आइये जी चूत चुद्वाइये जी

Aaiye ji chut chudwaiye ji:

indian porn kahani

हेल्लो मेरे गांडू दोस्तों | कैसे हैं आप सभी ? मैं तो हमेशा आशा करता हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे | मेरा नाम विशाल है और मैं खड़गपुर का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 24 साल है और मैं शादीशुदा लौंडा हूँ | मैं दिखने में सांवला हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 7 इंच है और मेरा शरीर मस्त है | दोस्तों मैं इस चुदाई की कहानियों का पुराना पाठक हूँ और मुझे यहाँ पर चुदाई की कहानियां पढना बहुत अच्छा लगता है क्यूंकि इसमें बहुत ही अच्छी कहानियां पोस्ट की जाती हैं और मेरा समय आराम से कट जाता है | अभी मैं एक दम फ्री हूँ और मेरे घर में कोई है भी नहीं तो मैंने सोचा कि अपनी एक कहानी लिखूं | तो आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की एक दम सच्ची घटना है | मैं आशा करता हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी जरुर पसंद आएगी और आप लोगो को मजा भी आएगा | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय नहीं लेते हुए अपनी कहानी लिखना शुरू करता हूँ |

ये घटना पिछले हफ्ते की है | मेरे घर में मैं और बीवी रहती हैं और हम दोनों अरेंज मैरिज की थी पर घर में बनी नहीं इसलिए हम दोनों अलग रहते हैं | जहाँ पर हम रहते हैं वो हम किराये के घर में रहते हैं लेकिन हमारे मकान मालिक बहुत अच्छे हैं जिन्होंने हमे पनाह दी | मैं और मेरी बीवी दोनों ही जॉब करते हैं | मेरी बीवी प्राइवेट नौकरी करती है और मैं फार्म में काम करता हूँ | जब भी कोई नया काम आता है तो मुझे एक एरिया प्रोविडे होता है जहाँ मुझे जा कर बात करनी पड़ती हैं | एक दिन की बात है ऐसे ही मुझे एक जगह बात करने जाना था | वो जगह काफी दूर थी लेकिन काम तो काम है मुझे जाना ही पड़ा | जहाँ मैं गया वहां एक एक बहुत ही सुन्दर भाभी निकली जिसका नाम अलका है | वो दिखने में बहुत सुन्दर है और उसका फिगर हाय ऐसा फिगर तो बहुत ही किस्मत वाली भाभी को मिलता है | मैं उसके पास गया और उससे बात कर ली और उससे उसका नंबर भी मांग लिया | उसने मुझपे भरोसा कर के अपना नंबर दे दिया | उसके बाद से जब भी मेरी बीवी काम पर होती तो मैं उसे फोन लगा कर काफी देर तक बाते किया करता |

मेरी बीवी का फ़ोन भी आता और कभी बिजी भी बताता मेरा फ़ोन तो उसे शक नहीं होता क्यूंकि उसे खुद पता है कि मैं किसी न किसी कस्टमर से ही बात करता हूँ | इसी चीज़ के भरोसे पर मैं उसे धोखा देता | ऐसा ही काफी दिनों तक चलता रहा और आखिर में हमने चुदाई करने के बारे में सोचा पर सबसे बड़ी समस्या ये थी कि मेरी बीवी और मेरी छुट्टी सिर्फ सन्डे को रहती | प्रेरणा के घर में भी सब रहते हैं इसलिए उसके घर पर भी हमे मौका नहीं मिल पा रहा था चुदाई का | काफी दिनों बाद पिछले सन्डे को ये मौका मिल ही गया | उस दिन मेरी बीवी की छुट्टी नहीं थी और बस मेरी छुट्टी थी | अलका ने भी अपने घर पर बहाना बना कर घर से बाहर निकल गई और उसके बाद मैं उसे लेने गया और उसे वहां से ले कर मैं अपने घर ले कर आया और फिर बाहर जा कर अपनी गाडी अन्दर खड़ी कर दिया घर के और दरवाजा और पर्दा दोनों लगा दिया | उसके बाद मैं रूम में आया तो वो अपने अप्रिन को उतारने लगी | मैं उसके पास गया और उसके चेहरे को सहलाने लगा | फिर मैंने उससे कहा कि जान मैंने इस मौके का बहुत इन्तेजार किया है और आज मैं इस पल को बहुत अच्छे से जीना चाहता हूँ | उसने भी कहा हाँ जान तुमने सच कहा मैं भी इस पल को जीना चाहती हूँ | उसके बाद मैंने उसे अपनी बांहों में ले लिया और उसने भी अपना सिर मेरी बांहों में रख लिया | कुछ देर ऐसे ही रहने के बाद मैंने उसके होंठ पर अपने होंठ रख दिया और उसके होंठ को चूसने लगा |

वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगी | मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके बदन को सहला रहा था और वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरा पूरा साथ दे रही थी | हम दोनों एक दूसरे के काफी देर तक होंठ को चूसे | उसके बाद मैंने उसकी साड़ी के पल्लू को नीचे गिरा फिया और उसने अपने ब्लाउज के बटन को खोल कर ब्रा को नीचे कर दिया और अपने एक दूध को बाहर निकाल कर मुझे अपनी गोद में लेटा लिया | फिर मैंने उसे दूध को अपने मुंह में लिया और चूसने लगा मसलते हुए तो उसके मुंह से आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह की आवाज़ निकलने लगी | कुछ देर दूध चूसने के बाद उसने अपने दूसरे दूध को भी निकाल ली और मैंने उसके दूध को अपने होंठ से दबा कर चूसने लगा मसलते हुए और वो आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह करते हुए मेरे सिर पर हाँथ फेरने लगी | उसके बाद मैंने उसके दोनों दूध के निप्पलस को अपने मुंह में लिया और दबा दबा कर चूसने लगा और वो आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी |

मैंने उसके दूध को करीब 15 मिनट तक चूसा | उसके बाद मैंने अपनी टी-शर्ट और जीन्स को उतार दिया और चड्डी में ही बिस्तर पर बैठ गया | उसके बाद वो जमीन पर बैठ कर मेरी अंडरवियर को भी उतारने लगी और मेरे लंड को अपने हाँथ में ले कर चाटने लगी जीभ से तो मेरे मुंह से भी आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे लंड को चाट भी रही थी और चूम भी रही थी और मैं आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रहा था | उसके बाद उसने मेरे गोटों को अपने मुंह में ले कर बारी बारी से चूसने लगी और मैं आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह करते हुए अपने लंड को हिला रहा था | फिर वो मेरे लंड के टॉप को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और मैं आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह करते हुए उसके दोनो दूध के निप्पलस को मसलने लगा | वो मेरे लंड को जोर जोर से ऊपर नीचे करते हुए चूस रही थी और मैं आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | फिर उसने अपनी साड़ी को ऊपर किया और पेंटी को उतार दिया | मैंने उसे लेटा दिया और उसके दोनों पैरो को फैला दिया और उसकी चूत पर अपनी जीभ रख कर चाटने लगा और वो आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी |

मैं उसकी चूत में अपनी जीभ अन्दर तक डाल कर चाट रहा था और वो आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह करते हुए अपने दूध को मसल रही थी | उसके बाद मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर सहलाया और फिर अन्दर डाल कर चोदने लगा तो वो आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | कुछ देर के बाद मैंने अपनी चुदाई तेज कर दिया और जोर जोर से उसकी चूत को चोदने लगा और वो भी आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह करते हुए अपने निप्पलस को मसलने लगी | फिर मैं नीचे लेट गया और वो मेरे ऊपर आ कर मेरे लंड को अपनी चूत पर रख दी और मैं एक ही धक्के में अन्दर डाल दिया और चोदने लगा तो वो भी आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह आहा ऊउंह ऊम्ह करते अपनी गांड ऊपर नीचे करते हुए चुदवाने लगी | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उसके मुंह में ही छोड़ दिया | उसके बाद हम दोनों ने खुद को ठीक किया | फिर मैंने उसे उसके घर के पास तक छोड़ दिया और वापस अपने घर आ गया |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी |

 


Comments are closed.