Archive for August, 2015

दोस्त की मस्त बहिन

ये स्टोरी लास्ट एअर की है जब मैं गर्मियों की छुट्टियों मैं रोज़ फ़्रेंड के घर मिलने जाता था उसके घर मैं उसके पापा,मम्मी 2 बहेन और मेरा फ़्रेंड है उसके मम्मी न्ड पापा दोनो आपना फअँली बुससणस चलते है बढ़ी बहेन भर पड़ाई कराती है तो ज़ेयडत्र घर मैं मेरा फ़्रेंड और उसकी छोटी […]


मेरी आंटी मेरी जान – पहला भाग

मैं कहानी लिख रहा हू जो अपनी है. कहानी मे कोई फॉरमॅलिटी नही होगी जेसे कोई फॉर्मल कहानी मे होती है.मैं इसमे कोई मसाला और कोई काल्पनिक मस्ती की बात डालके इसको ड्रमलीज़ेड नही करूँगा हा अपना दिल और भावना की तो बात ज़रूर करूँगा. मेरा नाम जगदीश लेकिन कामन्ली जग्गू बुलाया जाता हू . […]