge:

हैल्लो मेरे सभी चुदक्कड़ दोस्तों आप सभी को इस चुदाई की दुनिया में मेरा नमस्कार | चुदाई करना हर किसी के जीवन का एक बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा होता है और कुछ विद्यावान लोग अपनी चुदाई की दास्ताँ को इस वेबसाइट में डाल कर इतिहास के पन्नो में लिख देते हैं जिसे सारी दुनिया पढ़ती है | आज मैं कुछ ऐसा ही करने जा रहा हूं और उसके लिए मुझे आप सभी चुदाक्काड़ो का आशीर्वाद चाहिए | चलो अब आपका आशीर्वाद लेते हुए मैं आगे बढ़ता हूं और अपनी कहानी को भी इतिहास के पन्नों में बयां करता हूं | तो चलिए पहले मैं आपको अपने बारे में बताता हूं मेरा नाम सुनील है और मैं रीवा का रहने वाला हूं और गांड मारने का बहुत शौकीन हूं |

मेरी उम्र 28 साल है और मैं एक प्राइवेट कंपनी में काम करता हूं | मेरी फैमिली में 5 लोग हैं | मैं, मेरे पिताजी मेरी मां, मेरा बच्चा और मेरी चुदक्कड़ बीवी जिसे चोद चोदकर मैंने उसकी चूत और गांड दोनों ढीली कर दी है और उसके दूध भी ढीले होकर लटक गए है | अब मुझे उसे चोदने में बिल्कुल भी मजा नहीं आता और ना ही उसे चोदने को मेरा मन करता है | इसीलिए आजकल मै चूत के लिए भटकता रहता हूं कभी तो बाजार से खरीद लेता हूं | अब आप लोग ये सोच रहे होंगे की चूत बाज़ार में कैसे मिलने लगी तो मैं आपको बता दूँ की मेरे कहने का मतलब था की पैसा देकर किसी रंडी को चोद देता हूं और बाकी टाइम इधर उधर मुंह मारता रहता हूं और नही तो मजबूरी में अपनी फटी चुदी वाली बीवी को ही चोदता हूँ | यह मेरी चुदाई की कहानी अभी से 2 महीने पहले की है जब मैंने अपनी हवस की प्यास बुझाने के लिए अपने दोस्त की बीवी को ही चोद दिया क्योंकि मैं अपनी बीवी की ढीली चूत और गांड को चोद चोद कर परेशान हो चुका था |

मेरा एक दोस्त है जिसका नाम पंकज है और वह भी मेरे साथ मेरी ही कंपनी में काम करके अपनी मां चुदवाता है | वह मेरा बहुत अच्छा दोस्त है और हम दोनों का एक दूसरे घर आना जाना होता है और उसकी बीवी बहुत खूबसूरत है एकदम स्लिम बॉडी बड़े बड़े दूध बड़ी और गदराई हुई गांड और पूरी गोरी | मैं तो उसकी गांड को पहली बार देखकर ही उसका दीवाना हो गया था और उसकी गांड में अपना लंड डालने को बेताब हो गया था लेकिन सोच रहा था कैसे ? फिर एक दिन रात में मैं और मेरे दोस्त पंकज ने ड्रिंक कर ली और उसने कुछ ज्यादा ही ड्रिंक कर ली थी तो मैं उसे उसको छोड़ने गया उसके घर गया, उसके घर पर वो  और उसकी वाइफ अकेले ही रहते थे और उसके कोई बच्चे भी नहीं थे | उसकी शादी को अभी डेढ़ साल हुआ था |

मैं उसके घर पहुंचा उसकी वाइफ ने दरवाजा खोला और उसे इतने नशे में देखकर बहुत गुस्सा हो गई फिर मैंने अपने दोस्त को पकड़ कर उसके रूम में ले गया और उसे बैड पर लिटा कर सुला दिया | उसके बाद मैं और उसकी वाइफ उसके रूम से निकल कर वापस हॉल में आ गया फिर उसने मुझे बैठने के लिए कहा और मैं वहीँ सोफे पर बैठ गया और उसे देखने लगा | उसने ब्लू कलर की नाइटी पहनी हुई थी और एकदम रंडियों की रानी दिख रही थी | मेरा तो उसे देखकर लंड ही खड़ा होने लगा फिर उसने मुझसे पूछा कि पंकज इतनी ड्रिंक कहां से करके आए हैं ? मैंने उससे कहा भाभी दोस्त की पार्टी थी तो दोस्तों ने पीलवा दिया तो उसने कहा ठीक है | मैंने कहा भाभी मै अब घर जाता हूं टाइम ज्यादा हो रहा है तो उसने कहा रुकिए ना कभी कभी तो आप आते हो चाय पी के चले जाइएगा | मैं चाय बना कर लाती हूँ | मैंने कहा ठीक है फिर वह किचन में चाय बनाने के लिए चली गई | मैं भी नशे में था और मेरा लंड भी पूरा खड़ा हो गया था और बस उसकी चूत में घुसने के लिए फड़ फड़ा रहा था | मैं उठा और उसके किचन की तरफ बढ़ता और छुपकर किचन के दरवाजे से उसे देखने लगा | वह सामान निकालने के लिए नीचे झुकी तो उसकी नाइटी से उसके उसके बड़े बड़े दूध दिखने लगे उसने ब्रा नहीं पहनी थी यह देख कर मेरा लंड का और तन गया |

फिर उसने गैस पर चाय चढ़ाई और जब तक चाय बन गई थी उसने अपनी नाइटी ऊपर उठाई और अपनी चूत में दो उंगली अंदर डाल कर हिलाने लगी उसने पैंटी भी नहीं पहनी थी | मैं उसकी नंगी चूत और गांड देखकर मेरी आँख फटी की फटी रह गई | क्या चूत और गांड थी दोस्तों उसकी, मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ और मैंने अपना लंड अपनी पैंट से बाहर निकाल कर उसे जोर जोर से हिलाने लगा और मुठ मारने लगा | मैं समझ गया कि वह भी पंकज से चुदवाने के लिए बैठे थी लेकिन पंकज तो दारू के नशे में ढेर हो गया है | इसलिए उसकी चूत की प्यास नहीं बुझी है और उसे बुझाने के लिए वह अपनी चूत में उंगली कर रही है |

मै भी दरवाजे के पास खड़ा हो कर जोर जोर से अपने लंड को हिला रहा था | उतने में ही उसकी नजर मुझ पर पड़ी और मेरे खड़े लंड को देखकर वह डर गई और तुरंत अपनी नाइटी नीचे कर दी और मुझे कहा आप यहां क्या कर रहे हो ? मैंने जैसे ही उसे देखा तो मैं भी डर गया और तुरंत अपना लंड अपनी पैंट के अंदर कर लिया और उससे कहा आप क्या कर रही हो ? मैंने आपको सब कुछ करते देख लिया है तो वह कुछ नहीं बोली मैं उसकी तरफ बढ़ा और उससे बोला तुम सच में यार बहुत सुंदर हो मैं तुम्हें चोदना चाहता हूं और उसे पकड़कर अपनी तरफ खींच लिया |

उसने मुझे धक्का देकर अपने आप से दूर कर दिया और कहा यह सब तुम क्या बोल रहे हो तुम्हें शर्म नहीं आती “ मैं तुम्हारे दोस्त की बीवी हूं “ मैंने कहा अब सब कुछ देख लिया तो शर्म की क्या बात है और तुम्हें लंड की जरूरत है और मुझे तुम्हारी चूत की तो क्यों न हम दोनों एक दूसरे की जरूरत पूरी कर दें | उसने कहा नहीं यह गलत है और किसी को पता चल गया तो मेरा क्या होगा | मैंने कहा किसी को पता नहीं चलेगा और उसे पकड़कर उसके होठों पर अपने होंठ रख दिए और उसे जोर-जोर से किस करने लगा और उसके दूध दबाने लगा | वह अपने आप को मुझसे छुड़ाने की कोशिश करने लगी लेकिन मैंने उससे बहुत जोर से पकड़ा हुआ था 5 मिनट तक ऐसे ही किस करने और दूध दबाने से वह भी गर्म होने लगी और और मेरा साथ देने लगी | वह भी मुझे जोर जोर से किस करने लगी और मेरी शर्ट के और पेंट के बटन खोल दिया और उसे उतार दिया | फिर मैंने उससे कहा यहाँ नहीं हॉल में चलो तो उसने गैस बंद कर दी और हम दोनों वापस रूम में आए पंकज सो ही रहा था तो हम दोनों रूम से बाहर निकले और रूम का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया |

फिर हम दोनों हॉल में पहुंचे और वहां फिर से एक दूसरे को जोर से किस करने लगे और मैंने उसकी नाइटी उतार दी और वह मेरे सामने बिल्कुल नंगी हो गई और उसे नंगा देख मेरा लंड पत्थर की तरह लंबा और कड़ा हो गया | क्या फिगर था उसका बड़े बड़े और टाइट दूध बड़ी सी गांड और हल्की हल्की झांटो वाली चूत | मैं पूरे जोश में आ गया था और मैं उसके दूध के निप्पल चूसने लगा और उसकी चूत में अंदर उंगली डाल कर हिलाने लगा | वह जोर जोर से सिसकियां लेने लगी फिर मैंने अपना अंडरवियर उतारा और अपना 7 इंच का लंड उसके मुंह में दे दिया |

वह भी बड़े प्यार से मेरे लंड को चूसने लगी थोड़ी देर तक लंड को चुसाने के बाद मैंने उसे सोफे पर लिटाया और उसकी चूत में अपना लंड डालकर उसे जोर जोर से चोदने लगा | वह सिसकियाँ भर रही थी और आःह्ह्ह आआह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह ऊऊह्ह्ह की आवाज निकालने लगी आधा घंटा तक मैंने उसकी चूत की चुदाई की फिर मैंने उसे उल्टा लिटाया और उसकी गांड के छेद में अपना लंड रखा और एक जोर का झटका मारा जिससे मेरा पूरा लंड उसकी गांड में घुस गया और वो जोर से चीख पड़ी क्योंकि उसने पहले कभी गांड पर लंड नहीं डलवाया था और मुझे लंड बाहर निकालने के लिए कहने लगी |

लेकिन मैंने लंड बाहर नहीं निकाला और जोर जोर से झटके मारने लगा वो दर्द से तड़प रही थी लेकिन मैं नहीं रुका 10 मिनट बाद उसे भी मजा आने लगा और वह भी उठा उठा कर मुझसे अपनी गांड मरवाने लगी 20 मिनट तक मैंने उसकी गांड मारी उसके बाद उसकी गांड से अपना लंड निकाल कर उसकी चूत में डाल दिया | उसने अपनी गांड देखी तो वह काफी ढीली हो गई थी और उसमें से खून भी निकल रहा था | फिर मैं उसकी चूत में अपना लंड डालकर उसे चोदने लगा 25 मिनट तक चुदाई के बाद हम दोनों ने एक साथ उसकी चूत में ही झड़ गए और एक दूसरे पर लेट गए और एक दुसरे को किस करने लगे | फिर थोड़ी देर बाद मैं उसके घर से कॉफ़ी पे कर चला गया | फिर मैंने काफी बार पंकज के न होने का फायदा उठा कर उसे खूब चोदा और मज़े किये |


Comments are closed.